सफेद बालों को काला करने के घरेलू उपाय

घने काले बाल हर किसी की चाहत है।परन्तु उम्र बढ़ने के साथ हमारे बाल सफेद होने लगते हैं। लेकिन आजकल केवल उम्र बढ़ने के कारण ही नहीं बल्कि असमय भी बाल सफेद हो रहें हैं। आज की भाग-दौड़ वाली जिंदगी में अनियमित खान-पान, पोषण का अभाव, तनाव, चिंता आदि के कारण भी कम उम्र में ही बाल सफेद हो रहें हैं जिससे आज का युवा वर्ग त्रस्त हैं।आज के युवा वर्ग के सम्मुख अन्य समस्याओं के साथ बालों का सफेद होना भी एक समस्या बन चुकी है।कुछ लोग इस समस्या से निजात पाने के लिए पार्लर जाते हैं तो कुछ सफेद बालों को छिपाने के लिए बाजार में बिकने वाली रसायन युक्त बालों के रंगों का प्रयोग करते हैं जो बालों के लये हानिकारक हैं।पार्लर में भी हेयर ट्रीटमेंट (Hair treatment) के नाम पर बालों का नुकसान ही करते हैं।बेहतर यही है कि बालों को सेफद करने के लिए घरेलू और प्राकृतिक नुस्खों का प्रयोग करें, इससे आपके बाल काले, घने और लम्बे होंगे और बालों का कोई नुकसान भी नहीं होगा।

असमय बाल सफेद होने के कारण

  • जैसा कि पहले ही कहा गया है कि आज के भाग-दौड़ और व्यस्त जिंदगी में बहुत से लोग हैं जो समय पर खाना नहीं खाते और अधिक समय बाहर का खाना ही खाते हैं, इससे पाचन क्रिया प्रभावित होती है और शरीर में पोषण का अभाव भी हो जाता है जिसका प्रभाव हमारे शरीर के विभिन्न भागों पर पड़ता है।हमारे बाल भी इस पोषण के अभाव में सफेद हो जाते है।
  • आजकल बाजार में बिकने वाले शैम्पू और बालों के तेल में रसायन की मात्रा अधिक होती है इसलिए बहुत ज्यादा शैम्पू और तेल लगाने से भी उन रसायनों के प्रभावस्वरूप बाल सफेद हो जाते हैं।
  • आज की व्यस्तता भरी जिंदगी में तनाव ने सभी को घेर रखा है।लेकिन यही तनाव और चिंता बाल सफेद होने के कारण हैं।
  • अधिक मात्रा में धूम्रपान और मद्यपान करना भी बाल सफेद होने के कारण हैं।
  • प्रदूषण के कारण भी बाल असमय सफेद हो जाते हैं।
  • कभी-कभी आनुवंशिता भी बाल सफेद होने का कारण हैं।

सफेद बाल काले करने के घरेलू नुस्खें

using_henna_as_a_hair_dye_pros_and_cons

  1. मेहँदी : अपने बालों की आवश्यकतानुसार ताजी मेहँदी का लेप तैयार करें, फिर उसमें तीन चम्मच करोंदे का चूर्ण और एक चम्मच कॉफी थोड़े से पानी के साथ मिलाकर डालें और अच्छे से मिलाएं। फिर उस लेप को अपने बालों में लगाकर दो घंटे तक छोड़ दें।इसके बाद बालों को धोकर किसी अच्छे शैम्पू से दुबारा बालों को धो लें। यह बालों को रंगने का एक बहतरीन और प्राकृतिक उपाय है, साथ ही इसके निरंतर प्रयोग से बाल सफेद नहीं होंगे।

इसके अतिरिक्त आप ताजी मेहँदी और आंवला के चूर्ण को चाय के पानी में मिलाकर रातभर भीगोकर रखें। अगली सुबह उसमें ब्राह्मी का चूर्ण, भृंगराज का चूर्ण, एक अंडा, उसी अनुपात में दही और नींबू का रस मिलाएं और इससे अपने पूरे बालों और जड़ों में मालिश करें और आधे घंटे बाद अच्छे से धो लें। इससे आपके बाल घने, काले और चमकदार बनेंगे।इसके अलावा आप मेहँदी का प्रयोग कुछ इस तरह भी कर सकते हैं। ताजी मेहँदी में कुछ मेथी के दानों को पीसकर मिला लें। फिर उसमें तुलसी का रस और सुखी चाय की पत्तियों को मिलाकर एक पेस्ट तैयार करें और उसे अपने बालों पर लगाकर दो घंटे के लिए छोड़ दें। फिर किसी अच्छे शैम्पू से अपने बालों को धो लें।ऐसा करने से भी सफेद बालों की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।

  1. चाय : पर्याप्त मात्रा में पानी और चाय की पत्ती लें।पानी को गर्म करके उसमें चाय की पत्ती मिलाएं।फिर पानी को ठंडा करके अपने बालों में लगायें और एक घंटे तक छोड़ दें।एक घंटे बाद अपने बालों को अच्छे शैम्पू से धो लें।इस प्रयोग से बाल लम्बे समय तक घने और काले रहेंगे।
  2. लौकी : लौकी के कुछ टुकडों को सुखाकर उसे तीन दिनों तक नारियल के तेल में भीगोकर रखें।उसके बाद उस तेल को गर्म करें और उस गर्म तेल से ही बालों की जड़ों में मालिश करें, इससे बालों की खोयी हुई मेलानिन (Melanin) वापस आ जाती है और बाल चमकदार, मजबूत, घने और काले बनते हैं।
  3. बालों की जड़ों में अधिक गर्मी का प्रयोग न करें : अत्यधिक गर्मी भी बालों को नुकसान पहुँचता है। कुछ लोग खासकर लड़कियां, बालों के फैशन (Fashion) के लिए हीटिंग आयरन (Heating Iron) का प्रयोग करती हैं जिससे बाल क्षतिग्रस्त होते हैं।शुरुआत में शायद कोई फर्क महसूस न हो या आपको अच्छा भी लग सकता है लेकिन इसके निरंतर प्रयोग से आपके बाल सफेद हो सकते हैं।अतः इस बात को सुनिश्चित करें कि ऐसे किसी स्टाइलिंग उत्पाद का प्रयोग ना करें जो आपके बालों को गर्मी प्रदान करें।
  4. नींबू और आंवला :एक नींबू के रस में चार चम्मच आँवले का चूर्ण और थोड़ा-सा पानी मिलाईये और इसे अपने बालों के जड़ों में लगाकर बीस से पच्चीस मिनट तक छोड़ दें।फिर निर्धारित अवधि के बाद अच्छे से अपने बाल धो लें।इस बात का ध्यान रहें कि उसी दिन आप शैम्पू न करें।हफ्ते में चार दिन इसका प्रयोग करने से कुछ ही महीनों में आपके सफेद बाल काले हो जायेंगे साथ ही बालों का झड़ना भी कम हो जायेगा।
  5. शुद्ध देशी घी : शुद्ध देशी घी से बालों की जड़ों में मालिश करने से सफेद बालों से छुटकारा मिलता है और बाल भी घने और मजबूत बनते हैं। हफ्ते में दो दिन शुद्ध देशी घी का प्रयोग अपने बालों पर करें।
  6. तिल का तेल : एक जगह लगभग 75 मिली लीटर तिल का तेल लेकर उसमें लगभग 25 मिली लीटर लौकी का रस मिलाएं और थोड़ी देर के लिए धूप में रखें।रात को सोने जाने से पहले इस तेल को अपने बालों में लगाकर हलके हाथों से मालिश करें और सुबह अच्छे से बाल धो लें।इस तेल का प्रयोग करने से सफेद बाल काले और लम्बे हो जाते हैं।
  7. प्याज : प्याज बालों के लिए बहुत उपयोगी है।दो प्याज अच्छे से पीसकर एक पेस्ट बना लें और उसका प्रयोग अपने बालों पर करें।लगाने के एक घंटे बाद बालों को अच्छे शैम्पू से धो लें।इसका निरंतर एक महीने तक प्रयोग करने से सफेद बाल से निजात पाया जा सकता है और बाल भी घने और मजबूत बनते हैं।
  8. नारियल का तेल : नारियल का तेल बालों के लिए बहुत उपयोगी है और यदि उसमें अश्वगंधा और भृंगराज मिला दी जाए तब इसकी उपयोगिता और भी बढ़ जाती है। बालों की आवश्यकतानुसार नारियल का तेल लें और उसमें थोड़ी-सी मात्रा में भृंगराज और अश्वगंधा की जड़ें मिलाकर एक पेस्ट बना लें।अब अपने बालों की जड़ों में पंद्रह मिनट तक उसी पेस्ट से मालिश करें।तीस से चालीस मिनट बाद अच्छे से बाल और सिर धो लें।इस प्रयोग से आपके बाल काले होने लगेंगे।
  • आंवला : बालों को कालाकरने का एक बेहतरीन प्राकृतिक उपाय है आंवला। सबसे पहले एक आँवले को पानी में अच्छी तरह से उबाल लें। उसके बाद पानी से आँवले को निकालकर उसे पीस लें। उसी पीसे हुए आँवले को अपने बालों की जड़ों में लगायें और लगभग तीस मिनट तक लगा रहने दें और फिर अच्छे से अपने बाल धो लें।महीने में चार बार इसका प्रयोग करने से आपके सफेद बाल प्राकृतिक रूप से काले, घने और चमकदारहो जायेंगे।
  1. कलौंजी : सफेद बालों को काला करने के लिए कलौंजी भी लाभदायक है। एक लीटर पानी में पचास ग्राम कलौंजी को अच्छे तरह से उबाल लें और फिर उस पानी को छानकर ठंडा कर लें और उसी पानी से अपने बाल धोएं। लगभग हर दूसरे दिन ऐसा करने से कुछ महीनों के अन्दर ही आपके बाल काले, घने और लम्बे हो जायेंगे।
  2. अदरक : अदरक बालों के लिए लाभदायक है।अपने बालों के आवश्यकतानुसार अदरक लें और उसे कद्दूकस करके उसमें शुद्ध शहद मिलाकर उसका प्रयोग अपने बालों पर करें। हफ्ते में दो बार इसका प्रयोग करने से बालों का पकना कम हो जायेगा।
  • टमाटर : टमाटर को हाथों से मसलकर उसका रस निकाल लें, अब उसमें थोड़ी-थोड़ी मात्रा में दही, नींबू का रस और नीलगिरी का तेल मिलाएं और उसका प्रयोग अपने बालों पर करें। इस प्रयोग से बाल घने और काले बनेंगे।

tomato-hair-benefits1

उपर्युक्त घरेलू और प्राकृतिक नुस्खों को अपनाकर आप सफेद बालों की समस्या से निजात पा सकते हैं।असमय या कम उम्र में होने वाले सफेद बाल यदि इन नुस्खों के प्रयोग से भी काले न हों, तो आप किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह लें और चिकित्सा करवाएं। खुद की देखभाल का जिम्मा हमी पर है, इसलिए यदि कुछ बातों पर ध्यान देंगे तो हम खुद को आकर्षक और खुबसूरत बना सकेंगे।बालों का मसला हों तो इन बातों का ध्यान रखन आवश्यक हैं, जैसे :

  • अत्यधिक तेल, मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए।
  • बाहर का खाने से परहेज करें, जितना हो सके घर का बना खाना ही खाएं।
  • धूम्रपान और मद्यपान से परहेज करें।
  • शैम्पू के बाद कंडीशनर (Conditioner) का प्रयोग जरुर करें, ध्यान रहें कंडीशनर सिर्फ बालों पर ही लगायें, जड़ों में नहीं।
  • तनाव और चिंता कम करें।
  • अपने सिर और बालों को हमेशा साफ रखें, धूल और गंदगी जमा न होने दें।
  • गीले बालों में कंघी कभी न करें।
  • पोषक तत्वों से भरपूर आहार का सेवन करें। फलों और हरी सब्जियों का सेवन करें।
  • रसायन युक्त शैम्पू और तेल से बचें।
  • दिनभर में सात से आठ गिलास पानी जरुर पीयें।

रुसी हटाने के घरेलू उपचार

रुसी सिर की एक आम समस्या है जो जीवाणु और फंगल इन्फेक्शन (Fungal Infection) के कारण होती है । मलास्सेज़िया (Malassezia) नामक फंगस (Fungus) के कारण रुसी की समस्या उत्पन्न होती है । रुसी एक ऐसी समस्या है जो बालों की जड़ों में सफेद रंग की एक परत को उत्पन्न करता है । यह परत मृत कोशिकाएं होती हैं जिससे सिर में खुजली होती है । सिर को निरंतर खुजलाने से बालों की जड़ें कमजोर हो जाती है और बाल झड़ने लगते हैं । रुसी दो तरह के होते हैं : एक जब सिर की त्वचा रुखी होती है और दूसरा जब सिर की त्वचा तैलीय होती है । रुसी की समस्या बहुतों को होती हैं । रुसी होने पर वे झड़कर कपड़ों पर भी गिरते हैं जिससे व्यक्ति को शर्मिंदगी होती है साथ ही यह उसके व्यक्तित्व को भी प्रभावित करता है । रुसी के कारण कुछ अन्य समस्या भी उत्पन्न होते हैं, जैसे, बालों का पतला होना, अधिक खुजलाने से बालों की जड़ों में दाने पड़ना, मुंहासे आदि । रुसी होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे :

  • हमारे सिर की त्वचा में नई कोशिकाएं निरंतर उत्पन्न होती रहती है और यदि सिर की त्वचा को साफ न रख जाये तब वहा मृत कोशिकाएं इकट्ठी हो जाती है जो रुसी का रूप ले लेती है ।
  • आज के फैशन (Fashion) के अनुरूप कई लोग, खासकर युवा पीढ़ी अपने बालों में तरह-तरह के प्रयोग करते हैं जिसके कारण रुसी की समस्या उत्पन्न होती है । जैसे, हेयर स्प्रे (Hair spray) का प्रयोग, रंगों का प्रयोग, हेयर स्ट्रेटनिंग (Hair straightning), हेयर ड्रायर (Hair dryer) का अत्यधिक प्रयोग आदि ।
  • उपयुक्त खान-पान न होने के कारण हमारा पाचन तंत्र बिगड़ जाता है और उसका प्रभाव हमारे शरीर के विभिन्न भागों पर पड़ता है । बालों पर भी उसके प्रभाव को देखा जा सकता है और इसके कारण रुसी की समस्या उत्पन्न हो सकती है ।
  • अत्यधिक चिंता और एक्जिमा (Eczema) एवं त्वचा संबंधी बीमारी के कारण रुसी की समस्या उत्पन्न हो सकती है ।

रुसी हटाने के घरेलू नुस्खें

dxe786-1200x800

  1. धनिया : धनिया में बालों के लिए आवश्यक प्रोटीन (Protein) और विटामिन (Vitamin) होता है जो न केवल बालों को गिरने से बचाता है बल्कि नए बालों की वृद्धि में मदद करता है । ताजे धनिया के पत्तों को पीसकर एक लेप तैयार कर लें और फिर उसी लेप को अपने सिर और बालों में लगायें । लगभग पैंतालीस मिनट बाद किसी अच्छे शैम्पू (Shampoo) से बालों को धो लें । इसके निरंतर प्रयोग से रुसी की समस्या भी खत्म हो जायेगी और बालों का झड़ना भी कम हो जायेगा ।
  2. प्याज : प्याज में मौजूद सल्फर (Sulphur) सिर में रक्त के प्रवाह को तेज करता है बालों के परिमाण के अनुरूप प्याज लेकर उसे अच्छे से पीसकर रस निकाल लें । उसी रस को अपने सिर और बालों में लगाकर सूखने तक इंतजार करें, फिर किसी अच्छे शैम्पू (Shampoo) से बालों को धो लें । इससे रुसी की समस्या भी नहीं रहेगी और बाल भी मजबूत होंगे ।
  3. नीम : जीवाणु विरोधक नीम रुसी की समस्या से निजात दिलाने में कारगर है साथ ही यह बालों का झड़ना भी कम करता है । चार कप पानी में नीम के 10 से 15 पत्तों को उबालें । फिर पानी को ठंडा करके छान लें । उसी पानी से अपने बालों को धोये । हफ्ते में दो से तीन बार इस उपचार को करने से फर्क दिखेगा ।
  4. जैतून का तेल : रुखी सिर की त्वचा के उपचार के लिए जैतून के तेल का प्रयोग किया जा सकता है । यह एक प्राकृतिक मॉइस्चराइजर (Moisturizer) की तरह है जो सिर की त्वचा को नमी प्रदान करता है । पहले जैतून के तेल को गर्म कर लें, फिर उसी गर्म तेल से अपने सिर की मालिश करें । फिर अपने सिर को गर्म तौलिए से अच्छे से ढक लें । पैंतालीस मिनट बाद अपने बालों में शैम्पू (Shampoo) कर लें और कंडीशनर (Conditioner) लगा लें । इस उपचार को निरंतर करने से सिर की त्वचा में नमी बनी रहेगी और रुसी की समस्या भी नहीं रहेगी एवं बालों का झड़ना भी कम हो जायेगा ।
  5. बेकिंग सोडा (Baking soda) : बेकिंग सोडा मृत कोशिकाओं को हटाता है और सिर की त्वचा से अत्यधिक तेल को निकाल देता है । यह उस फंगस (Fungus) को भी उत्पन्न नहीं होने देता जो रुसी का कारण है । पहले अपने बालों को थोड़ा गीला कर लें और फिर अपने बालों की जड़ों में बेकिंग सोडा लगायें । पाँच मिनट बाद अपने बालों को गुनगुने पानी से अच्छे से धो लें । इस उपचार के बाद शैम्पू (Shampoo) न करें । निरंतर एक महीने तक और हफ्ते में एक बार इस उपचार को करने से रुसी की समस्या दूर हो जायेगी ।
  6. सेब का सिरका : सेब का सिरका रुसी से छुटकारा दिलाने में कारगर है । यह प्राकृतिक रूप से बालों को साफ करके रोमछिद्रों को खोलने में मदद करता है । दो चम्मच सेब का सिरका लें और उसमें बराबर मात्रा में पानी और टी ट्री आयल (Tea tree oil) की 15 से 20 बूंदे मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें । इसी मिश्रण को अपने सिर पर लगाकर हलके हाथों से मालिश करें । हफ्ते में दो बार इस उपचार को करें । इसके निरंतर प्रयोग से कुछ ही दिनों में रुसी की समस्या दूर हो जायेगी और बाल झड़ना भी कम हो जायेगा ।
  7. नारियल का तेल : नारियल का तेल अपने फंगस (Fungus) विरोधी गुण के कारण रुसी को दूर करने में मदद करता है । यह सिर की त्वचा को पोषण देता है और खुजली से राहत दिलाता है । दो से तीन चम्मच नारियल का तेल लेकर उसमें एक से डेढ़ चम्मच नींबू का रस मिलायें । उस मिश्रण को अपने बालों की जड़ों में लगाकर हलके हाथों से मालिश करें । करीबन बीस मिनट बाद अपने बालों को धो लें । हफ्ते में दो बार इस उपचार को करें । कुछ ही दिनों में रुसी भी दूर हो जायेगी और बालों का झड़ना भी कम हो जायेगा ।
  8. दही : बालों के लिए दही बहुत ही उपयोगी है । यह रुसी की समस्या को दूर करने में भी कारगर है । दही को अच्छे से फेंट लें, फिर उसे अपने बालों और उसके जड़ों पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें । सूखने के बाद पहले पानी से बालों को धो लें फिर बालों में शैम्पू (Shampoo) कर लें । इसके अलावा आप दही में मेथी मिलाकर भी अपने बालों में लगा सकते हैं । रातभर मेथी के दानों को पानी में भीगोकर रखें । सुबह उन्हीं मेथी के दानों को पीस लें फिर उन्हें दही के साथ मिलाकर एक लेप तैयार कर लें । फिर उसी लेप को अपने बालों और उसके जड़ों में लगाकर एक घंटे के लिए छोड़ दें । निर्धारित समय के बाद अपने बालों को पहले पानी से धो लें फिर बालों में शैम्पू कर लें । इन दोनों तरीकों से आप दही का इस्तेमाल कर सकते हैं । इसके निरंतर प्रयोग से रुसी की समस्या दूर हो जायेगी, बाल झड़ने कम हो जायेंगे और साथ ही आपके बाल आकर्षक दिखेंगे ।
  9. मेथी : मेथी के बीजों में प्रोटीन (Protein) पाया जाता है जो बालों की जड़ों में पोषण पहुँचाता है । मेथी को बीजों को रातभर पानी में भीगोकर रखें । सुबह उन बीजों को पीसकर एक लेप तैयार कर लें और उसी लेप को अपने सिर पर अच्छे से लगा लें । एक घंटे बाद अपने सिर और बालों को शैम्पू (Shampoo) से अच्छे-से धो लें । हफ्ते में दो बार इस उपचार को करने से कुछ ही दिनों में असर दिखने लगेगा । इसके अलावा आप मेथी के बीजों को नारियल के तेल में भुन लें । फिर उस तेल को छानकर मेथी को अलग कर लें और उसी तेल को अपने बालों की जड़ों में लगाकर धीरे-धीरे मालिश करें । एक महीने तक इसके निरंतर प्रयोग से रुसी की समस्या दूर हो जायेगी और बाल झड़ने कम हो जायेंगे ।
  10. नींबू : नींबू रुसी के लिए रामबाण औषधि है । दो से तीन चम्मच नींबू के रस में बराबर मात्रा में पानी मिलाकर अपने बालों की जड़ों में लगायें । इसके अलावा आप एक कप अरंडी के तेल या बादाम के तेल में दो नींबू का रस मिलाकर एक मिश्रण तैयार करके एक बोतल में रख दें । रात को सोने जाने से पहले उसी मिश्रण से अपने सिर पर मालिश करें । सुबह अपने बालों को अच्छे से धोने के बाद शैम्पू (Shampoo) कर लें । इससे रुसी की समस्या तो दूर होगी ही साथ ही बालों का झड़ना भी कम हो जायेगा और बाल आकर्षक दिखने लगेंगे ।
  11. एलोवेरा (Aloe Vera) : बालों की समस्या के लिए एलोवेरा बहुत ही कारगर है । एलोवेरा के पत्ते को काटकर उसके अन्दर के रस को निकालकर एक छोटी-सी कटोरी में रख लें । फिर उसी रस को बालों की जड़ों में लगाकर अच्छे से मालिश करें । यह बालों की जड़ों में बंद हुए छिद्रों को खोल देता है । इसके निरंतर प्रयोग से रुसी की दूर हो जायेगी और बाल झड़ने भी कम हो जायेंगे ।

Aloe-Vera-leaves

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों को अपनाकर रुसी की समस्या से निजात पाया जा सकता है । यदि किसी बीमारी के परिणामस्वरूप रुसी की समस्या हो तो किसी त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लेकर उपयुक्त जाँच करवाएं । रुसी से बचने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक हैं, जैसे :

  • रुसी होने पर किसी अच्छे रुसी विरोधी शैम्पू (Shampoo) का प्रयोग करें । अपने सिर की त्वचा को हमेशा साफ रखें ।
  • अपने बालों को अच्छे से कंघी करें ताकि रुसी बालों से झड़कर गिर जाये ।
  • अधिक मात्रा में पानी पीयें जिससे शरीर से टोक्सिन (Toxin) बाहर निकल जाये ।
  • विटामिन बी (Vitamin B), जिंक (Zinc) और ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega-3 Fatty acid) समृद्ध आहार का सेवन करें । अपने खाद्य में हरी सब्जियों और फलों को शामिल करें. बाहर के खाने से परहेज करें ।
  • मानसिक चिंता और तनाव से दूर रहें । पूरी नींद ले, कम-से-कम आठ घंटों तक सोये ।
  • बाहर निकलते समय अपने सिर को ढक लें ताकि सिर की त्वचा और बालों को प्रदूषण, धूप और धूल से बचाया जा सकें ।
  • अपने बालों में रासायनिक तत्वों का प्रयोग न करें ।
  • दूसरों की कंघी का प्रयोग न करें और न ही अपनी कंघी दूसरों को दें ।
  • शैम्पू (Shampoo) करने के बाद कंडीशनर (Conditioner) का प्रयोग करें ।
  • गीले बालों को न ही कंघी करें और न ही बांधकर रखें ।

मुंहासे दूर करने के घरेलू उपाय

मुंहासे त्वचा पर होने वाली एक प्रकार की सूजन है, जो तब होती है जब त्वचा की तेल ग्रंथियां जीवाणु से ग्रस्त हो जाती हैं।मुंहासे की समस्या से काफी लोग परेशान रहते हैं।बढ़ते उम्र के साथ मुंहासे की समस्या को देखा जाताहै। किशोरावस्था में मुंहासे होना आम बात है, लेकिन कई बार उस अवस्था को पार करने के बाद भी मुंहासे की समस्या बरकरार रहती है।कभी-कभी गले और पीठ पर भी मुंहासों को देखा जा सकता हैं जो दर्दनाक गांठे की तरह हो जाती है और जिसमें प्रायः मवाद भी आ जाता है। ये कोई बीमारी नहीं है लेकिन मुंहासे होने पर युवा लड़के और लड़कियों को शर्मिंदगी होती हैं और इसके कारण वे अपना आत्मविश्वास खो देते हैं।मुंहासे होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे :

  • तैलीय त्वचा के तेल ग्रंथियों से तेल का जब जरुरत से ज्यादा उत्स होने लगता है तो वही तेल धूल, मिट्टी, प्रदूषण आदि से उत्पन्न जीवाणु के साथ मिलकर त्वचा के छिद्रों को बंद करके मुंहासों को जन्म देता है।
  • इसके अतिरिक्त त्वचा की मृत कोशिकाओं को न हटाने से भी त्वचा के छिद्र बंद हो जाते हैं और मुंहासों की उत्पत्ति होती हैं।
  • बढ़ते उम्र के साथ शारीरिक और हॉर्मोन (Hormone) मेंबदलाव के कारण सिबेशियस (Sebaceous) ग्रंथि उत्तेजित होती है जिससे त्वचा की तेल ग्रंथियों से तेल की उत्पत्ति अधिक मात्रा में होने लगती है और मुंहासे आने लगते हैं।
  • मेकअप लगाने के बाद यदि उसे ठीक से साफ न किया जाये तो उसमें शामिल रसायनों के कारण भी मुंहासे हो सकते हैं।
  • कभी-कभी शरीर में पौष्टिकता के अभाव के कारण भी मुंहासे आ सकते हैं।

मुंहासे हटाने के लिए घरेलू नुस्खें

honey-e1466949121875

  1. बर्फ का प्रयोग : मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए कुछ बर्फ के टुकड़े लेकर मुंहासों पर लगाने से मुहासों वाले भाग में रक्त का संचार तेज हो जाता है, और ठंड के कारण जीवाणु भी मर जाते हैं।आप बर्फ के टुकड़ों को सीधे भी लगा सकते हैं या फिर साफ कपड़े में लपेटकर भी मुंहासों पर बर्फ लगा सकते हैं। इस प्रक्रिया से मुंहासे कम हो जायेंगे।
  2. शहद : शुद्ध शहद के उपयोग से मुंहासों से निजात पाया जा सकता है। शहद मुंहासों पर तुरंत असर करता है।एक छोटी-सी कटोरी में आप अपने जरुरत के अनुसार शहद लें, अब उस शहद में रुई को डूबोकर मुंहासों और अपनी पूरी त्वचा पर लगायें।आधे घंटे तक रखने के बाद गुनगुने पानी से अपना मुँह धो लें। इसके निरंतर प्रयोग से आपका चेहरा साफ हो जायेगा, त्वचा के छिद्र भी खुल जायेंगे और मुंहासे भी खत्म हो जायेंगे।
  3. नींबू : मुंहासे ठीक करने में नींबू की अहम् भूमिका है।नींबू में विटामिन सी (Vitamin C) की मात्रा अधिक होती है जिसके प्रयोग से मुंहासे जल्दी सूख जाते हैं।एक जगह आधे नींबू का रस निचोड़ लें और उसमें दुगुनी मात्रा में ग्लिसरीनमिलाकर उसे उँगलियों की मदद से अपने मुंहासे वाले भाग पर लगायें, इससे आपके मुंहासों के मवाद सूख जायेंगे और सूजन भी कम हो जायेगा साथ ही चेहरे पर निखार भी आ जायेगा।
  4. गर्म पानी का भाप : गर्म पानी का भाप लेने से त्वचा के रोमछिद्र खुल जाते हैं जो त्वचा के लिए जरुरी है। इससे त्वचा का मैल और अतिरिक्त तेल जो मुंहासों के कारण हैं, वो भी निकल जाते है।एक बड़े बर्तन में एक लीटर पानी डालकर उबालें फिर आँच बंद करके उस पानी को अपने चेहरे के सामने रखें, इस दौरान अपने सिर और गर्म पानी के उस बर्तन को एक बड़े कपड़े से ढक लें ताकि भाप उड़ न जाये। अपने चेहरे को झुकाकर अच्छे से भाप लें। उसके बाद अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें और तेल रहित मॉइस्चराइजर (Moisturiser) को अपने चेहरे पर लगायें।इस प्रक्रिया को निरंतर करने से चेहरे के मुंहासे आसानी से दूर हो सकते हैं।
  5. अंडा : अंडे का सफेद भाग मुंहासों को कम करने में सहायक होता है।एक अंडा फोड़कर उसके सफेद भाग को अलग कर लें, फिर उसे मुंहासों या मुंहासों से हुए दाग पर लगायें।दस से पंद्रह मिनट के बाद ठन्डे पानी से धो लें।इस उपाय से आपके मुंहासे भी कम होंगे साथ ही साथ मुंहासों के निशानों से भी आपको मुक्ति मिलेगी।
  6. बेकिंग सोडा (Baking soda) : बेकिंग सोडा भी मुंहासों को कम करने का एक कारगर उपाय है।आवश्यकतानुसार बेकिंग सोडा लेकर उसे थोड़े-से पानी के साथ मिलाकर एक पेस्ट बना लें और उस पेस्ट को मुंहासों और प्रभावित जगहों पर लगायें।इसके प्रयोग से मुंहासे जड़ से मिट जायेंगी और मुंहासों का कोई निशान भी नहीं रहेगा।
  7. टमाटर :टमाटर विटामिन ए (Vitamin A) से समृद्ध है जो त्वचा को पोषण देने में मदद करता है।टमाटर को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर उसमें थोड़ी-सी मात्रा में पानी मिलाकर एक लुगदी रूपी मिश्रण तैयार कर लीजिए।इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाकर बीस मिनट तक छोड़ दें और फिर निर्धारित समय के बाद गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें। इससे मुंहासे और उसके दाग दोनों ही मिट जायेंगे।
  8. नीम : नीम अपने जीवाणु प्रतिरोधक गुण के कारण जाना जाता है।इसे प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट (Astringent) की तरह इस्तेमाल किया जाता है।नीम की पत्तियों को पीस लें, अब उसमें एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी, आधा चम्मच हल्दी तथा उबटन तैयार करने के लिए आवश्यकतानुसार कच्चा दूध मिलायें। इन सबको अच्छे से मिलाकर अपनी त्वचा पर लगायें।इसके प्रयोग से मुंहासे भी कम होंगे और हर किस्म का दाग भी मिट जायेगा।
  9. चन्दन : चन्दन और गुलाबजल का मिश्रण मुंहासों को दूर करता है। तीन चम्मच चन्दन का पाउडर लें और उसमें आवश्यकतानुसार गुलाबजल मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।इसे अपनी उँगलियों की मदद से अपने चेहरे पर लगायें और पंद्रह मिनट तक छोड़ दें, फिर पानी से चेहरा धो लें। आप चन्दन के पाउडर की जगह पीसे हुआ चन्दन का भी प्रयोग कर सकते हैं।इसके निरंतर प्रयोग से आपके मुंहासे कम होंगे और आपको दाग-धब्बों से मुक्त त्वचा मिलेगी।
  • जायफल : यदि आप अपने चेहरे पर मुंहासे और उसके दाग से चिंतित हैं तो तुरंत परिणाम पाने के लिए जायफल का प्रयोग करें।दो चम्मच कच्चे दूध में रातभर थोड़ी-सी केसर भीगोकर रखें।सुबह इस मिश्रण में एक चम्मच जायफल का चूर्ण डालकर अच्छे से मिलाकर एक उबटन तैयार कर लें, फिर उस उबटन का प्रयोग मुंहासों और अपने पूरे चेहरे पर करें।बीस मिनट तक रखने के बाद अपना चेहरा धो लें।रोजाना इसका प्रयोग करने से आपको मुंहासे और दाग रहित त्वचा मिलेगी और आपके चेहरे पर भी निखार आ जायेगा।
  • मेथी के बीज : मेथी के बीजों में ऐसे एंजाइम्स (Enzymes) पाए जाते हैं जो त्वचा की रंगत को फीका पड़ने नहीं देता। थोड़े से दूध में एक चम्मच मेथी के बीज रातभर भीगोकर रखें।सुबह उसी को महीन पीसकर उबटन तैयार करके अपने चेहरे, गले और गर्दन पर लगायें।पच्चीस से तीस मिनट बाद अपने चेहरे को हाथों से स्क्रब (Scrub) करते हुए पानी से धो लें।इससे आपके मुंहासे और चेहरे के दाग-धब्बे मिट जायेंगे।
  • दही और खीरे का उबटन : दही त्वचा को नमी देने के साथ चेहरे के किसी भी दाग-धब्बे को हल्का करने में सहायक होता है। खीरा चेहरे को साफ करके ताजगी प्रदान करता है।खीरे के कुछ टुकड़ों को पीसकर उसमें एक चम्मच दही मिलाकर एक उबटन तैयार कर लें।अब उसी उबटन को मुंहासों और प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें और बीस मिनट के लिए छोड़ दें। निर्धारित समय के बाद अपना चेहरा धो लें।हफ्ते में तीन दिन इस उबटन का प्रयोग करें और पंद्रह दिनों में फर्क महसूस करें।
  • धनिया या पुदीना का रस : धनिया और पुदीना त्वचा के लिए बहुत ही लाभदायक हैं। ये दोनों ही मुंहासों को कम करने और चेहरे के दाग को हटाने में सहायक हैं।दो से तीन चम्मच धनिया के पत्तों अथवा पुदीना के पत्तों का रस लेकर उसमें बहुत ही थोड़ी-सी मात्रा में हल्दी मिलाएं, और रोजाना रात को सोने जाने से पहले इस मिश्रण को लगायें। पंद्रह मिनट बाद अपना चेहरा धो लें।रोजाना प्रयोग से आपके मुंहासे दूर हो जायेंगे और चेहरा भी बेदाग हो जायेगा।
  1. एलोवेरा और हल्दी : एलोवेरा और हल्दी दोनों में ही जीवाणु प्रतिरोधक गुण है साथ ही ये दोनों त्वचा की रंगत को फीका पड़ने नहीं देते।थोड़ी-सी पीसी हुई हल्दी में एक चम्मच एलोवेरा का रस मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें और उसे अपने चेहरे और मुंहासों पर लगायें।बीस मिनट बाद अपना चेहरा धो लें।इसके निरंतर प्रयोग से मुंहासे कम होंगे और त्वचा की रंगत भी वापस आ जायेगी।

shutterstock_260457242-1-e1461602966564

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों के प्रयोग से आपको मुंहासों और मुंहासों के कारण होने वाले दाग-धब्बों से छुटकारा मिल जायेगा और आपको बेदाग और निखरी हुई त्वचा मिल जायेगी।यदि इन नुस्खों के प्रयोग के बाद भी मुंहासे निकलना कम न हों तो आप किसी अच्छे त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लें और उचित इलाज करवाएं।चेहरा हमारे व्यक्तित्व को दमदार बनाता है, अतः उसकी देखभाल करना हमारा दायित्व है। मुंहासे होने पर कुछ बातों का ध्यान रखना जरुरी हैं, जैसे :

  • यदि चेहरे पर एक के बाद एक मुंहासे निकलने लगें तब किसी भी तरह के स्क्रबर (Scrubber) का प्रयोग न करें, इससे मुंहासे बढ़ सकते हैं।
  • मुंहासे होने पर उसे हाथ या नाख़ून से न ही स्पर्श करें और न ही दबाएँ, इससे मुंहासों के निशान बन सकते हैं।
  • ज्यादा मात्रा में पानी पीयें इससे आपका पाचन तंत्र सही रहेगा।
  • अधिक मात्रा में बाहर का खाना या मसालेदार खाना न खायें।
  • पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  • यदि आप किसी कारण से मेकअप का प्रयोग करते हैं तो बाद में उसे अच्छे से जरुर निकाल दें।
  • मानसिक तनाव से दूर रहें और पूरे आठ घंटे तक सोयें।

निशान या दाग हटाने के घरेलू उपाय

चेहरे पर किसी भी तरह का निशान या दाग आपकी सुन्दरता और व्यक्तित्व को प्रभावित करता है।निशान या दाग केवल चेहरे पर ही नहीं बल्कि शरीर के किसी भी अंग पर हो सकता है। चूँकि चेहरा और शरीर का वो अंग जो कपड़ों से ढका हुआ नहीं होता, यदि इन सब जगहों पर कोई निशान या दाग दिखाई देता है तो व्यक्ति को बहुत परेशानी हो जाती है।कभी-कभी तो इन निशानों के कारण कुछ लोग अपना आत्मविश्वास भी खो देते है। निशान या दाग के कई कारण हो सकते हैं, जैसे :

  • जलने के कारण निशान या दाग हो सकते है।यदि किसी कारणवश शरीर का कोई अंग जल जाये तो उस जगह जलने का निशान हो जाता है।
  • कोई दुर्घटना के कारण जब गहरी चोट लगती है तब वही चोट आगे चलकर निशान का रूप ले लेती है।
  • मुंहासों के कारण भी चेहरे, गले, गर्दन या पीठ पर दाग या निशान बनते हैं।
  • किसी कीड़े-मकोड़े के काटने से भी निशान बन जाते हैं।
  • किसी तरह का खरोच भी दाग या निशान का कारण हो सकता है।
  • किसी प्रकार के ऑपरेशन या सर्जरी के कारण भी निशान हो सकता है।
  • गर्भावस्था के दौरान वजन तथा पेट बढ़ता है जिसकी वजह से पेट की त्वचा पर खिंचाव होता है और निशान बन जाते हैं।

निशान या दाग दूर करने के घरेलू नुस्खें

raw-ground-turmeric.jpg.653x0_q80_crop-smart

  1. हल्दी : किसी दुर्घटना के कारण लगने वाली गहरी चोट के निशान को मिटाने के लिए हल्दी बहुत ही असरदार है। एक जगह आवश्यकतानुसार पीसी हुई हल्दी लें और उसमें देशी घी मिलाकर अपनी उँगलियों की मदद से निशान पर लगायें।बीस मिनट बाद उसे धो लें। इस मिश्रण के निरंतर प्रयोग से आपके निशान कुछ ही दिनों में मिट जायेंगे।
  2. बेकिंग सोडा (Baking soda) : बेकिंग सोडा के प्रयोग से भी दाग या निशान को दूर किया जा सकता है। एक जगह एक चम्मच बेकिंग सोडा लेकर उसमें दो चम्मच पानी मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।अब उसी पेस्ट से लगभग एक मिनट तक प्रभावित क्षेत्रों पर बहुत ही हलके हाथों से मालिश करें।उसके बाद गुनगुने पानी से धो लें।आप इसका प्रयोग मुंहासों के निशानों पर भी कर सकते हैं लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि इस मिश्रण का प्रयोग सिर्फ प्रभावित क्षेत्र पर ही करना है, यदि चेहरे पर आप इसका प्रयोग करते हैं तो केवल निशानों पर ही प्रयोग करें।इसके निरंतर प्रयोग से निशान मिट जायेंगे।
  3. एलोवेरा (Aloe Vera) : एलोवेरा प्राकृतिक रूप से निशान हटाने का एक प्रभावी तरीका है।एलोवेरा में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं जो त्वचा की विभिन्न समस्याओं के साथ जलन, घाव और मुंहासों के दाग-धब्बों से मुक्ति दिलाता है।यह हर तरह के दाग-धब्बों को हल्का करने में मदद करता है।एलोवेरा का एक पत्ता लेकर उसे काटकर उसके अन्दर का रस निकाल लें।अब उसी रस को प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें।आप चाहे तो एलोवेरा के रस में टी ट्री तेल की कुछ बूँदों को मिलाकर भी उसका प्रयोग कर सकते है।
  4. सेब का सिरका : मुंहासों की वजह से होने वाले काले दाग-धब्बों के लिए सेब का सिरका बहुत ही असरदार है। सेब के सिरके का प्रयोग आप कई तरह से कर सकते हैं।एक गिलास पानी में सेब के सिरके की कुछ बूंदें डालें और स्वाद के लिए थोड़ा-सा शहद मिलाकर उसका सेवन कर सकते हैं।इसके निरंतर सेवन से आपकी त्वचा के दाग-धब्बे धीरे-धीरे मिट जायेंगे।इसके अलावा एक से दो चम्मच सेब के सिरके में बराबर मात्रा में नींबू कारस मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें, फिर उसमें रुई का गोला डूबोकर उसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें, इस प्रयोग से आपके दाग या निशान दूर हो जायेंगे।इसके अतिरिक्त एक चम्मच सेब के सिरके में एक चम्मच पानी मिलाकर उस मिश्रण को रुई के गोले की मदद से प्रभावित क्षेत्रों पर लगाने से भी दाग-धब्बे मिट जायेंगे।सेब का सिरका आपके चेहरे को गोरा करने में अहम् भूमिका निभाता है।
  5. नींबू : नींबू घाव के निशान को हटाने में कारगर है साथ ही यह त्वचा के मृत कोशाकाओं को हटाकर नई कोशाकाओं के विकास में सहायक होता है। घाव के निशान को हटाने के लिए आधे नींबू का रस निचोड़ लें और एक रुई के गोले की मदद से निशान पर हलके हाथों से गोल-गोल मालिश करें। इसके निरंतर प्रयोग से एक ही महीने में निशान हट जायेंगे।मुंहासों के निशान पर भी नींबू का रस असर करता है।लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि नींबू के रस का सीधा प्रयोग अपने चेहरे पर न करें बल्कि नींबू के रस में दुगुनी मात्रा में पानी या गुलाबजल मिलाकर ही चेहरे पर प्रयोग करें अन्यथा आपकी त्वचा को नुकसान पहुँच सकता है।
  6. शहद : किसी भी तरह के घाव के निशान को प्राकृतिक रूप से कम करने में शहद काफी फायदेमंद है। शहद मृत कोशाकाओं को हटाकर नई कोशिकाओं को विकसित करके निशान को हल्का करने में मदद करता है।थोड़ा-सा शहद लेकर उसे निशान पर नियमित रूप से लगाने से निशान हल्का होता है। बेहतर परिणाम के लिए आप शहद में नींबू का रस मिलाकर भी प्रयोग कर सकते हैं।इस मिश्रण के प्रयोग से निशान जल्दी हट जाते हैं।
  7. आलमंड (Almond) का तेल : आलमंड का तेल दाग को दूर करने में बहुत मदद करता है।एक कटोरी में आलमंड का तेल लें और फिर उसे अपने निशानों पर लगाकर हलके हाथों से मालिश करें।इसके रोजाना इस्तेमाल से निशान या दाग धीरे-धीरे मिट जायेंगे।
  8. लैवेंडर (Lavender) का तेल : लैवेंडर में एंटीसेप्टिक (Antiseptic) गुण है जो घाव के निशान को जल्दी ठीक करने में मदद करता है।जलने की वजह से होने वाले निशान पर लैवेंडर का तेल लगाने से निशान जल्दी ही ठीक हो जाता है।
  9. जौ, हल्दी और दही का मिश्रण : जौ, हल्दी और दही को बराबर मात्रा में मिलाकर एक मिश्रण तैयार कर लें।यह मिश्रण त्वचा के दाग को निकालने के साथ घाव भरने में भी मदद करता है।कीड़े का काटा हुआ हो या कोई चोट हो अथवा आग से जल गया हों, इन सभी क्षेत्रों में यह मिश्रण असरदार है। इस मिश्रण को लगाने से दर्द भी कम होता है और निशान भी मिट जाते हैं।
  • जैतून का तेल : गर्भावस्था के दौरान या किसी ऑपरेशन के कारण बनने वाले निशान के लिए जैतून का तेल बहुत ही प्रभावी है।एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) से भरपूर जैतून का तेल को हलके हाथों से मालिश करके इस तरह के निशानों से छुटाकारा पाया जा सकता है।
  1. मुलैठी : मुलैठी की जड़े किसी भी काले धब्बे को दूर करने में कारगर है। मुलैठी की जड़ों को पीस लें और उसमें शहद की कुछ बूंदें मिलाकर अपने चेहरे के प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें और पंद्रह मिनट बाद पानी से धो लें। इसके रोजाना प्रयोग से दो हफ़्तों में ही आपको फर्क नजर आने लगेगा।
  • अंडा : अंडे का सफेद भाग मुंहासों के निशान को कम करने में सहायक होता है। एक अंडा फोड़कर उसके सफेद भाग को अलग कर लें, फिर उसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें। दस से पंद्रह मिनट के बाद ठन्डे पानी से धो लें। इस उपाय से आपके मुंहासे भी कम होंगे साथ ही साथ मुंहासों के निशानों से भी आपको मुक्ति मिलेगी।
  • नीम : नीम अपने जीवाणु प्रतिरोधक गुण के कारण जाना जाता है। इसे प्राकृतिक एस्ट्रिंजेंट (Astringent) की तरह इस्तेमाल किया जाता है। नीम की पत्तियों को पीस लें, अब उसमें एक चम्मच मुल्तानी मिट्टी, आधा चम्मच हल्दी आवश्यकतानुसार कच्चा दूध मिलायें।इन सबको अच्छे से मिलाकर अपनी त्वचा और निशानों पर लगायें।इसके प्रयोग से हर किस्म का दाग मिट जायेगा।
  • पपीता : पपीते में पपेन (Papen) नामक एंजाइम (Enzyme) होता है जो मृत कोशिकाओं को निकालने में मदद करता है।इसके निरंतर प्रयोग से मुंहासों के दाग पूरी तरह दूर हो जाते हैं।पपीते के कुछ टुकडों को पीसकर उसका रस निकाल लें और प्रभावित क्षेत्रों पर उसे दस मिनट तक लगाकर रखें। निर्धारित समय के बाद अपना मुँह ठंडे पानी से अच्छे से धो लें।यह बहुत ही असरदार उपाय है।
  • व्यायाम : कभी-कभी शरीर पर सफेद और पतली रेखाएं देखी जाती है। इन रेखाओं को कम करने के लिए व्यायाम लाभदायक होता है। व्यायाम करने से मांसपेशियां और त्वचा मजबूत बनती हैं और इस तरह की रेखाओं की समस्या भी कम होने लगती है।

Yoga-Studio-Guelph-2

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों का प्रयोग करके आप हर तरह के निशान को हटा सकते हैं। यदि इन नुस्खों के प्रयोग के बाद भी आपके निशान न जाये तो किसी अच्छे त्वचा विशेषज्ञ की सलाह लेकर उपयुक्त जांच करवाएं। लेकिन साथ कुछ अच्छी आदतों को अपनाकर आप खुद को स्वस्थ और बेदाग रख सकते हैं, जैसे :

  • मुंहासे होने पर उसे हाथ या नाख़ून से न ही स्पर्श करें और न ही दबाएँ, इससे मुंहासों के निशान बन सकते हैं।
  • ज्यादा मात्रा में पानी पीयें इससे आपका पाचन तंत्र सही रहेगा।
  • अधिक मात्रा में बाहर का खाना या मसालेदार खाना न खायें।
  • पौष्टिक आहार का सेवन करें।
  • यदि आप किसी कारण से मेकअप का प्रयोग करते हैं तो बाद में उसे अच्छे से जरुर निकाल दें।
  • मानसिक तनाव से दूर रहें और पूरे आठ घंटे तक सोयें।
  • अपने रोजाना के खाद्य में कोई भी एक फल को जरुर शामिल करें।

निखरी और दमकती हुई त्वचा के लिए घरेलू उपाय

विश्व भर में लाखों लोग साफ और दमकती हुई त्वचा का ख्वाब देखते हैं। लेकिन बढ़ते उम्र के साथ या तो मुंहासों की समस्या होती हैं अथवा कभी अन्य तरह के दाग-धब्बे या निशान सुन्दरता और व्यक्तित्व को प्रभावित करते हैं। शरीर के हॉर्मोनल (Hormonal) असंतुलन, पोषक तत्वों की कमी, तनाव, प्रदूषण, सूर्य की किरणें आदि के प्रभावस्वरूप त्वचा की चमक खो जाती है।लेकिन कुछ आसान और प्राकृतिक घरेलू नुस्खों के द्वारा आप अपनी त्वचा में पुनः निखार ला सकते हैं।

चमकती त्वचा पाने के लिए घरेलू नुस्खें

shutterstock_141687079

  1. कच्चा दूध : चेहरे के रंगत को बरकरार रखने में दूध की अहम भूमिका है। दूध त्वचा पर जमी गंदगी को हटाकर उसमें निखार लता है। एक छोटी-सी जगह थोड़ा-सा कच्चा दूध लें और एक रुई के गोले की मदद से धीरे-धीरे उसे अपने चेहरे, गले, गर्दन पर लगायें। आप चाहे तो अपने हाथों पर भी दूध लगा सकते हैं।इसके रोजाना प्रयोग से आपकी त्वचा में निखार आ जायेगा और त्वचा चमकने लगेगी।
  2. बेसन : बेसन त्वचा को साफ करने में सहायक है।एक कटोरी में आवश्यकतानुसार बेसन लें और उसमें थोड़ी-सी मात्रा में पानी मिलाकर अपने चेहरे, गले, गर्दन और हाथों पर मले।दस से पंद्रह मिनट तक रहने दें और फिर ठन्डे पानी से धो लें।इससे आपकी त्वचा साफ हो जायेगी और इसके निरंतर प्रयोग से त्वचा की रंगत भी लौट आयेगी।
  3. बादाम : बादाम त्वचा की रंगत लौटाकर उसे गोरा बनाता है।गोरी और निखरी त्वचा के लिए तीन से चार बादाम को रातभर दूध में भीगोकर रखें। सुबह बादाम को महीन पीसकर अपने चेहरे, गले और गर्दन पर लगायें।आप चाहे तो अपने हाथों और पैरों पर भी इसका प्रयोग कर सकते हैं।आधे घंटे बाद पानी से अच्छे से धो लें।हफ्ते में तीन दिन इसका प्रयोग करने से एक ही महीने में आपको फर्क नजर आने लगेगा।
  4. पका पपीता : पका पपीता त्वचा के लिए बहुत ही अच्छा होता है।यह त्वचा को मुलायम और चमकदार बनाता है। पके पपीते के कुछ टुकड़े लेकर उसे अपने हाथों से अच्छे से मसल लें।फिर उसे अपने चेहरे, गले, गर्दन और बांहों पर लगायें।पैंतालीस मिनट बाद अच्छे से धो लें। इसके निरंतर प्रयोग से आपकी त्वचा में निखार आ जायेगा।
  5. टमाटर : टमाटर त्वचा के दाग-धब्बों को दूर करके उसे ताजगी और गोरापन प्रदान करता है।टमाटर को मसलकर उसके गूदे को अपनी त्वचा पर लगायें।इसके नियमित प्रयोग से कुछ ही दिनों में आपको बेदाग और गोरी त्वचा मिलेगी।
  6. सनस्क्रीन : जो लोग धूप में अधिक समय तक रहते हैं, उनकी त्वचा सूर्य की किरणों से प्रभावित होकर काली हो जाती है।ऐसे में उनके लिए सनस्क्रीन लोशन लगाना आवश्यक है।धूप में बाहर जाने के आधे घंटे पहले आप अपने चेहरे, गले, गर्दन, बांहों और शरीर के अन्य खुले अंशों अर्थात वो अंश जो कपड़ों से ढके हुए न हों, उन सभी जगहों पर अच्छे से सनस्क्रीन लोशन लगायें। दिन में कुछ घंटों के अन्तराल में ही इसका प्रयोग करते रहें।जैसे यदि आप सुबह 9 बजे इसे लगते है तो उसके बाद करीबन 12 या 1 बजे पानी से अच्छे से धोकर दुबारा लगाये, वापस 3 या 4 बजे फिर से लगायें।इससे सूरज की किरणें आपकी त्वचा को नुकसान नहीं पहुंचा पायेगी और आपकी त्वचा की रंगत बरकरार रहेगी।
  7. खीरा : कभी-कभी लापरवाही के कारण हमारी त्वचा काली पड़ जाती है। समय पर सनस्क्रीन लोशन न लगाने के कारण या रसोईघर में आँच के सामने ज्यादा समय तक रहने के कारण भी हमारी त्वचा पर कालापन छा जाता है।ऐसे में खीरा बहुत है फायदेमंद है।खीरा त्वचा की मृत कोशिकाओं को हटाकर नई कोशिकाओं के विकास में मदद करता है साथ ही त्वचा के काले धब्बों को भी हटाता है।खीरे के कुछ टुकडों को पीसकर उसका रस निकाल लें और उसे रुई के गोले की मदद से या अपनी उंगलियों की मदद से अपने चेहरे, गले, गर्दन और बाँहों पर अच्छे से लगायें।पंद्रह मिनट बाद पानी से धो लें। इसके निरंतर प्रयोग से आपकी त्वचा बेदाग, निखरी और चमकदार बन जायेगी।
  8. गाजर : गाजर का रस पीना या रोजाना एक गाजर खाना तो सेहत के लिए फायदेमंद है ही साथ ही इसका प्रयोग त्वचा पर करने से भी कुछ ही दिनों में आपको गोरी और दमकती त्वचा प्राप्त होगी।गाजर के कुछ टुकडों को दरदरा पीसकर उसे अपने चेहरे, गले और गर्दन पर लगायें। इसके प्रयोग से आपकी त्वचा में निखार आ जायेगी।
  9. गर्म पानी का भाप : गर्म पानी का भाप लेने से त्वचा के रोमछिद्र खुल जाते हैं जो त्वचा के लिए जरुरी है।इससे त्वचा का मैल और अतिरिक्त तेल भी निकल जाता है।एक बड़े बर्तन में एक लीटर पानी डालकर उबालें फिर आँच बंद करके उस पानी को अपने चेहरे के सामने रखें, इस दौरान अपने सिर और गर्म पानी के उस बर्तन को एक बड़े कपड़े से ढक लें ताकि भाप उड़ न जाये।अपने चेहरे को झुकाकर अच्छे से भाप लें।उसके बाद अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें और तेल रहित मॉइस्चराइजर (Moisturiser) को अपने चेहरे पर लगायें। इस प्रक्रिया को निरंतर करने से चेहरे साफ हो जाता है और कुछ ही दिनों में चेहरे पर निखार आ जाता है।
  • केसर : केसर प्राकृतिक रूप से चेहरे पर निखार लाता है और इसके निरंतर प्रयोग से चेहरा दमकने लगता है। एक चम्मच दूध में केसर की कुछ पंखुड़ियाँ डालकर रातभर भीगोकर फ्रिज में रख दें।सुबह मुँह धोकर वही केसर वाले दूध को अपनी उँगलियों की मदद से अपने चेहरे, गले और गर्दन पर लगायें।पच्चीस मिनट बाद पानी से धो लें।इसके रोजाना प्रयोग से आपकी त्वचा दमकने लगेगी और उसमें निखार आ जायेगा।
  • मेथी के बीज : मेथी के बीजों में ऐसे एंजाइम्स (Enzymes) पाए जाते हैं जो त्वचा की रंगत को फीका पड़ने नहीं देता। थोड़े से दूध में एक चम्मच मेथी के बीज रातभर भीगोकर रखें।सुबह उसी को महीन पीसकर उबटन तैयार करके अपने चेहरे, गले, गर्दन और बांहों पर लगायें।पच्चीस से तीस मिनट बाद अपने चेहरे को हाथों से स्क्रब (Scrub) करते हुए पानी से धो लें।इससे दाग-धब्बे भी मिट जायेंगे और त्वचा की रंगत भी वापस आ जायेगी।
  • चीनी : चीनी आपके चेहरे से मैल हटाकर उसमें निखार लाता है।एक जगह थोड़ी-सी चीनी, थोड़ा-सा नींबू का रस और ओलिव (Olive) तेल की कुछ बूंदें डालकर उसे अच्छे से मिलाकर एक उबटन तैयार कर लें। फिर बहुत ही हलके हाथों से अपने चेहरे, गले, बांहों और अन्य अंगों पर उस उबटन से मालिश करें।इससे आपकी त्वचा की रंगत लौट आयेगी और आपको चमकदार, निखरी हुई त्वचा प्राप्त होगी।
  • एवाकाडो :एवाकाडो में आवश्यक फैटी एसिड होता है जो त्वचा को मजबूत, मुलायम और लचीला बनाने में मदद करता है। बराबर मात्रा में दही, एवाकाडो और शहद लें और अच्छे से मिलाकर अपनी त्वचा पर लगायें। बीस मिनट बाद गुनगुने पानी से धो ले।इसके प्रयोग से त्वचा में निखार आता है।इसके अलावा आप बराबर मात्रा पपीता, एवाकाडो और ककड़ी के गूदे में एक चम्मच मलाई मिलाकर उबटन तैयार कर लें।फिर इस उबटन को अपनी त्वचा पर लगाकर बीस मिनट के लिए छोड़ दें। निर्धारित समय के बाद गुनगुने पानी से धो लें।एवाकाडो का इस तरह से इस्तेमाल करने से भी त्वचा की रंगत वापस आ जाती है।
  • सूरजमुखी के बीज : आधे कप दूध में सूरजमुखी के कुछ बीज रातभर भीगोकर फ्रिज में रखें।सुबह इन्हें पीसकर एक पेस्ट तैयार कर लें और उसमें केसर की कुछ पंखुड़ियाँ डालकर आधे घंटे के लिए छोड़ दे। फिर उसे अपनी त्वचा पर लगायें।गोरी और निखरी हुई त्वचा पाने के लिए इसका निरंतर प्रयोग करें।

making-the-skin-glow-using-photoshop

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप बेदाग, निखरी और दमकती हुई त्वचा पा सकते हैं। लेकिन साथ ही यह जानना भी आवश्यक है कि त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए अपने शरीर को भी अन्दर से स्वस्थ रखना जरुरी होता है, जिसके लिए नीचे दिए गए बिन्दुओं पर गौर फरमाएं :

  • शरीर के भीतर से टॉक्सिन (Toxin) और अन्य व्यर्थ पदार्थों को बाहर निकालने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी का सेवन करना आवश्यक है।
  • ग्रीन टी (Green Tea) का सेवन भी शरीर और त्वचा दोनों के लिए ही लाभदायक है। ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) होता है जो टॉक्सिन (Toxin) को बाहर निकालकर शरीर को अन्दर से स्वस्थ रखता है साथ ही यह त्वचा की मृत कोशिकाओं को भी हटाता है।
  • बाहर से आने के बाद अपना मुँह अच्छे से धोएं ताकि उस पर लगें धूल हट जाएँ।
  • रात को सोने जाने से पहले अपना मुँह अच्छे से धो लें ताकि पानी रातभर आपके चेहरे को नमी प्रदान करता रहें।मुँह धोने के बाद आप तेल रहित मॉइश्चराइजर (Moisturiser) का प्रयोग भी कर सकते हैं।
  • संतुलित मात्रा में सेहतमंद और पौष्टिक भोजन का सेवन करने से उसका परिणाम आपके चेहरे पर भी नजर आता है। पौष्टिक आहर आपके शरीर को अन्दर से स्वस्थ रखता है और आपका चेहरा भी खिला-खिला दीखता है।
  • अधिक मात्रा में हरी पत्तेदार सब्जियां और रोजाना एक फल का सेवन जरुर करें।इन सभी में भरपूर मात्रा में पानी और पोषक तत्वों के साथ एंटीऑक्सीडेंट (Antioxidant) भी मौजूद हैं जो हमारी प्रतिरक्षा तंत्र को बेहतर बनाकर शरीर को भीतर से स्वस्थ रखता है।
  • जितना हो सके तेल और मसालेदार खाने से दूर रहें क्योंकि इस तरह का खाना हजम होने में मुश्किल होता है और इससे हमारा स्वास्थ्य भी बिगड़ जाता है जिसका प्रभाव हमारे चेहरे पर दिखने लगता है।
  • मद्यपान और धूम्रपान से परहेज करें।
  • मानसिक तनाव और चिंता से खुद को दूर रखें तथा दिन में आठ घंटे तक सोये, इससे हमारे शरीर को आराम मिलता है और हमारी त्वचा में भी निखार आ जाता है।
  • नियमित रूप से व्यायाम करने से आपका शरीर और स्वास्थ्य सही रहेगा तथा त्वचा में भी नई ताजगी और निखार छा जायेगा।

झुर्रियाँ हटाने के घरेलू नुस्खें

झुर्रियाँ उम्र बढ़ने के साथ की ही एक स्वाभाविक प्रक्रिया है लेकिन कोई भी व्यक्ति जल्दी बूढ़ा नहीं होना चाहता, अतः यह स्वाभाविक प्रक्रिया ही लोगों के लिए कष्टप्रद हो जाता हैं।परन्तुउम्र बढ़ने के अलावा भी झुर्रियों के अन्य कई कारण हो सकते हैं।कई बार चिकित्सकीय कारणों से झुर्रियाँ आ सकती हैं, सूरज की किरणों और प्रदूषण के अतिरिक्त संपर्क में जाने से भी झुर्रियाँ पैदा हो सकती हैं।तली-भुनी, ज्यादा मसालेदार चीजों का सेवन करने से भी झुर्रियाँ हो सकती हैं।कई बार अत्यधिक शराब पीने और धूम्रपान करने से भी झुर्रियाँ आ जाती हैं।ये झुर्रियाँ गले, चेहरे, आँखों के नीचे जैसी जगहों पर दिखाई देती हैं। लेकिन कुछ आसान, प्राकृतिक और घरेलू उपायों द्वारा झुर्रियों को नियंत्रित किया जा सकता हैं तथा उससे निजात भी पाया जा सकता हैं।

wrinkle-hataye

झुर्रियाँ दूर करने के घरेलू उपाय

  1. तेल की मसाज : यदि आप झुर्रियों से परेशान हैं तो आप झुर्रियाँ कम करने के लिए अपने चेहरे, गले पर अपने पसंद के तेल से मसाज कर सकते हैं।जैतून का तेल, नारियल तेल अथवा विटामिन ई (Vitamin E) के तेल का प्रयोग कर सकते हैं।इस बात का जरुर ध्यान रखें कि आप जिस भी तेल प्रयोग करें, वो आपके चेहरे के लिए उपयुक्त हों।तेल का प्रयोग रात को करें जिससे रातभर आपकी त्वचा को पोषण मिलता रहे।सुबह उठकर आप अपने फेसवाश (Facewash) से अपना चेहरा अच्छे से धो लें।इससे आपकी झुर्रियाँ कम हो जायेगी।
  2. दही : झुर्रियाँ हटाने के लिए एक जगह एक चम्मच दही, एक चम्मच शहद, एक चम्मच संतरे का रस और आधे पके हुए केले को मिलाकर एक उबटन तैयार करें। उसके बाद उस उबटन को अपने चेहरे, गर्दनऔर गले पर लगायें और बीस मिनट तक सूखने के लिए छोड़ दें।बीस मिनट बाद एक हलके गर्म कपड़े से चेहरे को साफ कर लीजिए तथा उसके बाद अपने पसंदीदा मॉइश्चराइज़र (Moisturiser)लगा लीजिए जिससे आपके चेहरे की नमी बाहर न निकले और वो बरकरार रहे।दही और शहद आपके चेहरे को साफ करने के साथ आपकी त्वचा को कसते हैं, संतरे का रस झुर्रियों पर असर करता है और केला त्वचा को नमी प्रदान करता है।
  3. नींबू का रस :झुर्रियों से छुटकारा पाने के लिए नींबू एक असरदार और प्राकृतिक उपाय है जो त्वचा को साफ करके उसे कसता है।नींबू के रस में शहद मिलाकर अपने चेहरे, गर्दन और गले पर लगाये।कुछ देर तक रखने के बाद अपना चेहरा धो लें और मॉइश्चराइज़र (Moisturiser) लगा लें।इससे आपकी झुर्रियाँ दूर हो जायेगी।
  4. अंडे का सफेद भाग :झुर्रियों के इलाज के लिए अंडे का सफेद भाग एक बेहतरीन उपाय है।उम्र बढ़ने के साथ त्वचा और शरीर के अन्य भाग ढीले हो जाते हैं और ऐसे में अंडे का सफेद भाग बहुत ही लाभदायक है। पहले आप एक अंडा तोड़कर बहुत सावधानी से उसके सफेद भाग को अलग कर लीजिए, फिर उसे अपनी उँगलियों की मदद से अपने चेहरे पर लगायें।दस मिनट तक रखने के बाद गुनगुने पानी से उसे धो लें। नियमित रूप से इसका प्रयोग करने से झुर्रियों की समस्या से छुटकारा मिल जायेगा।
  5. विटामिन ई (Vitamin E) युक्त उबटन : आप विटामिन ई का प्रयोग घर पर भी कर सकते हैं।किसी भी मेडिकल स्टोर (Medical Store) पर आपको विटामिन ई की कैप्सूल्स (Capsules) मिल जायेगी. एक मध्यम आकर का बर्तन लेकर उसमें विटामिन ई की दो कैप्सूल्स तोड़कर उसमें से तेल निचोड़ लें, और कैप्सूल का ऊपरी भाग फेंक दें, फिर उसमें आधा चम्मच शहद, आधा चम्मच नींबू का रस और दो चम्मच दही मिलाकर एक उबटन तैयार कर लें।उसके बाद उस उबटन को अपने चेहरे, गर्दन और गले पर अच्छे से लगाकर पन्द्रह से बीस मिनट के लिए छोड़ दें, फिर गुनगुने पानी से अपना चेहरा धो लें।झुर्रियाँ हटाने के लिए इसका निरंतर इस्तेमाल करें. झुर्रियाँ हटाने में यह उबटन बहुत ही लाभदायक है।
  6. पका हुआ पपीता : पके हुए पपीते को अपने हाथ से अच्छे से मसल लें और उसे अपने चेहरे, गर्दन और गले पर लगायें।पंद्रह से बीस मिनट तक उसे लगायें रखें और फिर पानी से धो लें।ये उपचार निरंतर करने से मुहासे खत्म हो जाती हैं और झुर्रियाँ भी मिट जाती हैं, साथ ही चेहरे पर निखार आ जाता है।
  7. एलोवेरा (AloeVera) : एलोवेरा त्वचा के लिए बहुत ही असरदार और लाभदायक है।एलोवेरा का एक पत्ता काटकर उसके अन्दर का रस निकाल लें और उँगलियों की मदद से उस रस को अपने चेहरे, गर्दन और गले पर लगायें।आप चाहे तो एलोवेरा का रस अपने हाथों और पैरों पर भी लगा सकते हैं।अत्यधिक धूप और प्रदूषण के कारण हमारे चेहरे और शरीर के खुले हुए भाग काले पड़ जाते हैं, जिसे अंग्रेजी में सन टैन (Suntan) कहते है।एलोवेरा इस कालेपन को हटाने में मदद करता है साथ ही यह त्वचा को जरुरी पोषण प्रदान करते हुए उसे स्वस्थ रखता है। इसके रोजाना प्रयोग से चेहरे की झुर्रियाँ मिट जाती हैं।
  8. गाजर का रस : रोजाना एक गिलास गाजर का रस पीने से आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है, और आपकी त्वचा में भी निखार आ जाता है।गाजर में पाये जाने वाले विटामिन (Vitamins) और मिनरल (Minerals) आपको अन्दर से स्वस्थ रखता है, जिसका प्रभाव आपके चेहरे पर भी पड़ता है, साथ ही निरंतर इसके सेवन से झुर्रियाँ भी खत्म हो जाती हैं।
  9. टमाटर : टमाटर में उम्र प्रतिरोधक (Anti-ageing) गुण हैं।चेहरे की झुर्रियों को हटाने का यह एक बेहतरीन उपाय है।रोजाना एक टमाटर काटकर चेहरे और झुर्रियों से प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें और हलके हाथों से मसाज करें। ऐसा करने से चेहरा साफ होता है और झुर्रियाँ भी दूर हो जाती हैं।
  • खीरा : खीरा प्रभावी ढंग से झुर्रियाँ मिटाता है।एक खीरे का आधा भाग लेकर उसे छील लें, फिर उसे पीसकर उसका रस निकाल लें।उस गूदे सहित रस को अपने आँखों, चेहरे, गले और गर्दन पर लगायें और पंद्रह मिनट तक रखने के बाद अपना चेहरा धो लें।आँखों के नीचे और चेहरे की झुर्रियों के लिए खीरा बहुत ही फायदेमंद है, साथ ही यह त्वचा को भी साफ रखता है।
  1. अनानस : अनानस का रस भी झुर्रियों को दूर करने में सहायक है। अनानस के कुछ टुकड़े लेकर उसे मसलकर उसका रस निकाल लें।फिर उस गूदे सहित रस को अपने चेहरे और झुर्रियों से प्रभावित क्षेत्रों पर लगायें। पंद्रह मिनट बाद अच्छे से धो लें।इसके प्रयोग से झुर्रियाँ दूर होती हैं।
  2. हल्दी :हल्दी हर किसी के रसोई में आसानी से उपलब्ध एक पदार्थ है जिसका आमतौर पर खाने में प्रयोग होता है।हल्दी में जीवाणु प्रतिरोधक गुण है और इसके प्रयोग से आपकी त्वचा स्वस्थ रहती है और चेहरे पर निखार आ जाता है। एक मध्यम आकर का बर्तन लें।उसमें दो चम्मच गुलाब जल, दो चम्मच कच्ची पीसी हुई हल्दी का रस और दो चम्मच शहद मिलाकर एक उबटन तैयार कर लें।उस उबटन को अपने चेहरे और आँखों के आसपास लगायें. इससे आपकी झुर्रियाँ दूर हो जायेगी।बेहतर परिणाम के लिए हल्दी से बने इस उबटन का इस्तेमाल हर सप्ताह करें।
  • तनाव से दूर रहें : तनाव और चिंता की वजह से चेहरे पर और आँखों झुर्रियाँ आ जाती हैं साथ ही आँखों के नीचे काले घेरे भी उत्पन्न हो जाती हैं।इसलिए जितना हो सके खुद को तनाव और चिंता से दूर रखें और अपनी जिंदगी को खुलकर जियें।
  1. बेसन :जिस तरह साबुन के प्रयोग से आपके शरीर का मैल दूर हो जाता हैं, उसी तरह बेसन के प्रयोग से आपका चेहरे का मैल दूर हो जाता है।गुनगुने पानी में आवश्यकतानुसार बेसन घोल कर एक लेप बना लें और उस लेप को अपने चेहरे पर लगा लें। फिर सूखने के बाद अपना चेहरा अच्छे से धो लें।उसके बाद एक चम्मच शहद लेकर अपने चेहरे पर अच्छे से लगायें और बीस मिनट बाद धो लें।इससे आपके चेहरे की झुर्रियाँ दूर हो जायेगी।

besan-flour

उपर्युक्त घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप अपने झुर्रियों को मिटाकर अपने उम्र को नियंत्रण मरख सकते हैं।यदि किसी चिकित्सकीय प्रभाव के कारण आपके चेहरे पर झुर्रियाँ आती हैं अथवा इन सब उपायों से भी यदि झुर्रियाँ दूर नहीं होती तो आप किसी अच्छे त्वचा विशेषज्ञ (Dermatologist) की सलाह लें।पहले से ही यदि कुछ बातों का ध्यान रखा जाये तो झुर्रियों की समस्या उत्पन्न ही नहीं होगी, जैसे :

  • पोषण एवं नमी के अभाव के कारण झुर्रियाँ आ जाती हैं।इसलिए शरीर और त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए सही आहार की जरुरत है, साथ ही पानी पीना बहुत ही फायदेमंद है। सुबह उठकर अपने चेहरे और आँखों को ठन्डे पानी से अच्छे से धोये और उसके बाद दो से तीन गिलास पानी भी पीयें। चेहरे और आँखों को धोने से नमी बरकरार रहेगी और खाली पेट पानी पीने से आपका हाजमा सही रहेगा।दिनभर में कम से कम सात से आठ गिलास पानी जरूर पीयें।सही समय पर अच्छा खाना खाएँ, दिन में एक फल जरुर खाएँ, प्रोटीन (Protein), मिनरल (Minerals), कार्बोहाइड्रेट्स (Carbohydrates), फाइबर( Fibre) युक्त भोजन का सेवन करें।हरे, पत्तेदार सब्जियों का सेवन करें।
  • अत्यधिक धूप भी हमारे चेहरे और आँखों को प्रभावित करता है।इसलिए धूप में निकलने के आधे घंटे पहले अपने चेहरे, गले, गर्दन और शरीर के अन्य खुले भागों पर अच्छे से सन्सक्रीम (Suns cream) या लोशन लगायें तथा निकलते समय धूप-चश्मा या सनग्लास(Sunglass) जरुर पहनें।
  • दिन में कम से कम आठ घंटे जरुर सोये।अच्छी नींद आपकी त्वचा, आँखों और शरीर के लिए लाभदायक है।
  • झुर्रियाँ हटाने के लिए कुछ व्यायाम हैं जिसे निरंतर करने से रक्त-प्रवाह बढ़ता है, चेहरा कसता है, चेहरे की मांसपेशियाँ मजबूत होती हैं और त्वचा भी मुलायम हो जाती है।आप किसी अच्छे योगा संस्थान में जाकर या किसी योगा विशेषज्ञ की सलाह लेकर उपयुक्त योगा करके अपना उम्र घटा सकते है।
  • अत्यधिक धूम्रपान करना और शराब पीना सेहत और त्वचा दोनों के लिए ही नुकसानदेह है। इसलिए झुर्रियों की समस्या से निजात पाने के लिए धूम्रपान और मद्यपान करना छोड़ दें।

Acne Ka Ilaz Hindi Me

Acne (muhase) ek aam pareshani hai. Isse bahut se log grasit hote rahte hai. Iske hone ka karan , hai agar aapke chehre par gandgi jama ho jati hai ya aapki skin bahut oily hoti hai.
Aaj ham aapko acne ( muhaso ) ka ilaz hindi me bata rahe hai .
Aap in tareeko ko apna ke bedag twacha ( skin ) paa sakte hai , aur aapka chahera khoobsoorat bana sakte hai

1 – kheere ka upyog –


Kheera bahut hee asarkarak hai , acen ke ilaz me .

Vidhee ( process ) –
Kheere ko pees kar use apne chahere me lagae aur ek ghante ( onne hours ) tak lage rahne de aur fir thande pane ( cold water ) se dho le .
Acen ke ilaz ka ye prayog karne se aapke acen bahut jaldi mit jaege aur aapki twacha ( skin ) bedag ho jaegi .
2 – Gulab jal aur neebu ka ras ( use rose water and lemon juice ) –


Ye bahut hi jada upyogi cheej , ise roj use karne se aapko bahut hi jada asar hoga .
Aaie acen ke hindi ilaz me ham aapko ye ek aur treatment bata rahe hai

Samagree ( ingreadients ) –
Gulab jal ( rose water )
Neebu ( lemon )

Vidhee ( process ) –
Ek chammach ( spoon ) neebu , aur do chammach gulab jal ko aapas me mila ke chahere me lagae aur lagbhag 25- 30 minut tak laga rahne de , aur fir sade pane ( simple water ) se poch le .
Aisa roj din me ek bar kare jisse aapka chahera khil jaega aur acen se mukti milegi .
Ye acen ka ilaz sabse acha hai .

3 – santare ke chilke aur besan ka upyog –


Santara khane me jitna jada upyogi hota hai utna hi jada useful uska chhilka hota hai .
Aaj ham aapko batate hai ki jis chhilke ko santare se nikaal ke aap fek dete the wo acen ke ilaz ke liye kitna acha hai .

Samagree ( ingreadients ) –
Santare ka chilka
Besan
Gulab jal ( rose water )
Vidhi ( process ) –
Santare ke chikle ko aur besan ko aapas me gulab jal ki sahayta ( help ) se milae aur uska lep ( paste ) bana le , aur chahere me lagae .
Din me aisa ek bar jaroor kare aur aisa karne se aapki twacha ( skinn ) nikhar ( glow ) jaegi aur aap khoobsoorat ho jaege .

4 – namak aur neebu ka use ( use of salt and lemon ) –
Ye ek aisa treatment hai jo acne ka desi ilaz me best hai , aur aasaan bhi hai .
Isko upyog karne se aapko bahut jaldi acne se chutkara ( free ) miilega .
Samagree ( ingreadients ) –
Namak aadha chammach ( half spoon salt )
Lemon juice 2 chammach ( 2 spoon lemon juice )

Vidhi ( process ) –
Aadha chammach ( spoon ) namak aur , 2 chammach lemon juice mila ke chahere ( face ) me lagaye aur ise 20 – 30 minut tak laga rahne de , fir ise halke hatho se dho le .
Aisa roj kare asar aapko khud hi dikh jaega

5 – gobhi ke patte ka use kare ( use of cabbage leaves ) –
Gobhi jaise khane me faydemand hoti hai usi tarah ye acne ke ilaz ke lie bhi bahut jada asarkarak hai .
Aaj ham apko acne ke desi ilaz me ek aur tareeka bata rahe hai jisse aap apne chahere ka acne hata sakte hai .

Samagree ( ingreadients ) –
Gobhi ke patte ( cabbage leaves ) –

Vidhee ( process ) –
Gobhi ke patto ko pees kar ise chahere me lagae aur lagbhag aadhe ghante ( half hour ) tak laga rahne de , aisa karne se aapke chahere ke acne door ho jaege , aur aapki skin saaf ( clean ) ho jaegi .
6 – neem ke patte ka pryog –
Neem ek bahut hee gunkaaree ( qualityful ) aaushdhee hai, neem ko khaane aur lagane dono me use kare.
Roj subah 7-8 neem ke patte le aur kha le isse khoon ( blood ) ki safai hotee hai , aur chahere me nikhaar ( glow ) aata hai .
Neem ko chahere me bhee lagae. Neem ki pattiyo ( neem leaves ) ka paste banae , paste banane ke lie aap pani ya fir gulab jal ( rose water ) ka upyog kar sakte hai, aur ise chahere me achee tarah lagae aur kuch samay ke bad ise dho le jisse aapko acne me kaafi aaram milega , ye prayog din me kam se kam ek baar jaroor kare .

7 – jayfal aur gaay ka doodh ( jaayfal and cow milk ) –
Samagree –
Jaayfal
Gay ka doodh

Vidhee ( process ) –
Jaayfal aur gay ( cow ) ke doodh ko lep ( paste ) bana le aur ise ubtan kee tarah chahere me ghise aur aadhe ghante tak aisa karte rahe fir saaf panee me is dho le isse apko rahat milegee .

8 – baking sode aur sahad ka use ( use of baking soda and honey ) –
Ye ek ecne ka ilaz ka bahut acha tareeka hai .
Aaie ham aapko batate hai ki isme kaun kaun see cheeje lagegi aur isko kaise use karna hai .

Samagree ( ingreadients ) –
Baking soda ( one spoon )
Sahad
Warm water

Vidhi ( process ) –
Thoda sa garam pani kare aur usme sahad ( honey ) milae aur ek chammach ( spoon ) baking soda mila de , fir ise chahere ( face ) me lagae aur lagbhag 10 minut tak laga rahne de aur fir halke halke dhoe .
Aisa rojana kare aapko acne se chutkara milega .

Hamne aapko yaha acne ka ilaz hindi me bataya hai .
Ab kuch aisee saawdhaniya ( precautions ) bata rahe hai hai jinhe aap jaroor apnaae
1 – khoob paanee piye – jada pane peene se aapke sharer ke gande tatwa bahar nikal jaege jisse chahere ( skin ) me chamak ( glow ) aaega .
2 – fast food khhane se bache – market mil rahe teliy ( oily ) food se bache aur jada mirchee aur tel na khhae .

    सफ़ेद बालो का इलाज़

हमारे सिर के बाल बिना समय के  ही सफ़ेद हो जाते हैं. यह हमारे लिए एक बड़ी समस्या बन चुकी है. सफ़ेद होने के कारण हम बालों में कलर करने लगें है. ये कलर  हमारे बालों को जड़ से कमजोर बना देते हैं. हमारे कई घरेलू  उपाए है, जो सफ़ेद होने से हमारे बालों को रोक सकते हैं.

कमाल आवलें का (Kamaal aawle ka)-

आंवला   बहुत ही गुणकारी है. हमें इसे नियमित रूप से प्रयोग करें तो हमारे सेहत के आलावा ये आंवला  हमारे बालों को सफ़ेद होने से रोकता है. हम जब मेंहदी  लगाते हैं तो आवले को भीगो दें, और उसी पानी से मेहंदी लगाएं. ये आवले का घोल हमारे बालों को कंडीशनिंग (conditioning) करते रहते हैं. या फिर आवले को बारीक़ काट लें, नारियल के तेल में गर्म कर लें और सिर पर लगाएं, इसे बाल सफ़ेद होने से रोकते हैं.

छोटी मिर्च का उपयोग –

काली मिर्च हमारे खाने के स्वाद को बढाती है और साथ में सफ़ेद बाल भी काले होते हैं. काली मिर्च के दाने को हम पानी में उबाल लें और उस पानी को बाल धोने के बाद सिर में डाले, हमेशा करते रहिए आसर जरूर दिखेगा.

काफी और काली चाय बालों को काला  बनाती हैं (Coffee or black tea)-

हम अपने बाल सफ़ेद देख कर परेशान होते है, तो ब्लैक टी(black tea ) और काफी का प्रयोग करें, जो बाल सफ़ेद हो गये हैं उनको हम काली टी और काफी के अर्क से धोयेंगे  तो जो हमारे बाल सफ़ेद हो चुके हैं, वे फिर से कालें हो जाएंगे. यह प्रयोग दो दिन में एक बार जरूर करें.

एलोवीरा में है गजब का जादू (Elovera ka kaamal)

हम अगर अपने बालों में एलोवीरा जेल लगाये तो इससे हमारे बालों का झड़ना और बाल सफ़ेद होना रुक जाएगा . एलोवीरा के पेस्ट में आप नीबू का रस मिला कर लगाएं. 

बालों को काला करने के लिए घरेलु उपाए (Balon ko kala krne ke upaye)-

घने और काले बाल हमारी चाहत हैं. हर महिला को यह अच्छा लगता है. हमें  अपने  पुराने तरीकों से अपने बाल काले और घने बनाने की कोशिश करनी चाहिए. समय से पहले जो हमारे सिर के बाल सफ़ेद हो जाते हैं. इसका कारण है हम जो बाजार में मिलने वाले रासायनिक रंग लगाते हैं. और अपने बालों में उसका नुकसान पहुंचाते हैं.  अगर हम इनकी जगह घरेलु उपचार करें तो बालों को  सुन्दर और रेशमी आकर्षण बनाकर  सफ़ेद होने से रोका जा सकता है. हमारे जो बालों की बड़ी समस्या ये है की वो जल्दी सफ़ेद हो जाते है , यह महिलाओं की बेसिक समस्या हो सकती है. या फिर ये कारण भी हो सकता है हमारी असंतुलित जीवन का.  हमारे हिमोग्लोबिन(hemoglowin) के कमी के कारण भी हमारे बाल समय से पहले ही सफ़ेद  होने लगते हैं.

असमय बाल की सफेदी अन्य कारक  आनुवंशिकता  शरीर में रासायनिक परिवर्तन-

आज कल हमारे वायु में प्रदूषण बहुत ज्यादा हो गया है, ये भी समस्या हमारे बालों में हो सकती है. भावनात्मक चिंता का होना भी बालों को नुकसान पहुंचता  है. तनाव आदि प्रमुख कारण हैं.

हर्बल  का प्रयोग (harbal ka pryog)

हमारे बालों के लिए हर्बल का सेवन करना बेहतर है, जब हम बाजार से डाई बालों को डाई करने के लिए कई तरह का सामान लेते  हैं ताकि  हमारे बाल सफ़ेद न दिखाई दें. यह रासायनिक शेम्पू (shampoo) और लोशन(lotion) हम अपने सफ़ेद बालों में इस्तेमाल करतें रहते हैं.  लम्बे समय तक यह शेम्पू और लोशन हमारे बालों को नुकसान  पहुंचाते हैं. अगर हम अपने बालों को  काले घने और लम्बे रखना चाहते हैं तो केमिकल यूक्त रंग या शेम्पू  से अपने बालों को  बचाइए

प्राक्रतिक उपचार आपके लिए एक बेहतर विकल्प है. इस विकल्प को आप अपने घर में ही मिलने वाली सामग्री द्वारा अपना सकती हैं. घने काले चमकदार बाल बना सकती हैं.

इसके लिए आप आधा लीटर पानी ले उसमें दो चम्मच आवंला पाउडर (aanwla powder ) मिलाकर आधा नीबू भी उसमें निचोड़ दीजिये और इस पानी से रोज आप अपने बालों को नियम बना कर धोएं.  आप यह नियम  न तोड़े कुछ दिन बाद ही आपके सफ़ेद बाले काले घने मुलायम चमकदार दिखने लगेंगे.

मुलेठी और आवंले का रस (Mulethi or awnle ka ras)-

एक गिलास मुलेठी ले उसमें एक लीटर आवंले के रस को  धीमी आंच  पर पकने दें, जब तक सारा पानी न उड़ जाए. उसके बाद अच्छे से इस मिश्रण से रोजाना नहाते समय आप अपने बालों को अच्छे तरह धोएं. आपके बाल चमक उठेंगे.

 

आम की पत्तियां (Aam kii pattiyan)-

बालों के लिए आम की पत्तियां जो हैं ,उनको आप अच्छे से साफ़ करके पीस लें और पेस्ट बनाकर बालों पर लगाएं और 15 से 20 मिनट बाद आप पानी से धो लें. ऐसा करने से आपके बाल काले घने चमकदार हो गाएंगे .

आम की पत्तियां कुछ कच्चे आम भी ले लीजिए इनकों भी आप तेल में पीस कर धूप  में सुखाएं और इस पेस्ट को लगालें फिर बालों कि धो दें. इसको करने से बाल काले और सुन्दर होते हैं.

महेंदी (Mehndi)-

बालों को सफ़ेद होने से रोका जा सकता है. ताजी महेंदी का पेस्ट बनाये पत्ते वाली मेहंदी उसमे 3 चम्मच करोंदे का पाउडर एक चम्मच काफी थोड़ी से पानी  में मिलाकर इस पेस्ट को आप बालों में लगा कर दो घंटे तक छोड़ दें और उसके बाद साधारण शेम्पू से धो लें. यह बालों में रंग लाता है.

नारियल या आवंला हो बादाम हो तेल में गर्म कर के बालों की जड़ों में लगाकर मालिश  करें, ऐसा करने से हमारे बाल काले हो सकते हैं.

 

करी पत्ती (Kari patti)-

घर में बनने वाले भोजन में आप करी पत्ती का सेवन करें. इससे हमारे बाल काले होते हैं.  यह करी पत्ती हमारे लिए लाभदायक है. भोजन का स्वाद बढाती हैं और हमारे बालों को सफ़ेद होने से रोकती है.

हम अपने खान पान का ध्यान रखें इससे भी बालों में फर्क पड़ता है.

 

 

 

 

 

चर्म रोग का इलाज (charm rog ka ilaj)

चर्म रोग का इलाज (charm rog ka ilaj)

 

आपको अगर चर्म रोग है, तो इस बीमारी के कारण कई तरह की परेशानी झेलनी पड़ती है . बारिश  या फिर गर्मी के मौसम में इस तरह की समस्या  अधिक होती है. इस मौसम में हमें अपने त्वचा का बचाव करना बहुत जरुरी है नही तो चर्म रोग होने की संभावना हो जाती है . हम आपको चर्म रोग से बचने के लिए कुछ विशेष जानकारी दे रहे हैं.

चर्म रोग के कारण:-

  • केमिकल चीजों का ज्यादा प्रयोग करना जैसे साबुन,चुना और डिटर्जेंट .
  • पेट में अधिक समस्या होने से भी चर्म रोग होता है .
  • रक्त विकार होने की वजह से भी यह होता है
  • महिलाओं में भी यह समस्या हो जाती है अगर उनको सही समय पर मासिक धर्म (periods) न आये .
  • जो मरीज पहले से ही चर्म रोग से ग्रसित है उसके कपडे पहनने से भी ये रोग हो सकता है .

 

 

चर्म रोग के लक्षण :-

  • इस समस्या में चेहरे या स्किन पर छोटे छोटे दाने निकलने लगते है .और धीरे धीरे ये लाल रंग में बदल जाते है . फिर उसमे खुजली होने लगती है और ज्यादा खुजली होने पर इसमें जलन भी होने लगती है . ये दाग पूरे शरीर  पर हो जाता है फिर हल्का बुखार हो जाता है .

 

चर्म रोग से बचने के घरेलु उपाए-

 

जैसे कि गेंदा का फूल  ये फल गहरे पीले रंग और नारंगी रंग का होता है. यह हमारी त्वचा की समस्याओं के लिए प्रभाव शाली घरेलू  उपाए है. यह छोटे मोटे कटे  हुए शरीर पर या जलने या फिर मच्छर के काटने से रुखी त्वचा आदि के लिए शानदार घरेलू  उपचार है . गेंदे में एंटी बोवेलियल और एंटी वायरल गुण होते हैं.  हमारे शरीर में सूजन  है तो यह सूजन  को कम करने में मदद करता है. यह हमारी त्वचा के लिए हर प्रकार से लाभदायक है

 

गेंदे की पत्ती और पानी (Gende kii patti or Paani)-

 

हम गेंदे की पत्ती को पानी में उबाल कर उसी से दिन में कम से कम दो तीन बार आप आपना चेहरा धोएं . आपकी एवने की समस्या दूर हो जाती है, और साथ में इसका सेवन किया जाए तो हमें ये आंतरिक शक्ति प्रदान करवाता है, और इसी के साथ ही यह केंद्रीय तंत्रिका प्रणाली पर भी यह बबुने के फूल सकारात्मक असर डालता है.यह एक्जिमा में भी बहुत ज्यादा मददगार होता है. केमोमाइल या बबुने के फूल सेबनी हर्बल टी दिन में 3 बार सेवन करें तो आपको काफी फायदा  पहुंचता है. इसके साथ ही एक्जोमाओ सोरायसिस जैसी बिमारियों से छुटकारा पाने से यह फूल हमारी काफी मदद करता है. आप एक सफ़ेद कपड़ा ले और  केमोमाइल टी में डुबोकर आप अपने त्वचा के संक्रमक हिस्से पर लगाने से आप को काफी लाभ मिलता है. उस प्रक्रिया को पन्द्रह पन्द्रह मिनट के लिए दिन में चार से छह बार करना चाहिए. यह केमोमाइल जो है कई अंडर आई( under eye ) moisturizer  में भी प्रयोग किया जाता है. इसे डार्क सर्कल (dark circle ) हमारे दूर होते हैं.

 

कमके के फूल (Kamke ke Phool)

 

कमके के फूल और पत्ते बहुत ही लाभकारी माने जाते हैं. इस फूल के पत्ते और जड़ सदियों से हमारी त्वचा सम्बन्धी रोगों को ठीक करने में इस्तेमाल करते आ रहे हैं. यह फूल अगर आपकी त्वचा में कहीं कट गया हो , जल गया हो तो वहां लगाने से कई प्रकार से लाभकारी होता है. इसमें मौजूद तत्व त्वचा द्वारा काफी तेजी से अवशोषित कर लिए जाते है जिससे कारण स्वस्थ कोशिकायों का निर्माण होता है. और इसी में हमारी त्वचा को आराम पहुचने वाले तत्व पाए जाते हैं. अगर आपकी त्वचा में कभी जख्म हो जाए तो आप कमके फूल कि जड़ो का पाउडर बना कर उसे आप गर्मपानी में मिला लें. और गाढ़ा सा पेस्ट बना लें. फिर इस पेस्ट को आप साफ कपड़े में फैला दें, अब इस कपड़े को जख्मों पर लगाने से हमें चमत्कारी लाभ मिलता है अगर आप रात में इसे बांध कर सो जाएं, तो सुबह  काफी आराम मिलता है. इसे कभी खाया नहीं जाता नहीं तो ये हमरे लीवर को नुकसान पहुंचा सकता है.

आपको बहुत बड़ा जख्म है तो बड़े जख्म में इसे नहीं लगाया जाता, क्योंकि इससे त्वचा की उपरी परत तो ठीक हो जाती है लेकिन भीतर जो कोशिकायें हैं वह पूरी तरह ठीक नहीं हो पाती हैं.

 

अलसी के बीज(alsi ke beej)-

अलसी के जो बीज  होते हैं  बीजों में  ओमेगा थ्री फैंटी एसिड होता है, जो हमारे शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने में मदद करता है. इसमें सूजन  को कम करने वाले तत्व मौजूद होते हैं. यह हमारी स्किन डिसऑर्डर ( skin disorder ) जैसी एक्जिमा (agzima ) और सोरासिस (sorasis ) को भी ठीक करने में हमारी मदद करता है. आप दिन में एक दो अलसी के बीज का तेल सेवन करने पर त्वचा के लिए काफी फायदेमंद है. अलसी के बीज का तेल हम किसी अन्य अहार में ले तो ज्यादा ठीक रहेगा

 

अन्य उपाए (Any Upay)

 

हल्दी ,लाल चंदन ,नीम की छाल ,चिरायता बड्डे ,आवंला और अड्से के पत्ते को एक सामान मात्रा में लीजिए सभी को बराबर- बराबर मात्रा में लीजिए. इन सभी सामानों को पानी में भिगो दीजिये, जब ये अच्छी तरह  से फुल जाए तो इसे पीस कर ढीला पेस्ट बना लों .इसके चार गुना मात्रा में तिल का तेल को तेल के चार गुना मात्रा में पानी लो फिर इस सबको बड़े बर्तन में अच्छे से मिलाकर मंद आंच में तब तक पकाएं जब तक सारा पानी भाप बन कर उड़ न जाए. फिर ठंडा होने पर इसका सेवन करें. आपके शरीर में जहां जहां  खुजली ही रही ही वहां लगाएं या फिर पुरे शरीर में इस पेस्ट को लगाते रहिए. आपकी त्वचा का चर्म रोग ठीक हो जायेगा. अगर हमारा चर्म रोग ठीक नहीं होता ही व्यक्ति मानसिक रूप से बीमार हो जाता है. आपको चर्म रोग की समस्या है तो आप चिकित्सक से सलाह जरूर लें और दवा कराएं.

 

 

 

Anti-Wrinkles Tips in Hindi

सुंदर दिखना हर किसी की चाहत होती है .इसलिए यह जरूरी नहीं है कि आप कॉस्मेटिक का उपयोग या ब्यूटी पार्लर में जा के चेहरे की खूबसूरती को बढाए, कि आप इसका खास खयाल रखें | आइए हम बताते हैं कुछ ब्यूटी टिप्स जो आपकी त्वचा को निखार देगा.

जिस तरह पौष्टिक आहार से शरीर को ऊर्जा मिलती है ,उसी तरह स्वस्थ तरीके आप के रूप को निखारते है | कोई खूबसूरत दिखने के लिए महंगे उत्पादों पर पैसा खर्च करता है , तो कोई दवाई पर लेकिन आप घरेलू उपाय की मदद से खूबसूरत दिख सकते हैं |

रिंकल्स के लिए टिप –

एक चम्मच हनी में कुछ बूंदे नींबू का लीजिए और मिला के लगाए और रिंकल से छुटकारा पाए , और रिंकल को अपनी त्वचा से कोसों दूर रखे|

चमकती त्वचा के लिए खास टिप्स –


एक चम्मच हनी में कुछ बूंदे नींबू के रस की साथ लगाने से चेहरे पर रिंकल नहीं पढ़ते | इस पेस्ट को रोजाना इस्तेमाल कीजिए और इन सबको अपनी त्वचा से कोसों दूर रखिए |

खूब सारा पानी पियें –
ऐसा करने से शरीर का सारा दूषित पदार्थ बाहर निकल जाता है. जब शरीर में गंदगी नहीं रहती तो त्वचा पर अपने आप चमक आती है|

स्क्रब के लिए टिप – टमाटर का टुकड़ा लेकर चेहरे पर हल्के हाथों से मसाज करें ऐसा करने से चेहरे की गंदगी दूर हो जाएगी, त्वचा को निखारने के लिए कभी-कभी बहुत जरूरी है | स्क्रब त्वचा की बेस्ट स्कोर हटाकर रोमछिद्रों को बंद होने से रोकता है |

टिप्स फॉर ऑइली स्किन
एक चम्मच नींबू के रस में एक चम्मच गुलाब जल , और पिसा हुआ पुदीना, मिलाकर 1 घंटे तक रखे फिर चहेरे पर लगाकर 1 मिनट बाद धोले इससे चेहरे की चिकनाहट दूर हो जाएगी

डाक सर्कल्स के लिए टिप्स – आंखों के नीचे के डार्क सर्कल्स से बचने के लिए बादाम के तेल में हनी मिलाकर लगाएं इससे थोड़ी देर लगे रखने दें | फिर हल्के हाथों से मसाज करके धो ले.
टिप्स फॉर क्लींजिंग – मेकअप को हटाने तथा धूल मिट्टी से बचने के लिए दिन में एक बार क्लींजिंग जरूरी है| इसके लिए चावल के आटे में दही मिलाकर पेस्ट बनाएं और इसे और गर्दन पर अच्छी तरह बल्ले इसके बाद चेहरा धो ले.

ब्यूटी टिप्स ड्राई किंग
ड्राई किंग के लिए नारियल के आयल और संतरा का रस मिला ले और इसे रूखी फटी हुई त्वचा पर लगाएं इससे अच्छी तरह सूखने के बाद गुनगुने पानी से धोले और हाथों से नारियल का तेल या कोई भी मॉश्चराइजर लगा ले |
दूर कीजिए ब्लैक स्पॉट – चेहरे के काले दाग धब्बे हटाने के लिए टमाटर का रस कॉटन में भीगो कर दागों पर लगाएं धब्बे साफ हो जाएंगे और आपका चेहरा सुंदर दिखेगा |

पिंपल्स के लिए टिप
आलू को उबालकर के उसके छिलके निकाल ले और उसे चेहरे पर जोर से मले इससे पिंपल की समस्या समाप्त हो जाएगी. घरेलू सामग्री से निखारें खूबसूरती

आपकी किचन में छुपा है आपके सुन्दरता का राज़ .
यहां देखिए कुछ ऐसी चीजें जो आप किचन में आसानी से पाई जाती है.

हनी – हनी एक ऐसी चीज है , जो सभी के घर में पाया जाता है .क्या आपको पता है कि –
हनी आपकी त्वचा के लिए कितना उपयोगी है. हनी आपकी त्वचा को कोमल करता है |
बेसन – बेसन वैसे तो आप सभी वाकिफ होंगे, बेसन लगभग सभी के घरों में पाया जाता है. यह खाने को जितना स्वादिष्ट उतना ही त्वचा के लिए भी लाभकारी है . बेसन में नींबू और दूध मिलाकर उपटन बना ले | इस उपटन को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं थोड़ी देर रखने के बाद ठंडे पानी से चेहरा धो ले | इससे आपका चेहरा निखर जाएगा |

चीनी –
चीनी नींबू रस, और जैतून का तेल, सबको एक साथ मिलाकर बॉडी स्क्रब (scrub) तैयार कीजिये , यह मुलायम त्वचा के लिए सही है | इसके मिश्रण को अपने शरीर पर चीनी के घुलने तक धीरे धीरे रगड़े इससे त्वचा की रंगत निकलती है |
केसर – केसर का पेस्ट बनाने के लिए को आपको दही और स्क्रीन में थोड़ा सा केसर मिलाने की जरूरत है | इस पर को अपने चेहरे पर सूखने तक लगाएं और उसके बाद गरम पानी में सूखे हुए कपड़े से पोछ ले | इससे आपकी त्वचा पर निखर आयेगा |