रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी

0

गलत जीवन शैली के चलते वजन का बढ़ना आम बात है| वजन बढ़ने के पीछे का मुख्य कारण शरीर की चर्बी बढ़ना होता है| मोटापा एक बहुत बड़ी समस्या हैं। दुनिया में औसत रूप से आधे लोग मोटे है। यदि मोटापा होगा तो अन्य बीमारी होगी।  शुगर होगा कोलीस्ट्रोल बढ़ेगा हार्ट और बी. पी. की समस्या होगी कमर में दर्द होगा और घुटने जल्दी दर्द देंगे और जो मोटे लोग हैं उन्हें कैंसर भी हो सकता हैं ये सच हैं की बीड़ी तम्बाकू से कैंसर होता हैं पोल्युसन से भी कैंसर होता हैं और ज्यादा मीठा और नमक खाने से भी कैंसर होता हैं और यह भी सच है की मोटापा से कैंसर होता हैं। परंतु घबराने की कोई बात नहीं है क्योंकि हम अपने इस लेख “रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी” के द्वरा आपको स्वामी राम देव बाबा जी के बताये हुए कुछ ऐसे योग आसन बातएंगे जिसे आप नियमित रूप से कर के अपने अत्यधिक मोटापे को काम कर सकते है और अपना वेट लॉस कर सकते है ।

जानिए कैसे रामदेव बाबा योग आसन के द्वरा आप आसानी से वेट लॉस कर सकते है।

1. दौड़ लागए/जॉगिंग करे

दौड़ना सबसे अच्छा व्या‍याम है। ये वजन नियंत्रित रखता है। प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है। सर्दी-जुकाम से छुटकारा दिलाता है। फिट रहने के लिए अन्य व्यायाम की तुलना में दौड़ना सबसे अच्छा व्या‍याम है। दौड़ना बहुत ही सरल और जल्द फायदा पहुंचाने वाला व्यायाम है। दौड़ने के लिए किसी खास तकनीक की भी आवश्यकता नहीं होती।दौड़ने से डायबिटीज़, अर्थराइटिस और हृदय की बीमारियों का खतरा कम होता है।दौड़ने से शरीर में रक्ता संचार ठीक प्रकार से होता है। दौड़ने से शरीर की मेटाबॉलिज्म तेज होता है और प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। स्वस्थ शरीर के लिए प्रतिरोधी क्षमता का ठीक से काम करना बेहद आवश्य़क है। ध्यान रखें व्यायाम की शुरूवात में अधिक समय तक ना दौड़ें। धीरे-धीरे करके व्या‍याम का समय बढ़ायें।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि : स्वामी रामदेव बाबा जी के अनुसार प्रतिदिन ५ मिल दौड़ लगाना चाहिए। अगर आपके घर के आस पास कोई खाली जगह या मैदान है तो आप वहाँ दौड़े वरना आप १ जगह खड़े होकर अपने पैरो को हिलाकर भी यह आसन कर सकते है उस अवस्ता में आपको करीब २० मिनट तक यह करना होगा। और ध्यान रखिये जब भी आप दौड़े तब लंबी लंबी सांस ले और जरुरी है की नाक से सांस ले। जो आपके सरीर में ऑक्सीजन को बढ़ाता है। जिससे हमारे सरीर में मौजूद एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में मदद मिलती है।

2. त्रिकोणासन

त्रिकोणासन योग करते समय शरीर का आकार त्रिकोण के समान होने के कारण इसे त्रिकोणासन कहा जाता हैं। मोटापे से परेशान लोगो के लिए यह सबसे सरल और उपयोगी आसन हैं। त्रिकोणासन का नियमित अभ्यास करने से आपके पेट, कमर, जांघ और नितंब पर जमी अतिरिक्त चर्बी को आसानी से घटाया जा सकता हैं। इस आसन का नियमित अभ्यास आपकी कमर व पेट पर जमी चरबी को बहुत जल्दी कम कर देगा। अन्य आसनों से भिन्न त्रिकोणासन में शरीर को साम्यावस्था में बनाए रखने के लिए आँखों को खुला रखा जाता है|

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • त्रिकोणासन के अभ्यास के लिए पहले किसी समतल स्थान पर सीधे खड़े हो जाएं।
  • दोनों पैरों के बिच 2 से 3 फुट का फांसला छोड़कर सीधे खड़े हो जाएं।
  • दाएं पैर को दायीं ओर मोड़कर रखे।
  • अपने कंधो की ऊंचाई तक दोनों हाथों को बगल में फैलाए।
  • अब साँस ले और दांई ओर झुके। झुकते समय नजर सामने रखे।
  • दाएं हाथ से दाएं पैर को छूने की कोशिश करे।
  • बाएं हाथ को सीधा आकाश की ओर रखे और नजर बाएं हाथ की उंगलियों की ओर रखे।
  • शरीर उठाते समय सांसों को अन्दर ले और झुकते समय सांसों को छोड़े।
  • अब वापिस सीधी अवस्था में लौटकर दूसरी ओर भी हाथ बदलकर यही अभ्यास करे।
  • ऐसे कम से कम 50 बार करे।
  • इसी प्रकार लेफ्ट ओर भी इस प्रक्रिया को दोहराएं।

3. कोणासन

इस आसन को कोणासन इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब मनुष्य इस आसन की क्रिया का प्रयोग करते है तब उस मनुष्य के शरीर की आकृति एक कोण की तरह हो जाती है इसलिए इस आसन को कोणासन कहा जाता है। यह आसन से हमारे सरीर के दोनों साइड के एक्स्ट्रा फैट को बर्न करने में मदद मिलती है। रीढ़ की हड्डी को लचीला बनाता है| हाथ, पैर और धड़ के सभी भागों में सुदृढ़ता आती है ।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

 

विधि :

  • सीधे खड़े रहते हुए पैरों में कूल्हे के चौड़ाई जितनी दूरी बना ले और हाथों को शरीर के बाजू में रखें ।
  • साँस ले और अपने बाएं हाथ को इस तरह ऊपर उठाये की आपकी उंगलियाँ छत की दिशा में रहें ।
  • साँस छोड़ते हुए रीढ़ की हड्डी को झुकाते हुए अपनी दाहिनी ओर झुके, उसके बाद अपने श्रोणि को बाईं ओर ले जाएँ और थोड़ा और झुके । अपने बायें हाथ को ऊपर की ओर तना हुआ रखे।
  • बायीं हथेली से उपर देखने के लिए  अपने सिर को घुमाए । कोहनियों को सीधा रखें ।
  • साँस लेते हुए अपने शरीर को वापस सीधा करें ।
  • साँस छोड़ते हुए अपने बायें हाथ को नीचे लाए ।
  • ऐसे कम से कम 50 बार करे।

4. हस्तपादासन

योग की कई क्रियाओं में से एक है हस्तपादासन, इस योग आसन से आपको कई फायदे मिलते हैं। कमर का दर्द ठीक होता है। पूरे शरीर में खून का संचार ठीक तरह से होता है। बदन दर्द ठीक होता है। शरीर लचीला बनता है। पेट अंदर से मजबूत बनता है और पेट में मौजूद एक्स्ट्रा फैट भी बर्न हो जाता है।  स्वामी रामदेव बाबा जी के अनुसार सुरुवात में इसे १०-१२ बार ही करे उसके बाद धीरे धीरे इसे बढ़ाये। वरना पेट दर्द की समस्या हो सकती है।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • पैरों को एक साथ रखते हुए सीधे खड़े हो जाएँ और हाथों को शरीर के साथ रखें।
  • अपने शरीर के वजन को दोनो पैरों पर समान रूप से रखे।
  • साँस अंदर ले और हाथों को सिर के ऊपर ले जाएँ।
  • साँस छोड़ें, आगे और नीचे की ओर झुकते हुए पैरों की तरफ जाएँ।
  • इस अवस्था में २०-३० सेकेंड्स तक रुकें और गहरी साँसे लेते रहें।
  • अपने पैरों और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें, हाथों को पैर के पंजों के बगल में जमीन पर रखें या पैरों पर भी रख सकते हैं।
  • साँस बाहर छोड़ते हुए अपने छाती को घुटनों की तरफ ले जाएँ, नितम्बों को जितना हो सकता है उतना ऊपर उठाएँ, एड़ियों को नीचे की तरफ दबाएँ, इसी अवस्था में सिर को विश्राम दें और आराम से सिर को पंजों की तरफ ले जाएँ गहरी साँसे लेते रहें।
  • साँस को अन्दर लेते हुए अपने हाथों को आगे व ऊपर की तरफ उठाएँ और धीरे धीरे खड़े हो जाएँ।
  • साँस छोड़ते हुए अपने हाथों को शरीर के साथ ले आएँ।

5. चक्की चलनासन

इस आसन से वजन को जल्द ही कम किया जा सकता है। यह आसन पेट के आस-पास के हिस्सों में जमा चर्बी को दूर करने में काफी कारगर है। इस आसन में पेट पर जोर पड़ता है इसीलिए पेट में मौजूद अतिरिक्त चर्बी खत्म हो जाती है।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • इस आसन में आप जमीन पर आराम से बैठ जाएं।
  • इस दौरान अपने पैरों को सामने की ओर से फैलाएं।
  • दोनों पैर आपस में सटे रहें।
  • इसके बाद अपने दोनों हाथों को मिलाकर पकड़ लें और अब इन्हें घुटनों के ऊपर जैसे चक्की चलाते हैं वैसे ही क्लॉक वाइस तो कभी एंटी क्लॉक वाइस घुमाएं।

6. अर्ध हलासन

अर्ध हलासन मोटे तौर पर उत्‍तानपादासन के जैसा ही है। उत्‍तानपादासन में पैर जमीन से करीब एक से डेढ़ फुट ऊपर होते हैं मगर इसमें पैर नब्‍बे डिग्री तक सीधे हो जाते हैं। यह आसन औरों के मुकाबले आसान है । यह खाना पचाने की ताकत को बढ़ाता है और मोटापे से लड़ने में मदद करता है। इस आसन के नियमित अभ्‍यास से रीढ़ की हड्डी और भीतर की मसल्‍स ताकतवर बनती हैं। पैरों का सो जाना और उनका झनझनाना कम हो जाता है।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। हथेलियां जमीन की ओर रहेंगी और जांधों के बगल में रहेंगी। ध्‍यान रखें उन्‍हें पैरों के नीचे न दबाएं।
  • पैरों को आपस में मिला लें और धीरे धीरे उठाते हुए नब्‍बे डिग्री तक ले आएं।
  • सांस की गति सामान्‍य रखें और इसी तरह से तीन मिनट तक ठहरने का अभ्‍यास करें।
  • हाथों से ताकत न लें कमर और पेट की ताकत का इस्‍तेमाल करें। ध्‍यान रहे सांस की गति सामान्‍य होनी चाहिए।

7. पादवृतासन आसन

इस आसन में आपको अपने पैरों से चक्र बनाना है। आप पहले कलॉकइसे फिर एंटीक्लोकवइसे सर्किल बनाते है।यह अतिरिक्त चर्बी को कम करने में मदद करता है। यह जांघ, कूल्हों और कमर के अतिरिक्त फैट को  कम कर देता है। यह पेट बहुत हल्का और गोल आकार का बना देता है।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • पीठ के बल जमीन पर लेट जाएं। हथेलियां जमीन की ओर रहेंगी और जांधों के बगल में रहेंगी। ध्‍यान रखें उन्‍हें पैरों के नीचे न दबाएं।
  • लंबी साँस अंदर लेते हुए राईट लेग ऊपर उठाये और घडी की सुई की दिस में हवे में सर्किल बनाये।
  • बिना फर्श को स्पर्स किये १ बार में कम से कम ४-५ सर्किल बनाये और ध्यान रहे इस पूरी क्रिया में आप सांसे लंबी लंबी ले।
  • दाएं पैर के साथ ऐसा करने के बाद बाएं पैर से भी सेम ही दोहराये परंतु सर्किल घडी की विपरीत दिस में बनाये।
  • दोनों पैरों से इसे अलग अलग करने के बाद, यह दोनों पैरो से एक साथ करें।
  • अपने दोनों पैरों को ऊपर और नीचे घुमाएं, सभी चार दिशाओं में उतनी ही जितनी आप कर सकते हैं। आप के दोनों पैरो को १ साथ घडी के दिसा में और विपरीत दिसा में घुमाये।

8. द्विचक्रिकासन

साइकिल चलाना सभी जानते हैं। साइकिल चलाने से हमें स्वास्थ्य लाभ भी प्राप्त होते हैं। इसी वजह से सभी जिम सेंटर्स में साइकिलिंग सुविधा रहती है। योगशास्त्र में भी एक आसन ऐसा है जिससे साइकिल से मिलने वाले सभी स्वास्थ्य लाभ प्राप्त हो जाते हैं। योग में इस आसन को द्विचक्रिकासन कहते हैं। मोटापा घटने के लिए यह सर्वोत्तम अभ्यास है। यदि नियमित ५-१० मिनिट तक इसका अभ्यास करने से बढे हुए भार कम कर देता है। पेट को सुडोल बनता है। कब्ज, अम्लपित्त की निवृति करता है। कमर दर्द हो तो इस आसन को एक-एक पैर से ही करने पर कमर दर्द में लाभ मिलता है।

रामदेव बाबा योग आसन
रामदेव बाबा योग आसन

विधि :

  • पीठ के बल लेट कर हाथों के पंजे नितम्ब के निचे रखे, श्वास रोककर एक पैर को पूरा ऊपर उठाकर घुटने से मोड़कर एड़ी नितम्ब के पास होकर गोलाकार(साइकल चलाने की तरह)घुमाते रहें। इसी तरह इस आसान को १० से बढाकर यथा शक्ति करे।
  • इसी प्रकार दूसरे पैर से इस क्रिया को करें। पैरों को जमीन में टिकाये घुमाते रहें। गोलाकार आकृति बनायें। इसी तरह इस आसान को १० से बढाकर यथा शक्ति करे। थक जाने पर विश्राम करें।
  • इसी अभ्यास को अगली स्थिति में दोनों पैरों को निरंतर साइकिल की तरह चलायें। श्वास भरकर एक पैर घुटने से मोड़कर सीने की तरफ, दूसरा सीधा फैलायें, भूमि के निकट तक लम्बा फैलाये। श्वास भर इस प्रकार पैर चलायें जैसे साईकिल पर बैठकर चलाते है। फिर विपरीत दिशा में इसी प्रकार दोनों पैरों को निरंतर एक साथ साईकिल की तरह चलायें। इसी तरह ५-१० या यथाशक्ति करें।

9. पश्चिमोत्तनासन

योग की भाषा में पश्चिम शब्द से तात्पर्य शरीर के पिछले भाग अर्थात कमर से हैं । इस आसन को करते समय हमारी कमर में आगे की तरफ खिंचाव होता है  इसीलिए इसे पश्चिम उत्तानासन कहते हैं। इस आसन को करते समय शरीर की सभी माँसपेशियों को खिंचना पड़ता है। पश्चिम उत्तानासन को आपको अपने रोजाना करने वाले योगो में जरूर शामिल करना चाहिए । इस आसन की क्रिया को करने से शरीर के सभी हिस्सों से चर्बी कम हो जाती हैं मोटापा दूर हो जाता है तथा मधुमेह के रोग में भी लाभकारी है।  इस आसन से आपके पूरे शरीर में खून सुचारू रूप से बहता हैं। जिससे शरीर की कमजोरी दूर होकर शरीर में गज़ब का उत्साह और उमंग भर जाती है।

Paschimottanasana-Steps

विधि :

  • इस आसन को करते समय सबसे पहले एक समतल सतह पर सीधे लेट जाएं और दोनों पैरों को आपस में परस्पर मिलाकर रखें तथा अपने शरीर को सीधा रखें।
  • दोनों हाथों को सिर के पीछे की तरफ सीधे ले जाए। अब दोनों हाथों को जमीन से ऊपर की ओर उठाते हुए तेजी से कमर के ऊपर के हिस्से को भी जमीन से उठा लें। इसके बाद दोनों हाथों को धीरे-धीरे अपने पैरों की तरफ लाते हुए दोनों पैरों के अंगूठों को पकड़ने की कोशिश करें। ऐसा करते समय अपने पैरों और हाथों को एकदम सीधा रखें।
  • कुछ लोगो को मोटापे की वजह से जमीन से एकदम उठने में तकलीफ होती हैं तो ऐसे लोग इस आसन को जमीन पर बैठ कर भी अंगूठों को छूने का प्रयास कर सकते हैं इस प्रकार यह क्रिया एक बार पूरी होने के बाद तीस सैकेंड के लिए आराम से बैठें रहे और दोबारा इस क्रिया को दोहराएं इस तरह यह आसन तीन बार ही करें। इस आसन को करते समय सांस को सामान्य रूप से लेते और छोड़ते रहें|

ये तो थे पूज्य श्री रामदेव बाबा योग आसन जिससे आप मोटापा काम कर सकते है या अपना वजन घटा सकते है। परंतु इनका पूरी तरह फायदा आपको तभी मिल पायेगा जब आप इनके साथ बाबा जी द्वरा बातये प्राणायाम जैसे भस्त्रिका आसान, अनुलोम विलोम और कपाल भारती करेंगे। हमें आसा है की हमारे इस लेख “रामदेव बाबा योग आसन फोर वेट लॉस इन हिंदी” द्वारा बातये हुए आसान को कर के आप अपना वजन जरूर घटा पाएंगे।

loading...

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.