सर्दी और खाँसी से निजात के लिए घरेलू उपाय

0

सर्दीऔर खाँसी की समस्या बहुत ही आम समस्या है लेकिन इसके कारण आपके स्वास्थ्य को कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।यह किसी भी उम्र में हो सकता है।सर्दी-खाँसी होने पर सरदर्द, लगातार नाक बहना, बदन दर्द, यहां तक कि बुखार भी हो सकता है।यदि सही समय पर सर्दी और खाँसी का सही इलाज न किया जाएँ तो आगे चलकर वो साइनस का रूप भी ले सकती है।सर्दी और खाँसी के कई कारण हो सकते हैं, जैसे :

  • मौसम में परिवर्तन होने के कारण सर्दी और खाँसी की समस्या होती है।
  • धूल, धुआँ, प्रदूषण के कारण भी इस तरह की समस्या उत्पन्न हो सकती है।
  • ठन्डे पदार्थों जैसे, आइसक्रीम, कोल्डड्रिंक, फ्रिज का पानी आदि का सेवन करने से जुकाम और खाँसी की समस्या हो सकती है।
  • सर्दियों के मौसम में भी ये समस्या उत्पन्न हो सकती है।

सर्दी खाँसी के लिए घरेलू नुस्खें

Depositphotos_6301020_m

  1. दूध और हल्दी : दूध और हल्दी सर्दी और खाँसी के सबसे असरदार इलाजों में से एक है।एक गिलास दूध को गर्म करके उसमें एक चम्मच हल्दी का पाउडर मिलाकर उसका सेवन करें। इसके सेवन से आपका शरीर अन्दर से गर्म रहता है और सर्दी-खाँसी जैसी समस्या भी दूर हो जाती है।
  2. ब्रांडी (Brandy) और शहद : सामान्य सर्दी और खाँसी को ठीक करने के लिए आप ब्रांडी और शहद का सेवन भी कर सकते है।हर मेडिकल स्टोर (Medical Store) में डॉक्टर्स ब्रांडी (Doctors Brandy) उपलब्ध है। एक चम्मच ब्रांडी में एक चम्मच शहद मिलाकर सेवन करने से सामान्य सर्दी और खाँसी की समस्या से निजात पाया जा सकता है। ब्रांडी छाती को गर्म रखता है और शहद में बलगम से लड़ने का प्राकृतिक गुण है।इन दोनों का मिश्रण सर्दी और खाँसी को प्रभावी रूप से दूर करता है।
  3. आंवला :आंवला विटामिन सी (Vitamin C) से समृद्ध है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है।आँवले के नियमित सेवन सेरक्त का संचार अच्छी तरह से होता है।यह आपके प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर सर्दी, जुकाम और खाँसी जैसी बीमारियों को ठीक करता है।जिन्हें अक्सर सर्दियों में जुकाम और खाँसी की समस्या होती रहती है उन्हें रोजाना एक आँवले का सेवन जरुर करना चाहिए, इससे सर्दी और खाँसी की समस्या से हमेशा के लिए छूटकारा पाया जा सकता है।
  4. नींबू और शहद : नींबू के रस में शहद मिलाकर लेने से जुकाम और खाँसी की समस्या से निजात पाया जा सकता है। एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू का रस निचोड़ लें और फिर उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर उसका सेवन करें।इससे सर्दी और खाँसी की समस्या में आपको आराम मिलेगा।
  5. अजवाइन : अजवाइन में जीवाणुओं से लड़ने की क्षमता होती है।जुकाम और खाँसी के उपचार के लिए सरसों के तेल को गर्म कर लीजिए, उसमें अजवाइन डालकर उस तेल को नहाने से पहले अपनी नाक, छाती और शरीर पर लगाईये, इससे बंद नाक और सर्दी की समस्या में राहत मिलती है।आप रात को सोने जाने से पहले भी इस तेल का प्रयोग कर सकते है।
  6. अदरक : सर्दी और खाँसी की समस्या में अदरक एक प्रभावी उपाय है। अदरक के टुकड़े को पानी में मिलाकर उसे उबाल लें, फिर उसे छानकर एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से राहत मिलती है।रात को सोने जाने से पहले अदरक के इस चाय का सेवन करने से रात की नींद भी अच्छी होती है और जुकाम एवं खाँसी से छुटकारा भी मिलता है।इसके अलावा आप सुबह और शाम की चाय में भी अदरक का टुकड़ा डालकर लें सकते हैं। इससे भी सर्दी-खाँसी की समस्या में फर्क पड़ता है।
  7. भाँप : सर्दी और खाँसी की समस्या से बचने के लिए सबसे आसान तरीका है भाँप लेना। इस उपचार के अंतर्गत आपको सिर्फ गर्म पानी और एक तौलिए की आवश्यकता होगी। सबसे पहले एक मध्यम आकार का एक पात्र लें और उसमें पानी लेकर उबालें।जैसे ही पानी उबलने लगे, उसे आँच से उतार ले।फिर उस पात्र को एक टेबल या स्टूल पर रखें और एक कुर्सी लेकर उसके सामने बैठ जाये।उसके बाद एक बड़े तौलिए से अपने सिर और उस पानी के बर्तन को एक साथ ढक ले और दस मिनट तक उस गर्म पानी का भाँप ले। इस बात का ध्यान रखे कि इस दौरान पंखा, ए.सी या कूलर बंद रहे। इसके बाद लगभग बीस मिनट तक हवा में न जाएँ। इस प्रक्रिया से बंद नाक की समस्या और बहते नाक की समस्या तो दूर होगी ही साथ ही बलगम की समस्या में भी फर्क पड़ता है।आप चाहे तो इस प्रक्रिया में पेपरमिंट तेल का भी प्रयोग कर सकते है।भांप लेने से पहले गर्म पानी में पेपरमिंट तेल की कुछ बूंदें डालकर भांप लेने से सर्दी और खाँसी में अच्छा परिणाम मिलता है।
  8. तुलसी के पत्ते का काढ़ा : सर्दी और खाँसी में सबसे प्रभावी और व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली औषधि है, तुलसी के पत्ते। तुलसी में जीवाणु प्रतिरोधक गुण है।एक बर्तन में एक लीटर पानी डालें।अब उसमें एक-एक करके करीब पच्चीस से तीस ताजा और साफ तुलसी के पत्ते, दस से बारह पीसी हुई काली मिर्च, चार से पाँच लौंग, दो तेजपत्ता, दो से तीन दालचीनी के छोटे टुकड़े, और आधा चम्मच पीसा हुआ अदरक डालकर अच्छे से तब तक उबालें जब तक पानी घट कर आधा न हो जाये।फिर इस काढ़े को छानकर एक कप या गिलास में डालें और उसमें एक चम्मच शहद मिलाकर दिन में दो से तीन बार सेवन करने से बलगम की समस्या भी खत्म हो जाती है और सर्दी में भी राहत मिलती है।
  9. लहसुन : लहसुन के तेल को लगाने से जुकाम और खाँसी में आराम मिलता है। एक छोटी कटोरी में दो से तीन चम्मच सरसों का तेल डालें साथ ही उसमें लहसुन की दो से तीन कलियाँ डालकर गर्म करें, अब उसी तेल को अपनी हथेली, छाती और नाक पर अच्छे से लगायें। इससे सर्दी और खाँसी की समस्या दूर होगी।
  • गुड़, काली मिर्च और जीरा : गुड़, काली मिर्च और जीरे का मिश्रण सर्दी और खाँसी की समस्या को दूर करने में मदद करता है।एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच पीसी हुई काली मिर्च, एक चम्मच पीसा हुआ जीरा और एक चम्मच गुड़ मिलाकर एक मिश्रण तैयार करके उसका सेवन करने से जुकाम और सर्दी की समस्या दूर हो जाती है। यह मिश्रण छाती में जमे बलगम को निकालने के साथ सर्दी और खाँसी का भी अच्छा उपचार है।
  • मसाला चाय :सर्दी और खाँसी के लिए घर पर बने मसाला चाय बहुत ही उपयोगी है।मसाला तैयार करने के लिए एक तवे पर एक चौथाई कप धनिये का बीज, डेढ़ चम्मच जीरे का बीज, डेढ़ चम्मच सौंफ और एक चौथाई चम्मच मेथी के बीज को सूखा भून लें और फिर उसे अच्छे से पीसकर चूर्ण बना लें। उसके बाद एक जगह एक कप पानी उबालें और उसी उबलते हुए पानी में डेढ़ चम्मच वही चूर्ण डालें और साथ ही डेढ़ चम्मच मिश्री मिलाकर धीमी आँच पर तीन से चार मिनट तक रखें, उसके बाद उसमें दो चम्मच दूध मिलाकर उसे उबालें ताकि सभी मसाले अच्छे से घुल जाएँ।फिर उस चाय को छानकर पीयें।इससे सर्दी और खाँसी में बहुत राहत मिलेगी। रोजाना दिन में दो बार पीने से जुकाम और खाँसी की समस्या दूर हो जायेगी।
  • चिकेन सूप (Chicken Soup):चिकेन सूप में आवश्यक पोषक तत्व हैं जो सामान्य सर्दी और खाँसी की समस्या में राहत दिलाती है। इसमें पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant), जीवाणु से लड़ने में मदद करता है।बेहतर परिणाम के लिए घर पर ही तरह-तरह की सब्जियों से चिकेन सूप बनाकर उसमें काली मिर्च डालकर गरम-गरम पीने से सामान्य सर्दी और खाँसी जैसी समस्या से निजात पाया जा सकता है साथ ही यह आपके शरीर को तंदरुस्त भी रखता है।
  • च्यवनप्राश : जिन लोगों को हमेशा सर्दियों में जुकाम और खाँसी होती रहती है, उन्हें सुबह एक चम्मच च्यवनप्राश का सेवन जरुर करना चाहिए। च्यवनप्राश प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है और जीवाणुओं से लड़ने में मदद करता है।
  • खारे पानी से कुल्ला : खाँसी चाहे सुखी हो या बलगम वाली, खारे पानी से कुल्ला करने से फर्क पड़ता है, साथ ही बंद नाक की समस्या में भी राहत मिलती है।सर्दी और खाँसी की समस्या होने पर खारे पानी से कुल्ला करने से आराम मिलता है।
  • व्यायाम या योग : व्यायाम या योगा द्वारा सर्दी और खाँसी की समस्या दूर हो सकती है।योगा में साँस को विभिन्न तरीकों से नियंत्रित करना पड़ता है। इससे न सिर्फ आपकी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है बल्कि साँसों से जुड़ी समस्याएं भी दूर हो जाती हैं। शरीर की विभिन्न समस्याओं में योगा एक कारगर उपाय है।आप किसी अच्छे योगा विशेषज्ञ से योगा सीखकर जुकाम और खाँसी की समस्या से हमेशा के लिए निजात पा सकते है।

yoga-tree

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप सर्दी और खाँसी को दूर कर सकते है। यदि इन उपायों से भी दो दिनों में कोई फर्क न पड़े तो आप जल्दी ही किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह लेकर उपयुक्त जांच करवायें।कुछ सावधानियां बरतने से सर्दी और खाँसी की समस्या को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं, जैसे :

  • प्रदूषण और धूल से बचे।आवश्यकता पड़ने पर मास्क का प्रयोग करें।
  • नियमित व्यायाम करें।
  • मद्यपान और धूम्रपान से परहेज करें।
  • ठन्डे पदार्थों का सेवन अधिक न करें।
  • ऐसे पदार्थों का सेवन करें जिसमें विटामिन सी (Vitamin C) की मात्रा अधिक हो।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.