अच्छी नींद के लिए अच्छे घरेलू उपाय

अनिद्रा, निद्रा, विकार, नींद की कमी. कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप इसे क्या कहो, परिणाम एक ही है. कई रातों से आप पूरी तरह सो नहीं पाते हैं या आपको बेवजह जगने की वजह से परेशानी होती है. इस प्रकार की समस्याएं वयस्कों में समान्य है. कई कारण इस प्रकार की असुविधा के लिए जिम्मेदार है. हल्के तनाव से लेकर गहरी उदाजी तक के लिए समस्या यह है कि अप्रचुर नींद कई स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म दे सकती है. इन समस्याओं में कम गतिशीलता के कारण वजन बढ़ाना तथा स्वास्थ्य समस्या शामिल है. सही तौर पर कहे तो लोटिन और इंसुलिन का निर्माण पर भूख की अनवर्ता इक्छा से प्रभाव पड़ता है. भाग्य से अच्छी नींद के घरेलू उपायों इस प्रकार के नकारात्मक परिणामों को दूर किया जा सकता है. इसके लिए दवाइयों पर निर्भर रहने की जरूरत नहीं है.

निद्रा अभाव के स्वास्थ्य परिणाम :-

नींद कई कारणों से जरूरी है. यह शरीर को कई प्रक्रिया करने में सहायता करती है. जिसके बिना की जीव अपना संतुलन खो देते या तो मानसिक रूप से या शारीरिक रूप से.

कम नींद के कारण जो स्वास्थ्य समस्याएं होती है वह निम्न है :-

  • सीमित सोच एवं ज्ञान संग्रहण सिया
  • धडकन में अनियमितता
  • मधुमेह
  • दौरे
  • उदासी
  • वजन बढ़ना

नींद आने में मदद करने के लिए घरेलू उपाय :-

  1. रलेरियन (बिल्ली लोटन) की जड़ें :-

इस पौधे में पिछले दशकों में इसकी जड़ों की दण्डी प्रभावित की वजह से बहुत लोकप्रियता हासिल की है. खासकर यह तांत्रिक कोशिका की प्रक्रिया पर उसे शांत करके प्रतिक्रिया करता है जिससे कि नींद बढ़ती है.

valerian-root-233970_640

आपकी नींद क्यों भंग हो जाती है ?

सबसे सामान्य कारण तनाव है. नई जीवन शैली कई विचारों को सक्रिय करती है. मस्तिष्क एक बटन नहीं है. इसीलिए इस प्रकार के विचार आपके आंखें बंद करने पर एकदम से नहीं जाते.

केवल भावनाओं के कारण ही नींद प्रभावित नहीं होती. शारीरिक कारणों से भी आपकी सोने की आदतों पर प्रभाव पड़ता है. एक परिचायक उदाहरण इसका यह है कि जब हार्मोन स्तर बदलता है विशेषकर रजोनिवृत्ति के समय. या फिर जब आप सोने जाते हो उससे पहले आपका पेट खाली हो.

सबसे आखिर में, पर्यावरणीय कारणों को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है. जिस वातावरण में आप सोते हैं वह आपके सोने के समय और प्रकार को महत्वपूर्ण तरीके से प्रभावित कर सकता है. विशेष रूप से अगर कमरे में सही अंधेरा ना हो तो सोने में दिक्कत महसूस होती है और एक दृश्य यह हो सकता है कि जब कमरा ध्वनि रोधक ना हो तब आपकी नींद को बाधित कर सकता है.

इसे कैप्सूल लिया चाय के रूप में खा या फिर पी सकते हैं.

घटक :-

1 एक चम्मच सुखी वलेरिय्म जड़

1 एक गिलास

निर्देश :-

एक गिलास उबलते हुए पानी में वलेरिय्म डाले और 10 मिनट तक उसे भीगने दें. इसे छानकर पियें.

  1. फलों का सलाद :-

ट्रिपटोफन एक तत्व है जो कई प्रक्रियाओं के बाद मेंलोटिन में उपप्चयित होने की वजह से मशहूर है. मेलायेनिन एक हार्मोन है जो अच्छी और स्वस्थ नींद के लिए जिम्मेदार है.

bananas-1085643_640

केले और चैरी में भी ट्रिपटोफन प्रचुर मात्रा में होती है. फलों का यह संयोजन अच्छी नीद सोने के लिए घरेलू उपायों में सबसे स्वास्थ्य में से एक है. चोरी या केले को आपको सोने से 30 मिनट पहले ही जरुरी रूप से खा लेना चाहिए.

  1. नाशपति या नट क्रिय :-

जल्दी से सोना चिंतामुक्त होने पर ही आता है. दूसरे शब्दों में, सोने के लिए आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र का शांत होना आवश्यक है.

avocado-829092_640

इस काम के लिए सबसे जरूरी तत्व मैग्नीशियम है. नाशपति और नट दोनों में ही मैग्नीशियम बहुत होता है.

घटक :-

एक बड़ा नाशपति

एक मुट्ठी नट्स

आधा कप दूध

 

निर्देश :-

फूड प्रोसेसर में सारी सामग्री को मुलायम होने तक चलाएं.

सोने से पहले क्या ना करें :-

कुछ आदतें नींद को पहले ही खराब कर देती है अधिकतर लोगों को यह पता तक नहीं होता कि वह इन आदतों से स्थिति को और बिगाड़ रहे हैं.

  1. केफीन समर्थक :-

coffee-563797_640

कैफीन जीव को तुरंत ऊर्जा देता है. इसलिए सोने के समय होते वक्त इसे दूर रखना चाहिए. एल्कोहल और निकोटीन का जीव पर समान असर पड़ता है. इसलिए पीना और धुम्रपान करना भी सोने के वक्त से पहले नहीं करना चाहिए.

  1. दिन की नींद :-

दिन में सोने से वह उर्जा वापिस लौट आती है जो कि रात में नींद की कमी से चली जाती है. यह एक बहुत ही अच्छा उपाय है. फिर भी दिन में सोना जरुरी नहीं है.

जिससे कि आपकी सोने की आदत बदल जाए और आपका शरीर विचलित हो और क्रियाओं पर प्रभाव पड़े अगर आप ऐसा करते भी हो तो यह सलाह है कि नींद छोटी हो.

  1. अत्यधिक खाना :-

FastFood

रात का खाना हल्का होना चाहिए. ध्यान की क्रिया आपकी नींद पर असर डालती है. जबकि आपको बार-बार उठने की जरूरत हो या फिर पानी पीना पड़े. इसलिए भारी भोजन रात के समय नहीं करना चाहिए. एक गर्म दूध का कब लेना चाहिए. इसकी गर्माहट आपकी मांसपेशियों को सोने से पहले आराम देती है. अच्छी नींद लेना आपकी छोटी और लंबी दोनों अवधि को स्वास्थ्य के लिए बहुत जरुरी है. ना केवल आपको एक आरामदायक रात मिलती है बल्कि आपका शरीर भी तरोताजा हो जाता है और अगले दिन के लिए तैयार हो जाता है.