कब्ज के लिए घरेलू उपचार

कब्ज के लिए घरेलू उपचार

141
0
SHARE

कब्ज एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति का पेट ठीक से साफ नहीं होता है और मल त्याग करते समय कष्ट भी होता है । जहाँ आम तौर पर लोग दिन में कम से कम एक बार शौच करते हैं वहीँ कब्ज का मरीज दो या उससे भी ज्यादा दिनों तक मल त्याग नहीं कर पाता । आधुनिक जीवन शैली और खान-पान के कारण कब्ज एक आम समस्या बन गयी है । यह समस्या केवल बुजुर्गों में ही नहीं बल्कि बच्चों और युवाओं में भी देखी जा रही है । कब्ज के रोगियों का पेट ठीक से साफ न होने के कारण उनमें भोजन के प्रति अरुचि हो जाती है । कुछ लोगों को कब्ज के कारण उल्टी भी हो जाती है और सिर में दर्द बना रहता है । कब्ज होने पर यदि लम्बे समय तक कब्ज का इलाज न किया जाये तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं । कब्ज के कई कारण हो सकते हैं, जैसे :

Constipation

  • अधिक मात्रा में तेल, मसालेदार एवं बाहर का पोषण रहित खाना खाने से कब्ज की समस्या हो सकती है । फाइबर (Fiber) युक्त खाना न खाने से भी यह समस्या हो सकती है ।
  • अपनी भूख से काफी कम मात्रा में आहार लेने से हमारा पाचन तंत्र प्रभावित होता है और कब्ज की समस्या देखी जा सकती है ।
  • आहार को ठीक से चबाकर न खाने से कब्ज की समस्या उत्पन्न हो सकती है ।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी न पीने के कारण हमारा पाचन तंत्र बिगड़ जाता है और कब्ज की समस्या हो सकती है ।
  • किसी तरह की बीमारी जैसे, थाइरोइड (Thyroid), मधुमेह (Diabetes), हर्निया (Hernia), पित्ताशय में पथरी (Gall bladder stone) आदि भी कब्ज के कारण हो सकते हैं ।
  • कुछ दवाओं का अधिक सेवन करने से कब्ज की समस्या हो सकती है, खासकर वो दवाइयाँ जो कैल्शियम कार्बोनेट (Calcium carbonate) एवं आयरन (Iron) से युक्त होती हैं ।
  • अत्यधिक मात्रा में कैफीन (Caffeine) युक्त पेय एवं कोल्डड्रिंक (Cold drink) का सेवन करने से कब्ज हो सकता है ।
  • धूम्रपान, मद्यपान, तंबाकू आदि के सेवन से भी कब्ज हो सकता है ।
  • मल त्याग का वेग आने पर यदि आप उसे किसी कारण से टालते हैं और अगर ये निरंतर करते हैं तो इससे कब्ज की समस्या हो सकती है ।
  • रात के खाने के तुरंत बाद सो जाने से खाना अच्छे से नहीं पचता और इससे भी कब्ज की समस्या हो सकती है ।

कब्ज दूर करने के घरेलू उपाय

new-flax-625_625x350_41448455132

  1. त्रिफला का चूर्ण : आंवला, हरीतकी और विभीतकी के चूर्ण से त्रिफला बनता है । रात को सोने जाने से पहले एक कप गुनगुने पानी में एक छोटा चम्मच त्रिफला का चूर्ण मिलाकर सेवन कर सकते है अथवा शहद के साथ भी इस चूर्ण को लिया जा सकता है । इसके निरंतर सेवन से पाचन क्रिया संतुलित रहती है और कब्ज से राहत मिलती है ।
  2. अलसी के बीज (Flax seed) : अलसी के बीज में फाइबर (Fiber) की मात्रा अधिक होती है इसलिए ये कब्ज की समस्या को दूर करने में सहायक है । दो चम्मच अलसी के बीज को सुबह गुनगुने पानी के साथ ले सकते हैं । पहले अलसी के बीज को चबा लीजिए फिर पानी पी लीजिए । इसके अलावा कुछ अलसी के बीजों को तवे पर सूखा भुनकर और फिर पीसकर चूर्ण बना लें, फिर उसी चूर्ण में से करीबन 20 ग्राम चूर्ण को एक गिलास पानी में लगभग 3 घंटे तक भीगोकर रखें और फिर उसे छानकर पीयें । इससे कब्ज से राहत मिलेगी ।
  3. किशमिश : किशमिश फाइबर (Fiber) से भरपूर होती है और साथ ही यह शरीर को ऊर्जा प्रदान करती है । एक गिलास पानी में दो चम्मच किशमिश रातभर भीगोकर रखें, सुबह खाली पेट उसी किशमिश को खा लें । गर्भवती महिलाओं को जब कब्ज हो जाता है तो उनके लिए यह उपचार बहुत ही लाभदायक है ।
  4. अंजीर : अंजीर में भी फाइबर (Fiber) की मात्रा अधिक होती है । एक गिलास दूध में अंजीर के कुछ टुकडों को उबालें और रात को सोने जाने से पहले गर्म-गर्म ही अंजीर सह उस दूध को पीयें । कब्ज से राहत पाने के लिए यह उपचार बहुत ही उपयोगी है । इसके अलावा आप रातभर अंजीर को एक गिलास पानी में भीगोकर रखें और सुबह खाली पेट अंजीर सह उस पानी को पीयें ।
  5. मुनक्का : मुनक्का में कब्ज नष्ट करने के तत्व मौजूद हैं । रोजाना रात को सोने जाने से पहले 6-7 मुनक्का खायें, इससे कब्ज की समस्या दूर हो जाती है ।
  6. नींबू : नींबू पेट को साफ करता है । हर सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में नींबू का रस और थोड़ा-सा नमक मिलाकर पीयें । इससे शरीर के खराब तत्व बाहर निकल जाते हैं और इसके निरंतर सेवन से कब्ज की समस्या से भी राहत मिलती है । आप नींबू पानी में अदरक का रस और शहद मिलाकर भी पी सकते हैं ।
  7. संतरा : संतरा सिर्फ विटामिन सी (Vitamin C) का ही मुख्य स्रोत नहीं है बल्कि इसमें फाइबर (Fiber) की भी भरपूर मात्रा होती है । रोजाना सुबह और शाम एक-एक संतरा खाने से कब्ज की बीमारी से राहत मिलती है ।
  8. पालक : पालक पेट से खराब तत्वों को बाहर निकालकर पेट को साफ करने में मदद करता है । 100 मि.ली. पालक के रस में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर पीयें । दिन में दो बार पालक का रस पीने से कब्ज में फर्क पड़ता है ।
  9. बीजों का मिश्रण : बीजों में फाइबर (Fiber) की भरपूर मात्रा होती है जो कब्ज के लिए लाभदायक है । दो से तीन सूरजमुखी के बीजों को कुछ अलसी के बीज, तिल और बादाम (Almond) के साथ पीसकर एक मिश्रण तैयार कर लें । एक सप्ताह तक रोजाना इस मिश्रण का सेवन करने से कब्ज की समस्या दूर हो जायेगी । इस चूर्ण को आप सलाद के ऊपर छिड़ककर भी ले सकते है ।
  10. अमरुद : अमरुद के गूदे और बीज में फाइबर (Fiber) की उचित मात्रा होती है । अमरुद खाने को पचाने में मदद करता है साथ ही यह पेट को भी साफ करता है । यह शरीर के रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है । रोजाना एक अमरुद का सेवन करने से कब्ज में फर्क पड़ता है ।
  11. अरंडी का तेल (Castor oil) : सदियों से कब्ज के लिए अरंडी के तेल का प्रयोग होता आया है । रात को सोने जाने से पहले हलके गर्म दूध में एक चम्मच अरंडी का तेल मिलाकर पीयें । इस उपचार को निरंतर करने से पेट साफ होगा और कब्ज भी समस्या भी खत्म हो जायेगी ।
  12. व्यायाम : कब्ज की समस्या से निजात पाने के लिए व्यायाम बहुत ही लाभदायक है । धनुरासन, कपालभाती, अनुलोम-विलोम जैसे प्राणायाम के द्वारा कब्ज से छुटकारा मिल सकता है । बेहतर है कि आप किसी योगा विशेषज्ञ से कब्ज के लिए व्यायाम सीखकर उसे रोजाना करें । इससे कब्ज की समस्या से तो राहत मिलेगी ही साथ ही आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा ।
  13. शहद : शहद पेट को साफ करता है । रोजाना सुबह खाली पेट एक गिलास गुनगुने पानी में दो चम्मच शहद मिलाकर पीने से कब्ज की समस्या से निजात पाया जा सकता है ।
  14. पत्ता गोभी : कब्ज के लिए पत्ता गोभी बहुत ही फायदेमंद है । पत्ता गोभी के पत्तों को पीसकर उसका रस निकाल लें । रोजाना दिन में आधा गिलास उसी रस को पीने से कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी ।
  15. बेकिंग सोडा (Baking soda) : बेकिंग सोडा कब्ज की समस्या से निजात दिलाने में सहायक है । एक चौथाई कप गुनगुने पानी में एक चम्मच बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से पेट साफ होगा और कब्ज से भी राहत मिलेगी ।
  16. इशब्गुल : कब्ज के लिए इशब्गुल रामबाण इलाज है । 125 ग्राम दही में 10 ग्राम इशब्गुल मिलाकर सुबह और शाम लेने से कब्ज में आराम मिलता है । आप रात को सोने जाने से पहले दूध या पानी में इशब्गुल मिलाकर भी उसका सेवन कर सकते हैं ।
  17. दही : कब्ज की समस्या को दूर करने के लिए दही एक बेहतरीन उपाय है । दही में प्रो-बायोटिक (Pro biotic) तत्व है जो कब्ज के लिए लाभदायक है । रोजाना एक से दो कप दही का सेवन करने से कब्ज में फर्क पड़ता है ।
  18. पपीता : पपीते में पर्याप्त मात्रा में फाइबर (Fiber) होता है जो कब्ज को ठीक करने में मदद करता है । आप कच्चे पपीते की सब्जी बनाकर भी खा सकते है या पके हुए पपीते का भी सेवन कर सकते है ।
  19. जैतून का तेल : जैतून का तेल पाचन तंत्र को उत्तेजित करके पेट को साफ करने में मदद करता है । सुबह खाली पेट एक चम्मच जैतून के तेल में थोड़ा-सा नींबू का रस मिलाकर पीयें । यह उपचार कब्ज से राहत दिलाने में मददगार है ।
  20. सौंठ, काला नमक और अजवाइन : सौंठ, अजवाइन और काला नमक को समान मात्रा में मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर ले । रोजाना सुबह और रात को सोने जाने से पूर्व एक-एक चम्मच इसी मिश्रण को गुनगुने पानी के साथ लेने से कब्ज की समस्या से राहत मिलेगी ।                                     

unnamed

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों का प्रयोग करके कब्ज की समस्या से निजात पाया जा सकता है । कब्ज को नियंत्रित करने के लिए इन उपचारों के साथ कुछ बातों का ध्यान रखना भी आवश्यक हैं, जैसे :

  • मैदा, मसालेदार खाना, दुकान का पहले से बना हुआ खाना या प्रोसेस्ड फूड (Processed food) से परहेज करें ।
  • खाना खाने के लगभग आधे घंटे बाद पानी पीयें और रोजाना 7-8 गिलास पानी पीयें ।
  • रात को सोने जाने के लगभग 3-4 घंटे पहले अपना आहार लें इससे आपका पाचन तंत्र सही रूप में कार्य करेगा ।
  • अपने खाद्य में जीरा, हल्दी, अजवाइन जैसे मसालों का प्रयोग करें ।
  • अपने आहार में सब्जियों और फलों को शामिल करें ।
  • रोजाना नियमित रूप से व्यायाम करें ।
  • कैफीन युक्त पेय, धूम्रपान, मद्यपान से परहेज करें ।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY