रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी – Ramdev Baba Yog Asan for Weight Loss in Hindi

गलत जीवन शैली के चलते वजन का बढ़ना आम बात है| वजन बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण शरीर की चर्बी बढ़ना होता है| मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या हैं। दुनिया में औसत रूप से आधे लोग मोटे है। यदि मोटापा होगा तो अन्य बीमारी होगी।  शुगर होगा कोलीस्ट्रोल बढ़ेगा हार्ट और बी. पी. की समस्या होगी कमर में दर्द होगा और घुटने जल्दी दर्द देंगे और जो मोटे लोग हैं उन्हें कैंसर भी हो सकता हैं ये सच हैं की बीड़ी तम्बाकू से कैंसर होता हैं पोल्युसन से भी कैंसर होता हैं और ज्यादा मीठा और नमक खाने से भी कैंसर होता हैं और यह भी सच है की मोटापा से कैंसर होता हैं। परंतु घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि हम अपने इस लेख “रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी” के द्वरा आपको स्वामी राम देव बाबा जी के बताये हुए कुछ ऐसे योग आसन बातएंगे जिसे आप नियमित रूप से कर के अपने अत्यधिक मोटापे को काम कर सकते है और अपना वेट लॉस कर सकते है ।

जानिए कौन से योग आसान के द्वरा आप आसानी से वेट लॉस कर सकते है।

how-to-reduce-weight-fast

1. दौड़ लागए/जॉगिंग करे

दौड़ना सबसे अच्छा व्या‍याम है। ये वजन नियंत्रित रखता है। प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है। सर्दी-जुकाम से छुटकारा दिलाता है। फिट रहने के लिए अन्य व्यायाम की तुलना में दौड़ना सबसे अच्छा व्या‍याम है। दौड़ना बहुत ही सरल और जल्द फायदा पहुंचाने वाला व्यायाम है। दौड़ने के लिए किसी खास तकनीक की भी आवश्यकता नहीं होती।दौड़ने से डायबिटीज़, अर्थराइटिस और हृदय की बीमारियों का खतरा कम होता है।दौड़ने से शरीर में रक्ता संचार ठीक प्रकार से होता है। दौड़ने से शरीर की मेटाबॉलिज्म तेज होता है और प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। स्वस्थ शरीर के लिए प्रतिरोधी क्षमता का ठीक से काम करना बेहद आवश्य़क है। ध्यान रखें व्यायाम की शुरूवात में अधिक समय तक ना दौड़ें। धीरे-धीरे करके व्या‍याम का समय बढ़ायें।

joggers-park

 

विधि : स्वामी रामदेव बाबा जी के अनुसार प्रतिदिन ५ मिल दौड़ लगाना चाहिए। अगर आपके घर के आस पास कोई खाली जगह या मैदान है तो आप वहाँ दौड़े वरना आप १ जगह खड़े होकर अपने पैरो को हिलाकर भी यह आसन कर सकते है उस अवस्ता में आपको करीब २० मिनट तक यह करना होगा। और ध्यान रखिये जब भी आप दौड़े तब लंबी लंबी सांस ले और जरुरी है की नाक से सांस ले। जो आपके सरीर में ऑक्सीजन को बढ़ाता है। जिससे हमारे सरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में मदद मिलती है।

2. त्रिकोणासन

त्रिकोणासन योग करते समय शरीर का आकार त्रिकोण के समान होने के कारण इसे त्रिकोणासन कहा जाता हैं। मोटापे से परेशान लोगो के लिए यह सबसे सरल और उपयोगी आसन हैं। त्रिकोणासन का नियमित अभ्यास करने से आपके पेट, कमर, जांघ और नितंब पर जमी अतिरिक्त चर्बी को आसानी से घटाया जा सकता हैं। इस आसन का नियमित अभ्यास आपकी कमर व पेट पर जमी चरबी को बहुत जल्दी कम कर देगा। अन्य आसनों से भिन्न त्रिकोणासन में शरीर को साम्यावस्था में बनाए रखने के लिए आँखों को खुला रखा जाता है|

trikonasana-for-three-more-health-beneficial

विधि :

  • त्रिकोणासन के अभ्यास के लिए पहले किसी समतल स्थान पर सीधे खड़े हो जाएं।
  • दोनों पैरों के बिच 2 से 3 फुट का फांसला छोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।
  • दाएं पैर को दायीं ओर मोड़कर रखे।
  • अपने कंधो की ऊंचाई तक दोनों हाथों को बगल में फैलाए।
  • अब साँस ले और दांई ओर झुके। झुकते समय नजर सामने रखे।
  • दाएं हाथ से दाएं पैर को छूने की कोशिश करे।
  • बाएं हाथ को सीधा आकाश की ओर रखे और नजर बाएं हाथ की उंगलियों की ओर रखे।
  • शरीर उठाते समय सांसों को अन्दर ले और झुकते समय सांसों को छोड़े।
  • अब वापिस सीधी अवस्था में लौटकर दूसरी ओर भी हाथ बदलकर यही अभ्यास करे।
  • ऐसे कम से कम 50 बार करे।
  • इसी प्रकार लेफ्ट ओर भी इस प्रक्रिया को दोहराएं।

3. कोणासन

इस आसन को कोणासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब मनुष्य इस आसन की क्रिया का प्रयोग करते है तब उस मनुष्य के शरीर की आकृति एक कोण की तरह हो जाती है इसलिए इस आसन को कोणासन कहा जाता है। यह आसन से हमारे सरीर के दोनों साइड के एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में मदद मिलती है। रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाता है| हाथ, पैर और धड़ के सभी भागों में सुदृढ़ता आती है ।

maxresdefault

 

विधि :

  • सीधे खड़े रहते हुए पैरों में कूल्हे के चौड़ाई जितनी दूरी बना ले और हाथों को शरीर के बाजू में रखें ।
  • साँस ले और अपने बाएं हाथ को इस तरह ऊपर उठाये की आपकी उंगलियाँ छत की दिशा में रहें ।
  • साँस छोड़ते हुए रीढ़ की हड्डी को झुकाते हुए अपनी दाहिनी ओर झुके, उसके बाद अपने श्रोणि को बाईं ओर ले जाएँ और थोड़ा और झुके । अपने बायें हाथ को ऊपर की ओर तना हुआ रखे।
  • बायीं हथेली से उपर देखने के लिए  अपने सिर को घुमाए । कोहनियों को सीधा रखें ।
  • साँस लेते हुए अपने शरीर को वापस सीधा करें ।
  • साँस छोड़ते हुए अपने बायें हाथ को नीचे लाए ।
  • ऐसे कम से कम 50 बार करे।

4. हस्तपादासन

योग की कई क्रियाओं में से एक है हस्तपादासन, इस योग आसन से आपको कई फायदे मिलते हैं। कमर का दर्द ठीक होता है। पूरे शरीर में खून का संचार ठीक तरह से होता है। बदन दर्द ठीक होता है। शरीर लचीला बनता है। पेट अंदर से मजबूत बनता है और पेट में मौजूद एक्स्ट्रा फैट भी बर्न हो जाता है।  स्वामी रामदेव बाबा जी के अनुसार सुरुवात में इसे १०-१२ बार ही करे उसके बाद धीरे धीरे इसे बढ़ाये। वरना पेट दर्द की समस्या हो सकती है।

surya-namaskar-step-1-2-3_625x350_41433762585

विधि :

  • पैरों को एक साथ रखते हुए सीधे खड़े हो जाएँ और हाथों को शरीर के साथ रखें।
  • अपने शरीर के वजन को दोनो पैरों पर समान रूप से रखे।
  • साँस अंदर ले और हाथों को सिर के ऊपर ले जाएँ।
  • साँस छोड़ें, आगे और नीचे की ओर झुकते हुए पैरों की तरफ जाएँ।
  • इस अवस्था में २०-३० सेकेंड्स तक रुकें और गहरी साँसे लेते रहें।
  • अपने पैरों और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें, हाथों को पैर के पंजों के बगल में जमीन पर रखें या पैरों पर भी रख सकते हैं।
  • साँस बाहर छोड़ते हुए अपने छाती को घुटनों की तरफ ले जाएँ, नितम्बों को जितना हो सकता है उतना ऊपर उठाएँ, एड़ियों को नीचे की तरफ दबाएँ, इसी अवस्था में सिर को विश्राम दें और आराम से सिर को पंजों की तरफ ले जाएँ गहरी साँसे लेते रहें।
  • साँस को अन्दर लेते हुए अपने हाथों को आगे व ऊपर की तरफ उठाएँ और धीरे धीरे खड़े हो जाएँ।
  • साँस छोड़ते हुए अपने हाथों को शरीर के साथ ले आएँ।

5. चक्की चलनासन

इस आसन से वजन को जल्द ही कम किया जा सकता है। यह आसन पेट के आस-पास के हिस्सों में जमा चर्बी को दूर करने में काफी कारगर है। इस आसन में पेट पर जोर पड़ता है इसीलिए पेट में मौजूद अतिरिक्त चर्बी खत्म हो जाती है।

chakki

विधि :

  • इस आसन में आप जमीन पर आराम से बैठ जाएं।
  • इस दौरान अपने पैरों को सामने की ओर से फैलाएं।
  • दोनों पैर आपस में सटे रहें।
  • इसके बाद अपने दोनों हाथों को मिलाकर पकड़ लें और अब इन्हें घुटनों के ऊपर जैसे चक्की चलाते हैं वैसे ही क्लॉक वाइस तो कभी एंटी क्लॉक वाइस घुमाएं।

6. अर्ध हलासन

अर्ध हलासन मोटे तौर पर उत्‍तानपादासन के जैसा ही है। उत्‍तानपादासन में पैर जमीन से करीब एक से डेढ़ फुट ऊपर होते हैं मगर इसमें पैर नब्‍बे डिग्री तक सीधे हो जाते हैं। यह आसन औरों के मुकाबले आसान है । यह खाना पचाने की ताकत को बढ़ाता है और मोटापे से लड़ने में मदद करता है। इस आसन के नियमित अभ्‍यास से रीढ़ की हड्डी और भीतर की मसल्‍स ताकतवर बनती हैं। पैरों का सो जाना और उनका झनझनाना कम हो जाता है।

maxresdefault

विधि :

  • पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। हथेलियां जमीन की ओर रहेंगी और जांधों के बगल में रहेंगी। ध्‍यान रखें उन्‍हें पैरों के नीचे न दबाएं।
  • पैरों को आपस में मिला लें और धीरे धीरे उठाते हुए नब्‍बे डिग्री तक ले आएं।
  • सांस की गति सामान्‍य रखें और इसी तरह से तीन मिनट तक ठहरने का अभ्‍यास करें।
  • हाथों से ताकत न लें कमर और पेट की ताकत का इस्‍तेमाल करें। ध्‍यान रहे सांस की गति सामान्‍य होनी चाहिए।

7. पादवृतासन आसन

इस आसन में आपको अपने पैरों से चक्र बनाना है। आप पहले कलॉकइसे फिर एंटीक्लोकवइसे सर्किल बनाते है।यह अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है। यह जांघ, कूल्हों और कमर के अतिरिक्त फैट को  कम कर देता है। यह पेट बहुत हल्का और गोल आकार का बना देता है।

Untitled

विधि :

  • पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। हथेलियां जमीन की ओर रहेंगी और जांधों के बगल में रहेंगी। ध्‍यान रखें उन्‍हें पैरों के नीचे न दबाएं।
  • लंबी साँस अंदर लेते हुए राईट लेग ऊपर उठाये और घडी की सुई की दिस में हवे में सर्किल बनाये।
  • बिना फर्श को स्पर्स किये १ बार में कम से कम ४-५ सर्किल बनाये और ध्यान रहे इस पूरी क्रिया में आप सांसे लंबी लंबी ले।
  • दाएं पैर के साथ ऐसा करने के बाद बाएं पैर से भी सेम ही दोहराये परंतु सर्किल घडी की विपरीत दिस में बनाये।
  • दोनों पैरों से इसे अलग अलग करने के बाद, यह दोनों पैरो से एक साथ करें।
  • अपने दोनों पैरों को ऊपर और नीचे घुमाएं, सभी चार दिशाओं में उतनी ही जितनी आप कर सकते हैं। आप के दोनों पैरो को १ साथ घडी के दिसा में और विपरीत दिसा में घुमाये।

8. द्विचक्रिकासन

साइकिल चलाना सभी जानते हैं। साइकिल चलाने से हमें स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त होते हैं। इसी वजह से सभी जिम सेंटर्स में साइकिलिंग सुविधा रहती है। योगशास्त्र में भी एक आसन ऐसा है जिससे साइकिल से मिलने वाले सभी स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो जाते हैं। योग में इस आसन को द्विचक्रिकासन कहते हैं। मोटापा घटने के लिए यह सर्वोत्तम अभ्यास है। यदि नियमित ५-१० मिनिट तक इसका अभ्यास करने से बढे हुए भार कम कर देता है। पेट को सुडोल बनता है। कब्ज, अम्लपित्त की निवृति करता है। कमर दर्द हो तो इस आसन को एक-एक पैर से ही करने पर कमर दर्द में लाभ मिलता है।

maxresdefault (1)

विधि :

  • पीठ के बल लेट कर हाथों के पंजे नितम्ब के निचे रखे, श्वास रोककर एक पैर को पूरा ऊपर उठाकर घुटने से मोड़कर एड़ी नितम्ब के पास होकर गोलाकार(साइकल चलाने की तरह)घुमाते रहें। इसी तरह इस आसान को १० से बढाकर यथा शक्ति करे।
  • इसी प्रकार दूसरे पैर से इस क्रिया को करें। पैरों को जमीन में टिकाये घुमाते रहें। गोलाकार आकृति बनायें। इसी तरह इस आसान को १० से बढाकर यथा शक्ति करे। थक जाने पर विश्राम करें।
  • इसी अभ्यास को अगली स्थिति में दोनों पैरों को निरंतर साइकिल की तरह चलायें। श्वास भरकर एक पैर घुटने से मोड़कर सीने की तरफ, दूसरा सीधा फैलायें, भूमि के निकट तक लम्बा फैलाये। श्वास भर इस प्रकार पैर चलायें जैसे साईकिल पर बैठकर चलाते है। फिर विपरीत दिशा में इसी प्रकार दोनों पैरों को निरंतर एक साथ साईकिल की तरह चलायें। इसी तरह ५-१० या यथाशक्ति करें।

9. पश्चिमोत्तनासन

योग की भाषा में पश्चिम शब्द से तात्पर्य शरीर के पिछले भाग अर्थात कमर से हैं । इस आसन को करते समय हमारी कमर में आगे की तरफ खिंचाव होता है  इसीलिए इसे पश्चिम उत्तानासन कहते हैं। इस आसन को करते समय शरीर की सभी माँसपेशियों को खिंचना पड़ता है। पश्चिम उत्तानासन को आपको अपने रोजाना करने वाले योगो में जरूर शामिल करना चाहिए । इस आसन की क्रिया को करने से शरीर के सभी हिस्सों से चर्बी कम हो जाती हैं मोटापा दूर हो जाता है तथा मधुमेह के रोग में भी लाभकारी है।  इस आसन से आपके पूरे शरीर में खून सुचारू रूप से बहता हैं। जिससे शरीर की कमजोरी दूर होकर शरीर में गज़ब का उत्साह और उमंग भर जाती है।

Paschimottanasana-Steps

विधि :

  • इस आसन को करते समय सबसे पहले एक समतल सतह पर सीधे लेट जाएं और दोनों पैरों को आपस में परस्पर मिलाकर रखें तथा अपने शरीर को सीधा रखें।
  • दोनों हाथों को सिर के पीछे की तरफ सीधे ले जाए। अब दोनों हाथों को जमीन से ऊपर की ओर उठाते हुए तेजी से कमर के ऊपर के हिस्से को भी जमीन से उठा लें। इसके बाद दोनों हाथों को धीरे-धीरे अपने पैरों की तरफ लाते हुए दोनों पैरों के अंगूठों को पकड़ने की कोशिश करें। ऐसा करते समय अपने पैरों और हाथों को एकदम सीधा रखें।
  • कुछ लोगो को मोटापे की वजह से जमीन से एकदम उठने में तकलीफ होती हैं तो ऐसे लोग इस आसन को जमीन पर बैठ कर भी अंगूठों को छूने का प्रयास कर सकते हैं इस प्रकार यह क्रिया एक बार पूरी होने के बाद तीस सैकेंड के लिए आराम से बैठें रहे और दोबारा इस क्रिया को दोहराएं इस तरह यह आसन तीन बार ही करें। इस आसन को करते समय सांस को सामान्य रूप से लेते और छोड़ते रहें|

ये तो थे पूज्य श्री रामदेव बाबा जी द्वरा बातये योग आसान जिससे आप मोटापा काम कर सकते है या अपना वजन घटा सकते है। परंतु इनका पूरी तरह फायदा आपको तभी मिल पायेगा जब आप इनके साथ बाबा जी द्वरा बातये प्राणायाम जैसे भस्त्रिका आसान, अनुलोम विलोम और कपाल भारती करेंगे। हमें आसा है की हमारे इस लेख “रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी” द्वारा बातये हुए आसान को कर के आप अपना वजन जरूर घटा पाएंगे।

फ़ास्ट वेट लॉस टिप्स इन हिंदी – Fast Weight Loss Tips in Hindi

मोटापा एक ऐसी बीमारी है जो स्त्री, पुरुष व बच्चे, किसी को भी हो सकती है। मोटापे के कारण व्यक्ति की सुन्दरता प्रभावित होती है। ऐसे बहुत से लोग हैं जो मोटापे की समस्या से त्रस्त है। मोटापे के कारण लोगों को चलने, साँस लेने और बैठने में परेशानी होती है। मोटापे को विभिन्न बीमारियों का जनक माना जाता है, जैसे, दिल की बीमारी, जोड़ों में दर्द, गठिया रोग, मधुमेह, रक्तचाप, दमा आदि। । हम अपने इस लेख “फ़ास्ट वेट लॉस टिप्स इन हिंदी” में आपको यह बताएँगे की आप कैसे तेजी से वेट लॉस कर सकते है।वजन घटाने के लिए जरूरी है कि कम खाने की जगह यह जान लिया जाए की क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। अक्सर हमें लगता है कि खाना कम खाने और जिम जाने से वजन घटने लगे गा जो कि गलत है।

कुछ बेहतरीन और फ़ास्ट वेट लॉस टिप्स इन हिंदी

body-fat-1

तो आइये हम अपने इस लेख “फ़ास्ट वेट लॉस टिप्स इन हिंदी” के माध्यम से आपको बता ते है कुछ दादी माँ के नुस्खे जिसे इस्तेमाल कर आप तेजी से वेट लॉस कर पाओगे।

1. जीरा

19-Amazing-Benefits-Of-Cumin-Jeera-For-Skin-Hair-And-Health

१ गिलास पानी में २ चम्मच जीरा भिगो कर रख दें। फिर सुबह खाली पेट इसे बॉईल कर के पानी पी ले और बचा हुआ जीरा खा ले। आप दही के साथ भी जीरा पाउडर ले सकते हो या वेजीटेबले सूप में २ चम्मच जीरा डालकर पी सकते हो। यह सिर्फ वजन कम ही नहीं करता बल्कि कोलेस्ट्रॉल भी कम करता है, खून की कमी को भी पूरा करता है। पाचन सकती भी बड़ा ता है।

2. अजवाइन

Ajwain-Water

अजवाइन में कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, इओडिन और केरोटीन नमक तत्व होते है जो हमारे सरीर के लिए बहुत लाभदायक होते है। रोज रात में १ गिलास पानी में १ चम्मच अजवाइन भिगो कर रखे और सुबह इसे २-३ मिनट तक बॉईल कर ले। फिर इसे छानकर हल्का गुन गुना कर के पी लीजिये खाली पेट ।

3. इसबगोल

tanman-health-Plantago-ovata-husk-Natural-Magic-Pharmaceutical-news-in-hindi-india-85326

इसबगोल भी बहुत फायदेमं होता है । इसमें  फाइबर की मात्रा जड़ होती है। अगर आप इसका उपयोग करके वजन काम करना चाहते हो तो आप रोज १ चम्मच इसबॉल को १ गिलास पानी में तेजी से मिलकर बिना देर किये पी ले। याद रखिये पानी में डालने के ५-१० सेकण्ड्स  के अंदर ही आप इसे पी ले। यह हर रोज ब्रेकफास्ट, लंच और डिनर के २०-३० मिनट पहले पी ले। यह नुस्का तेजी से आपका वेट कम करेगा।

4. चिया (फालूदा) सीड्स

maxresdefault

आम तोर पर बाजार में मिलने वाले काले चिया सीड्स को आप किसी भी जूस के साथ मिलकर सुबह ले सकते है। चिया सीड १ एंटीऑक्सीडेंट है और इसमें फाइबर की मात्रा भी जड़ होती है यह फैट को गलने में मदद करता है। इसमें मेगा-३ फैटी एसिड होता है जो जल्दी से मोटापा काम करने के लिए जाना जाता है। इसे आप अनार के जूस के साथ भी मिलकर पी सकते है ।

5. केला और जीरा

weight-loss-tips

१ केला लेकर उसे स्मैश कर ले और उसमे आधा चम्मच भुना हुआ जीरा मिलाकर दिन में ४-५ बार खाये। यह मिश्रण आप लगातार ७-८ दिन तक खाये वे उसके बाद वेट चेक करे।

6. जीरा और सहद

जीरे-का-पानी-और-शहद-मिलाकर-पीने-से-होते-हैं-ये-फायदे-1

१ चम्मच जीरा १ कटोरे पानी में रात भर भिगोकर रख दे फिर जीरा छानकर हटा ले । अब उस पानी में १ चम्मच सहद, निम्बू और काला नमक डाल कर सुबह खली पेट पी ले। जीरा बहूत ही फायदे मंद है और इसमें बहुत सरे पोसक तत्व है। इसलिए यह ड्रिंक आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। इस ड्रिंक को आप बॉईल कर के चाय की तरह भी पी सकते है ।

7. सौंफ और चुकंदर

chukander-ke-fayde

सौंफ को रत भर पानी में भिगो कर रख दे फिर सुबह चुकंदर के साथ १ निम्बू छिलका सहित भीगा हुआ सौंफ डालकर पीस कर जूस तैयार कर ले। रोज इसे खली पेट पिए।

8. रेड रेडिश (मूली)

red-radish-54d5dfb73d16a_l

रेड रेडिश, अदरक और काला नमक मिलकर जूस तैयार कर ले और इसे रोज सुबह खाली पेट ले। परंतु इतना ध्यान रहे की आप कवी भी रेड रेडिश के जगह पर वाइट रेडिश का उपयोग न करे।

9. टमाटर और जीरा

cover-pic-79-702x336

१ कप पानी में आधा चम्मच जीरा भिगो कर रात भर रखे फिर सुबह उसमे २ टमाटर मिलाकर जूस तैयार कर ले। फिर उसमे काला नमक स्वाद अनुसार डाल कर रोज इसका सेवन सुबह खाली पेट करे।

10. शहद और निम्बू

ek_honey-and-lemon-water

हलके गरम पानी में निम्बू का रस और सहद मिलकर सुबह खली पेट पिए तो ये भी वजन काम करने में बहुत लाभदायक होता है।

11. ऑरेंज टी

Untitled

कच्ची  हल्दी,  अदरक,  करीपत्ता,  अजवाइन  और  दालचीनी  के  मिश्रण  से   आप  ऑरेंज  टी  तैयार कर सकते है।  सबसे पहले पानी बॉईल कर ले फिर उसमे साडी चीजे डालकरधीमी आंच में बॉईल करे और फिर चैन कर अलग कर ले। फिर पानी को  ठंडा  कर फ्रीज में रख ले और दिन में ४-५ बार भोजन के बाद इसका सेवन करे। यह वेट लोस्स में बहुत फायदेमंद है।

12. पुदीना

mint-743x370

पुदीना दांतों की चिकित्सा, हाज़मे, नाखूनों की देखभाल, प्रतिरक्षी तंत्र की देखभाल, त्वचा तथा बालों की देखभाल और रक्तसंचार में काफी अहम भूमिका निभाता है। पुदीने से बनी चाय पीकर आप अपना वज़न भी घटा सकते हैं। पुदीने से हाज़मा सही रहता है और फैट कम करने में मदद मिलती है। इसका एक और गुण यह है कि आप कुछ भी खाने से पहले पुदीने को सूंघकर अपनी भूख कम कर सकते हैं। इसके फलस्वरूप आप कम खाते हैं और आपका वज़न कम होता है।

13. ग्रीन टी

many-disadvantage-of-green-tea-702x336

ग्रीन टी के भी कई फायदे होते हैं, जिनमें से एक है वज़न का घटना। ग्रीन टी में थोड़ी सी मात्रा में कैफीन मिला हुआ होता है, पर इसमें कैटेचिंस नामक एंटी ऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं, जो कैफीन के साथ काम करके शरीर की वसा को जलाने में आपकी सहायता करते हैं।

14. सेब

apple1-1024x773

सेब के छिलके में यूर्सोलिक एसिड पाया जाता है जो ब्राउन फैट के उत्पादन में सहायक होता है और शरीर से अतिरिक्त चर्बी को दूर रखता है। अगर आप दिन में 1 या 2 सेब खाते हैं तो यह आपको पतला बनाये रखने के लिए काफ़ी है।

15. जामुन

jamun650x433_144499576521_650_101615051700

जामुन एंटी ऑक्सीडेंटस से भरपूर होने के कारण आपके स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है तथा इससे आपके पेट की चर्बी भी काफी हद तक कम हो जाती है। जामुन में काफी मात्रा में ऐंथोसाइनिन मौजूद होते हैं, जो मनुष्य की चर्बी की कोशिकाओं में मौजूदा जीन्स की कार्यशीलता को प्रभावित करते हैं और इसकी मदद से आपका वज़न बढ़ना बंद  हो जाता है।

16 पपीता

papaya4-702x336

कच्चे या पके हुए पपीता का नियमित सेवन कीजिए।  इससे आपके शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं जमा होगी और वजन तेजी से घटेगा।

इन सब के अलावा आपको कुछ बातो का विषेस तौर पर ध्यान रखना पड़ेगा।

पानी पे रखे ध्यान

दिन भर में 3- 4 लीटर पानी व तरल पदार्थ लें। यह भूख कम करता है और कब्ज रोकता है। पीनी के अलावा नारियल पानी, फलों का जूस, सूप, नींबू पानी या छाछ का प्रयोग भी कर सकते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद पानी न पिए। कम से कम १ घंटे बाद ही पानी पिए हो सके तो खाने के १० मिनट पहले १ गिलास पानी पी ले।

व्यायाम करें

लम्बाई बढ़ाने के लिए जरूरी व्यायाम

यह एक जाना माना तथ्य है कि व्यायाम करने वालों और कोई भी खेल खेलने वालों का वज़न जल्दी घटता है। आप भी अपना पसीना बहाकर अपना वज़न कम कर सकते हैं। इसके लिए व्यायाम ही सबसे अच्छा तरीका है, क्योंकि इससे ना सिर्फ आपका वज़न घटता है, बल्कि शरीर भी स्वस्थ रहता है। खाने में कैलोरी की मात्रा कम करें।

अगर आप हमारे बताये हुए फ़ास्ट वेट लॉस टिप्स को इस्तेमाल करते है तो हमें पूरा विस्वास है की इससे आपको जरूर फायदा होगा।

वेट लॉस डाइट इन हिंदी – Weight Loss Diet in Hindi

वेट बढ़ने का विज्ञान बड़ा सीधा-साधा है। यदि आप खाने-पीने के रूप में  जितनी कैलोरीज ले रहे हैं उतनी बर्न  नहीं करेंगे तो आपका वेट बढ़ना तय है। दरअसल बची हुई कैलोरी ही हमारे शरीर में फैट के रूप में इकठ्ठा हो जाती है और हमारा वज़न बढ़ जाता है। कैलोरी सबसे महत्वपूर्ण कारक है जो वजन बढ़ाने और वजन घटाने दोनों को निर्धारित करता है। हम अपने इस लेख “वेट लॉस डाइट इन हिंदी” में आपको यह बताएँगे की आप कैसे अपने रोज के भोजन में कैलोरीज को कण्ट्रोल करे फैट को बढ़ने से रोके।

वजन घटाने के लिए जरूरी है कि कम खाने की जगह यह जान लिया जाए की क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। अक्सर हमें लगता है कि खाना कम खाने और जिम जाने से वजन घटने लगे गा जो कि गलत है।

कैलोरी के तीन मुख्य स्रोत वसा, कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन हैं अस्वास्थ्यकर संतृप्त (सैचुरेटेड) वसा के स्रोत मक्खन, पनीर और मांस के टुकड़े हैं; जबकि स्वस्थ असंतृप्त (उन-सैचुरेटेड) वसा के स्रोत हैं पालक, वनस्पति तेल, जैतून और समुद्री भोजन।

सफेद चावल, चीनी, सफेद आटा, सोडा, फलों के रस और बेक किए गए सामान जैसे साधारण कार्बोहाईड्रेट आपको मोटा बनाते हैं। ब्राउन चावल, गेहूं का आटा, सेम, मसूर, फलियां, फलों और सब्जियों जैसे कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट वेट घटने में मदद करते है। वजन घटाने के लिए आपकी आहार योजना में पोषक तत्वों को शामिल करना चाहिए। तो आइये हम अपने इस लेख “वेट लॉस डाइट इन हिंदी” की मदद से आपको कुछ टिप्स दे जिससे आप अपना वजन संतुलित कर सके।

तो आइये और जानिए वेट लॉस डाइट हिंदी में

woman-with-fat-around-abdomen1. खुराक जादा और छोटी रखे

दिन में तीन बार भर पेट खाने से अछा पांच बार छोटी छोटी खुराक ले।जो की ३०% तक  कैलोरी कम करने में मदद करता है। जिससे हम जादा एक्टिव रह सकते है और जादा एक्टिव रहने की वजह से फैट लॉस भी कर सकते है।

2. सुबह नास्ते से पहले

सुबह नास्ते से पहले रोज हल्के गुनगुने पानी के साथ नीबू और शहद का सेवन करें। ऐसा करने से आपका वज़न कम होगा। या फिर आप ग्रीन टी भी पी सकते है जो आपके वजन को संतुलित करने में आपकी मदद करेगा। आप एग वाइट भी पी सकते है जो फैट को बढ़ने नहीं देगा और बहुत सारी एनर्जी देगा।

3. सुबह का नाश्ता

alia-bhatt-diet-chart-breakfast-meal1

वजन घटाने के लिए अक्सर लोग नाशता नहीं करते हैं जो कि गलत है। दिन भर के क्रिया कलापों के लिए आपको शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है जो कि बिना नाशते के संभव नहीं है। नास्ते में कभी आप  दूध के साथ दलिया ले सकते हैं तो कभी वेज सैंडविच तो कभी पोहा या उपमा ले सकते हैं तो कभी इडली या अपना पसन्दीदा आहार खा सकते है। नाश्ते के वक़्त ऑरेंज जूस, चाय, दूध इत्यादि ज़रूर लें लेकिन उसके बाद पुरे दिन पानी को ही पीने के लिए इस्तेमाल करें. कोल्ड-ड्रिंक को तो छुए भी नहीं और चाय-कॉफ़ी भी कम से कम पिए। इस तरह आप हर रोज़ बहुत सारी कैलोरीज कम कर सकेंगे। सुबह के नास्ते में आप ओटस भी खा सकते है।

4. लंच

green-vegetables

दोपहर के भोजन में हरी सब्जी, रोटी, ताजा दही या छाछ, छिलके वाली दाल के साथ चावल ले सकते हैं। खाने के साथ हरी चटनी भोजन में मल्टीविटामिन्स की कमी को पूरा करती है। सलाद का प्रयोग भी लाभदायक है। हर मौसम के फल व सब्जियां अलग होती हैं। इसलिए अपनी आहार योजना में मौसमी फल और सब्जियों का प्रयोग करें। पर ध्यान रहे चावल और आलू जितना कम खाये उतना ही वेट लॉस आप कर सकते है। वाटर-रिच फ़ूड, जैसे कि टमाटर,लौकी, खीरा, आदि खाने से आपका ओवरआल कैलोरी कोन्सुम्प्शन कम होता है। इसलिए इनका अधिक से अधिक प्रयोग करें।

5. साम का  नास्ता

green-tea-in-a-cup

साम को आप ग्रीन टी पी सकते है।  हेल्दी स्नैक्स लें जैसे चिवड़ा ,पोहा , ढोकला, उबले हुआ मक्का, स्प्राउट्स, फल या सलाद खा सकते हैं। चाय ,कॉफ़ी बनाने में, या सिर्फ दूध पीने के लिए भी लौ फैट वाली मिल्क का उपयोग करे।

6. रात का  खाना

रात का खाना बहुत ही लाइट होना चाहिए। डिनर रात को सोने से दो या ढाई घंटे पहले कर लेना चाहिए। इससे खाने को पचने का पर्याप्त समय मिलता है। रात में दाल, चावल के सेवन से बचें क्योंकि ये आसानी से पचती नहीं हैं। रत के खाने के लिए दो रोटी काफी है जितना हो सके खली पेट सोने की कोसिस करे जिससे आपका वेट आसानी से घट जायेगा।

7. पानी पे रखे ध्यान

woman-drinking-water-from-a-bottle

दिन भर में 3- 4 लीटर पानी व तरल पदार्थ लें। यह भूख कम करता है और कब्ज रोकता है। पीनी के अलावा नारियल पानी, फलों का जूस, सूप, नींबू पानी या छाछ का प्रयोग भी कर सकते हैं। खाना खाने के तुरंत बाद पानी न पिए। कम से कम १ घंटे बाद ही पानी पिए हो सके तो खाने के १० मिनट पहले १ गिलास पानी पी ले।

8. छोटी प्लेट का प्रयोग करें

यदि आपके सामने कम खाना होगा तो आप कम खायेंगे, और यदि ज्यादा खाना रखा है तो आप ज्यादा खायेंगे. तो अच्छा होगा कि आप थोड़ी छोटी थाली उपयोग करें।  जिसमे कम खाना आये. इसी तरह चाय – कॉफ़ी के लिए भी छोटे कप्स प्रयोग करें।

9. भूख लगने पर खाये

तभी खायें जब सचमुच भूख लगी हो। कई बार हम बस यूँहीं खाने लगते हैं। अगली बार तभी खाएं जब आपको वाकई में भूख सहन ना हो।  यदि आप कोई स्पेसिफिक चीज खाने के लिए खोज रहे हैं तो ये भूख नही बस स्वाद बदलने की बात है। हो सके तो खाने में फिश आयल का उपयोग करे।

10. धीरे धीरे खाये

जितना जल्दी आप खाओगे उतना ही जादा खाओगे इसलिए कहते वक्त चबा चबा कर आराम  से खाना चाहिए जिससे भोजन तो पचता ही है साथ ही साथ आप जादा खाने की अपनी आदत से भी बच  जाते हो।

याद रखिये कि वेट कम करने के लिए आपको सब्र रखना होगा। छोटी-छोटी बातों पर ध्यान देकर आप इस काम को तेजी से कर पायेंगे। बैलेंस्ड डाइट खाने से हम आसानी से अपने फैट को कम कर सकते है। हमें आसा है की हमारे इस लेख “वेट लॉस डाइट इन हिंदी” से आपको अपना बैलेंस डाइट बनाने में काफी मदद मिलेगी।