अगर आप ब्लॉग्गिंग करना चाहते हैं तो आपने बिलकुल सही फैसला किया है.

लेकिन रुकिए पहले खुद से ये पूछ लीजिये की आप आखिर ब्लॉग्गिंग करना क्यों चाहते हैं ?

अगर आप ब्लॉग्गिंग सिर्फ और सिर्फ पैसे कमाने के लिए करना चाहते हैं तो जरूर आप फ़ैल होने वाले हैं ?

पर क्यों ?

क्योंकि ब्लॉग्गिंग में patience मतलब धीरज रखने की बहोत ही ज्यादा जरुरत होती है पर जब हम ब्लॉग्गिंग सिर्फ पैसे कमाने के लिए करते हैं और कुछ महीने काम करने के बाद भी हमें कुछ भी कमाई नहीं होती है तो हम अपना धीरज खो देते हैं और काम करना छोड़ देते हैं.

और यही आपकी सबसे बड़ी गलती होती है की आप सफल होने के समय काम करना बंद कर देते हैं।

यकीन हो न हो पर मेरे साथ ऐसा बहोत बार हो चूका है इसलिए सलाह दे रहा हूँ सिर्फ पैसे कमाने के लिए ब्लॉग्गिंग ना करें बल्कि इसे तभी करें जब आप इसमें सचमें इंटरेस्टेड हों.

आगे बढ़ने से पहले ब्लॉग्गिंग से जुड़े कुछ सवाल हैं जो हम सभी के मन में होती हैं आइये पहले उनके बारे में जानते हैं –

1 .क्या ब्लॉग्गिंग बहोत मुश्किल काम है?

वैसे है तो बहोत ही मुश्किल पर अगर आप ईमानदारी से काम करते हैं तो आपके लिए ये बहोत ही आसान हो सकता है. ब्लॉग्गिंग मेहनत, बुद्धि और पेशेंस मांगता है. तो अगर आप इन तीनो को ध्यान में रखकर ब्लॉग्गिंग करते हैं तो आपके लिए ये आसान हो जायेगी।

2 . ब्लॉग्गिंग से कितना कमाया जा सकता है?

वैसे तो इसकी कोई लिमिट नहीं है पर अगर आप एक साल भी इस पर अच्छे से काम करते हैं तो महीने के कम से कम 10,000 से 50,000 तो कमाना शुरू कर ही सकते हैं. अब ये आपके ऊपर है की आप इसे कितना आगे लेके जा सकते हैं. आगे आप करोड़ों भी कमा सकते हैं इसका एक उदहारण आप निचे तश्वीर में देख ही सकते हैं.

प्रीतम नागराले एक इंडियन ब्लॉगर और डिजिटल मार्केटर

2 . क्या ब्लॉग्गिंग बिना इन्वेस्टमेंट के किया जा सकता है?

हाँ. आप ब्लॉग्गिंग फ्री में भी कर सकते हैं और इन्वेस्ट करके भी कर सकते हैं. अब आप सोच रहे होंगे की जब फ्री में हो जाती है तो इसमें इन्वेस्टमेंट क्यों करें?

जिस तरह से फ्री के चीजों का कोई क़द्र नहीं करता उसी तरह फ्री के ब्लॉग का भी है. आप फ्री में ब्लॉग्गिंग कर तो सकते हैं पर इसमें आपको बहोत सी परेशानियों का भी सामना करना पड़ता है और ये भी हो सकता है की आप इससे एक भी रुपया न कमा पाओ क्योंकि फ्री के ब्लॉग को रैंक करना भी मुश्किल होता है.

और सबसे अहम् बात आप खुद इस पर ज्यादा दिन काम नहीं करोगे क्योंकि ये फ्री है तो आप काम करो न करो आपको कोई फर्क नहीं पड़ेगा पर अगर आप इन्वेस्टमेंट करते हो तो आपको डर रहेगा की कहीं आपका पैसा डूब न जाए इसलिए आप उसमें काम करते हो।

और भी बहोत सी बातें हैं जिनके कारन आपको फ्री वाला ब्लॉग नहीं बनाना चाहिए पर मैं इस आर्टिकल में सब नहीं बता पाउँगा क्योंकि इसमें हम ब्लॉग शुरू कैसे करना है ये सीखने वाले हैं.

कहीं आप भी तो भूल नहीं गए थे?

तो आइये step by step जानते हैं की ब्लॉग कैसे शुरू की जाती है?


Step 1 – प्रोफिटेबल niche सेलेक्ट करें.

ज्यादातर लोग ब्लॉग्गिंग में इसीलिए फ़ैल हो जाते हैं क्योंकि वे शुरुआत में niche ही गलत सेलेक्ट कर लेते हैं. हम ज्यादा पैसे कमाने के चक्कर में YouTube पर विडियो देख कर या किसी ब्लॉग पर पढ़ कर ऐसे niche को सेलेक्ट कर लेते हैं जिसमें हमारा इंटरेस्ट बिलकुल नहीं रहता. एक दो महीने काम करने के बाद हमें पता चलता है की न ही हमारे ब्लॉग पर ट्राफिक आ रही है और न ही कोई कमाई हो रही है और हम काम करना बंद कर देते हैं.

इसलिए ब्लॉग्गिंग में  एक अच्छा niche सेलेक्ट करना सबसे जरुरी है.

अब बात आती है की आखिर niche सिलेक्शन कैसे करें?

मैं कहूँगा की आपको एक ऐसा niche सेलेक्ट करना चाहिए जिसमें आप पैशनेट हों, जिसमें आपका इंटरेस्ट हो, जिस पर आप घंटों तक बिना बोर हुए काम कर सकें.

लेकिन इतना काफी नहीं है कोई भी niche सेलेक्ट करने से पहले इन बातों का ध्यान जरुर रखें –

1. क्या लोग उस niche में पैसा खर्च करना पसंद करते हैं?

अगर आपके niche में लोग पैसा खर्च करना पसंद करते हैं मतलब आपके niche से जुड़े कोई प्रोडक्ट या सर्विस हो जिसे लोग खरीद सके तो इसमें आपकी कमाई डबल हो सकती है. आप लोगों को अपने ब्लॉग के जरिये उस प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में बता सकते हैं और एफिलिएट मार्केटिंग के जरिये पैसे कम सकते हैं.

इसलिए niche सेलेक्ट करने से पहले ये भी जरुर देखना चाहिए की क्या आपके niche में ऐसे कोई प्रोडक्ट या सर्विस हैं.

2. ट्रैफिक और कम्पीटीशन कितना है?

किसी भी niche को सेलेक्ट करने से पहले आपको उस niche का कम्पटीशन और ट्रैफिक भी जरूर देखना चाहिए। अगर आप सिर्फ एडसेन्स से पैसे कामना चाहते हैं तो आपको कोई ऐसा niche सेलेक्ट करना होगा जिसमें ट्रैफिक ज्यादा हो लेकिन कम्पटीशन काम हो ताकि आसानी से रैंक किया जा सके.

अगर आप एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कामना चाहते हैं तो आप ऐसे niche को भी सेलेक्ट कर सकते हैं जिसमें ट्रैफिक और कम्पटीशन दोनों कम हो क्योंकि एफिलिएट मार्केटिंग से आप कम ट्रैफिक में भी ज्यादा पैसे कमा सकते हैं.

3. Micro niche का चुनाव करें।

माइक्रो niche को एक उदहारण से समझते हैं-

मानलो आपने “इंडिया न्यूज़” नाम की एक ब्लॉग बनाई तो अब ये ब्लॉग एक बड़ी niche वाली ब्लॉग हुई. वही अगर आप माइक्रो niche बनाना चाहते हैं तो आपको या तो “मध्य प्रदेश न्यूज़” नाम की ब्लॉग बनानी चाहिए या फिर इससे भी छोटा “भोपाल” न्यूज़ नाम की ब्लॉग बनानी चाहिए। तो यहाँ “भोपाल न्यूज़” आपकी माइक्रो niche ब्लॉग होगी।

अगर आप इस तरह से एक माइक्रो niche ब्लॉग बनाते हैं तो आप गूगल में आसानी से रैंक कर सकते हैं।

मेरे ख्याल से अब आपको समझ आ गया होगा की आपको niche कैसे सेलेक्ट करनी है पर एक बात का ध्यान रखना की क्या आपका इंटरेस्ट उस niche में है? क्या आप उस niche में बिना पैसे कमाए महीनो काम कर सकते हैं?

अगर आपको जवाब हाँ में मिलता है तो आप उस niche पर काम कर सकते हैं.


Step 2 – Domain Name सेलेक्ट करें

Domain Name आपके ब्लॉग की पहचान होती है. अगर आपने Domain Name गलत सेलेक्ट कर लिया तो हो सकता है आपको आगे पछताना पड़े. एक बार डोमेन name सलेक्ट करने के बाद अगर आप उसे बदलते हैं तो आपके ब्लॉग पर अच्छा खासा असर पड़ता है.

कोई भी डोमेन name से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखें –

1. डोमेन Name niche से रिलेटेड खरीदें।

आप जिस भी niche पर ब्लॉग बनाना चाहते हैं उस पर अच्छे से रिसर्च कर लें और कोशिस करें की जो भी डोमेन name लेने वाले हो वह आपके niche से रिलेटेड हो इससे पढ़ने वाले के साथ साथ गूगल को भी आपके ब्लॉग को समझने में आसानी होती है की आपका ब्लॉग या वेबसाइट किससे रिलेटेड है. उदहारण के लिए fact से जुड़े ब्लॉग का एक डोमेन name factszone.com हो सकता है.

2. टॉप लेवल डोमेन ही खरीदें।

TLD मतलब टॉप लेवल डोमेन ये वे डोमेन हैं जिनको लोग आसानी से याद कर लेते हैं और गूगल की नज़र में भी ये डोमेन name अच्छे माने जाते हैं. इसमें .com, .in जैसे डोमेन आते हैं. इसलिए आप जब भी कोई डोमेन name खरीदते हैं तो यह जरूर देखें की आप किस टॉपिक पर ब्लॉग बना रहे हैं और उसी के अनुसार डोमेन का चुनाव करें।

3. अपनी ऑडियंस और उसकी भाषा के अनुसार डोमेन का चुनाव करें।

अगर आप बहार के देशों से अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक लेकर आना चाहते हैं तो आपको डॉट com या उस देश का डोमेन खरीदना चाहिए।

अगर आप इंग्लिश में ब्लॉग्गिंग करना चाहते हैं तो आपको डॉट com डोमेन ही खरीदना चाहिए इससे आपके ब्लॉग पर अपने देश के साथ साथ बहार के देशों से भी ट्रैफिक आएगी। लेकिन अगर आप चाहते हैं की आपके ब्लॉग पर सिर्फ इंडिया से ही ट्रैफिक आये तो आपको डॉट in डोमेन का चुनाव करना चाहिए।

अगर आप हिंदी में ब्लॉग्गिंग करना चाहते हैं तब भी आपको डॉट in डोमेन का ही चुनाव करना चाहिए इससे आपके ब्लॉग पर सिर्फ इंडिया से ट्रैफिक आएगी मतलब सिर्फ वही लोग आएंगे जो हिंदी समझते हैं.

अगर आपका ब्लॉग हिंदी में है और आपने डॉट com डोमेन खरीद लिया है तो उस पर हो सकता है बाहर से भी ट्रैफिक आने लगे जो आपके किसी काम के नहीं होंगे और वे लोग आपके ब्लॉग पर स्पैमिंग भी करते हैं. इसलिए हिंदी ब्लॉग बना रहे हैं तो डॉट in डोमेन खरीदना ज्यादा अच्छा है.

4. डोमेन name कहाँ से खरीदना चाहिए?

वैसे तो अगर आप प्रीमियम होस्टिंग खरीदते हैं तो बहोत से जगहों पर आपको फ्री में डोमेन name मिल जाती हैं. (होस्टिंग क्या है ये आगे बताया गया है). अगर आप सस्ते में डोमेन name खरीदना चाहते हैं तो आप Go Daddy से खरीद सकते हैं. यहाँ आपको काफी सस्ते में एक साल के लिए डोमेन name मिल जाती है. और यहाँ डोमेन name को मैनेज करना भी आसान है.



Step 3 – होस्टिंग सेटअप करें

होस्टिंग एक प्रकार का स्पेस होती है जहाँ आपकी वेबसाइट या ब्लॉग की सभी डाटा स्टोर रहती है. आप जो भी अपनी ब्लॉग में डालते वो सभी फाइल चाहे वीडियो हो ऑडियो हो या कोई थीम प्लगिन्स जो भी हो सभी आपके होस्टिंग में स्टोर होती हैं.

आपको बहोत से फ्री होस्टिंग भी मिल जाएंगे अगर आप सिर्फ सीखना चाहते हैं तो उनका इस्तेमाल कर सकते हैं लेकिन अगर आप सचमें ब्लॉग्गिंग करना चाहते हैं इसे ही अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको होस्टिंग खरीदनी ही पड़ेगी।

अलग अलग होस्टिंग प्रोवाइडर्स अलग अलग दामों में होस्टिंग बेचते हैं आपको उनमें से एक अच्छी होस्टिंग प्रोवाइडर से होस्टिंग खरीदनी होती है.

अगर आप बिगिनर हैं और अभी सिर्फ शुरुआत कर रहे हैं तो आप Hostinger से खरीद सकते हैं. Hostinger सस्ते में काफी अच्छी होस्टिंग प्रोवाइड करता है. शुरुआत के लिए ये बेस्ट होस्टिंग मानी जाती है. मैं भी अभी इसी की होस्टिंग इस्तेमाल कर रहा हूँ.

अगर आपके पास पैसे हैं तो आप Blue Host से होस्टिंग खरीदें ये WordPress द्वारा recommend की जाने वाली होस्टिंग है. इसकी सर्विस बेस्ट मानी जाती है.

चूँकि हम ब्लॉग्गिंग शुरू करना सिख रहे हैं इसलिए हम Hostinger में होस्टिंग सेटअप करना सीखेंगे क्योंकि शुरुआत में ज्यादातर लोगों के पास इतने पैसे नहीं होते की वे ज्यादा इन्वेस्ट कर सके. इसलिए हम कम से कम इन्वेस्टमेंट में बेस्ट करेने की कोशिश करेंगे।

1. Hostinger से होस्टिंग कैसे खरीदें ?

Hostinger से होस्टिंग खरीदने आपको hostinger.in पर जाना है और थोड़ा सा स्क्रॉल डाउन करके तीनो में से एक प्लान को सेलेक्ट करना है.

आपको मोस्ट पॉपुलर premium hosting प्लान सेलेक्ट करना है. इसमें आपको जरुरत की सभी सुविधाएं मिल जाती हैं. इस प्लान में आप 100 वेबसाइट बना सकते हैं और सबसे अच्छी बात आपको फ्री में डोमेन name और SSL सर्टिफिकेट भी मिल जाती है.

अब आप होस्टिंग कितने साल के लिए लेना चाहते हैं सेल्क्ट करें। निचे बॉक्स में आप जो भी डोमेन name लेना चाहते हैं, उसे डालें फिर checkout के बटन पर क्लिक करें।

अब आपको sign up करने को कहा जाएगा। अगर आपके पास पहले से अकाउंट है तो sign in कर सकते हैं या आप अपना अकाउंट भी बना सकते हैं.

अब आपको पेमेंट मेथड सेलेक्ट करना है आप जैसे भी पेमेंट करना चाहते हैं सेलेक्ट करें।

अब आपके सामने नया पेज खुलेगा। यहाँ पर आपको सभी इनफार्मेशन बिलकुल सही सही भरनी है और फिर continue with payment पर क्लिक करनी है.

अब पेमेंट के लिए नया tab खुलेगा पेमेंट करने के बाद आपको hotinger.in के होम पेज पर आ जाना है.

अब आपको setup पर क्लिक करना है.

2. Hostinger premium hosting setup

setup पर क्लिक करने के बाद नया पेज खुलेगा start now पर क्लिक करना है. अगर आपने पहले डोमेन name सेलेक्ट नहीं किया है तो claim a free domain पर क्लिक करना है.

आपको अपना डोमेन name सेलेक्ट कर लेना है. इसके बाद निचे start from scratch पर क्लिक करनी है.

अब आपको अपने वेबसाइट की लोकेशन सेलेक्ट करनी है. अगर आपकी वेबसाइट इंडिया में है तो आपको सिंगापुर एशिया को सेलेक्ट कर लेना है फिर फिनिश setup पर क्लिक करना है.

सब कुछ हो जाने के बाद आपके सामने दो ऑप्शन दिखाई देंगे। आपको manage site पर क्लिक करनी है.

3. Hostinger me word press install kaise karein

अब आपके सामने जो पेज खुलेगा उसे स्क्रॉल डाउन करना है और auto installer पर क्लिक करना है.

इस पेज से आपको wordpress select करना है. अब आपके सामने एक पॉपअप खुलेगा। यहाँ आपको username, पासवर्ड, email और अपनी वेबसाइट का नाम डालना है.

यहाँ आप जो username और पासवर्ड डालेंगे यही यूजरनाम और पासवर्ड wordpress में लॉगिन करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

install पर क्लिक करें। थोड़ी देर वेट करें फिर इन्टॉल हो जाने के बाद पेज को रिफ्रेश करें।
अब आपको इन्सटाल्ड वर्डप्रेस दिखाई देगा। आगे काले रंग के बने वर्डप्रेस के आइकॉन पर क्लिक करें।

अब एक डैशबोर्ड ओपन होगा। यहाँ आपको वर्डप्रेस में जाने के लिए edit वेबसाइट के आइकॉन पर क्लिक करना है. अब वर्डप्रेस का डैशबोर्ड ओपन होगा जहाँ से आप अपनी वेबसाइट को customize कर सकते हैं.


Step 4 – एक अच्छा theme सेलेक्ट करें

वर्डप्रेस इन्टॉल होने के बाद सबसे पहले आपको एक अच्छा सा theme सेलेक्ट करना है जो लोगों को पसंद भी आये और जो काफी लाइटवेट भी हो. थीम सेलेक्ट करते समय आपको इन बातों का ध्यान रखना है –

  • थीम लाइटवेट होना चाहिए
  • थीम की लोडिंग स्पीड अच्छी होनी चाहिए
  • नेविगेशन में आसान होना चाहिए।

मैं आपको generate press थीम रेकमेंड करूँगा। ये काफी पॉपुलर थीम है जो दिखने में सिंपल और customization में भी आसान है.

Generate press थीम फ्री में भी अवेलेबल है और इसका पेड वर्शन भी अवेलेबल है. अगर आपके पास पैसे हैं तो आप इसे खरीद सकते हैं. एक बार खरीदने के बाद बाद आप इस थीम को 500 वेबसाइट में इस्तेमाल कर सकते हैं. और सबसे अच्छी बात आपको मनी बैक गारंटी भी मिलती है.

अगर आपको 30 दिनों के अंदर थीम पसंद नहीं आती है तो आप अपने पैसे वापस ले सकते हैं.

वर्डप्रेस में थीम इनस्टॉल कैसे करें ?

वर्डप्रेस में थीम इनस्टॉल करने के लिए लेफ्ट साइड में आपको appearance वाले ऑप्शन पर जाने है और वहां से theme को सेलेक्ट करना है.

थीम्स में आने के बाद आपको add new पर क्लिक करना है.

यहाँ से आप कोई भी थीम को इनस्टॉल कर सकते हैं. लेकिन अगर अपने generate press theme को परचेस किया है तो आपको upload के ऑप्शन पर क्लिक करनी है और zip फाइल को अपलोड करनी है.

थीम सेलेक्ट करने के बाद install now के बटन पर क्लिक करनी है. इनस्टॉल होने में थोड़ा टाइम लगेगा।

थीम इनस्टॉल होने के बाद थीम को एक्टिवेट कर लेना है.

अब आपके ब्लॉग में थीम इनस्टॉल हो चुकी है. Generate press थीम की फुल फीचर को एक्टिवेट करने के लिए आपको इसका plugin भी अपलोड करना होगा। अगर आपने थीम परचेस किया है तो आपको इसके साथ plugin का भी zip फाइल मिला होगा।

वर्डप्रेस में प्लगइन इनस्टॉल करें

वर्डप्रेस में प्लगइन इनस्टॉल करने के लिए प्लगइन वाले सेक्शन में क्लिक करें। इसके बाद add new के बटन पर क्लिक करें।

इसके बाद upload का बटन दिखाई देगा इस पर क्लिक करें। अब Generatepress प्रीमियम प्लगइन के zip फाइल को अपलोड करें और install now के बटन पर क्लिक करें।प्लगइन इनस्टॉल होने के बाद आपको इसे एक्टिवेट कर लेना है.

अब आपको प्लगइन के सेटिंग में जाना है और फिर एक्टिवेशन key डालनी है. अब आप generatepress थीम के सभी फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं.


Step 5 – आपके ब्लॉग के लिए कुछ जरूरी प्लगिन्स

सभी ब्लॉगर के लिए कुछ ऐसे प्लगिन्स हैं जो बहोत ही जरूरी हैं. मैं आपको कुछ इम्पोर्टेन्ट प्लगिन्स के बारे में बता रहा हूँ जो आपको अपने ब्लॉग पर जरूर इन्टॉल करनी चाहिए।

1. WP rocket

ये caching प्लगइन है. इस प्लगइन की मदत से आपके ब्लॉग की स्पीड बढ़ती है. जब कोई आपके ब्लॉग पर आता है तो यह प्लगइन उसके डिवाइस में कैश स्टोर कर देता है जिससे जब वह दोबारा आपके वेबसाइट पर आता है तो आपके वेबसाइट को लोड होने में टाइम नहीं लगता

2. Akismet anti-spam

कई बार लोग आपके ब्लॉग में spam कमेंट करते हैं ऐसे में उन्हें बार बार देलेट करना मुश्किल हो जाता है. यह प्लुगि आपके ब्लॉग में स्पैम कमैंट्स को फ़िल्टर करने का काम करता है.

3. Contact form 7

सभी ब्लॉगर को अपने ब्लॉग पर contact us पेज जरूर बनाना चाहिए। इस प्लगइन की मदद से आप आसानी से contact us पेज बना सकते है.

4. Social snap

इस प्लगइन की मदद से आप आसानी से अपने ब्लॉग के पोस्ट को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर शेयर कर सकते हैं.

5. Yoast SEO

अपने ब्लॉग की SEO करने के लिए आपको इस प्लगइन की जरुरत पड़ेगी लेकिन इसका मतलब ये नहीं है की अगर आपके ब्लॉग SEO प्लगइन नहीं है तो वो रैंक नहीं करेगी बिना प्लगइन के भी आप रैंक कर सकते हैं. इस प्लगइन के मदत से आप अपने ब्लॉग की SEO सेटिंग अपने तरीके से कर सकते हैं


Step 6 – वर्डप्रेस में पोस्ट कैसे लिखें ?

अपने ब्लॉग की customization करने के बाद आपको पोस्ट लिखना शुरू करना है. वर्डप्रेस में पोस्ट लिखने के लिए post वाले ऑप्शन में जाकर add new पर जाना है. अब यहाँ से आपको पोस्ट लिखना शुरू करना है.

सबसे ऊपर आपको add title वाला हिस्सा दिखेगा यहाँ आपको अपने आर्टिकल की मेन टाइटल डालना है इसके बाद निचे से अपना आर्टिकल लिखना शुरू करना है.

किसी भी आर्टिकल को लिखते समय एक बात का ध्यान रखें की आपने उस टॉपिक के बारे में अच्छे से रीसर्च की है या नहीं। आप जिस भी टॉपिक पर लिखें आपको उसके बारे में अच्छे से पता होनी चाहिए क्योंकि जो कोई भी उस आर्टिकल को पढ़ेगा और अगर उसे आर्टिकल पसंद नहीं आया तो वो आपके ब्लॉग को छोड़कर भाग जायेगा।

इसलिए आप जो भी लिखें उसे एकबार खुद पढ़कर देखें और सोचें की क्या आपने अच्छे से लिखा है.

याद रहे की अपने आर्टिकल में कीवर्ड को ठूस ठूस कर न डालें। अगर आप जो लिख रहे हैं उसमें कीवर्ड आता है तो ठीक है अगर एक भी कीवर्ड नहीं है फिर भी कोई परेशानी नहीं है.

आर्टिकल पूरा लिख लेने के बाद publish बटन पर क्लिक करें या फिर अगर आप बाद में और एडिट करना चाहते हैं तो ड्राफ्ट में भी सेव करके रख सकते हैं.


Step 7 – अपने ब्लॉग में ट्रैफिक कहाँ से लाएं

अगर आप अच्छा आर्टिकल लिखा है जो पढ़ने वाले को पसंद आ रही है और अगर आपने थोड़ी बाहत SEO की है तो आपका पोस्ट जरूर रैंक करेगा। बस आपको थोड़ा सा धीरज रखना है और अपने काम ईमानदारी से करना है.

लेकिन अगर आप चाहते हैं की तुरंत आपके ब्लॉग में ट्रैफिक आने लगे तो मैं आपको कुछ प्लैटफॉर्म्स के बारे में बताने जा रहा हूँ जहाँ से आप तुरंत ट्रैफिक ला सकते हैं।

1. Facebook

फेसबुक तो आप जरूर चलते होंगे। आप जो भी आर्टिकल लिखते हैं उन्हें फेसबुक ग्रुप्स में शेयर जरूर करें और अपना खुद के ब्लॉग का भी फेसबुक पेज और ग्रुप बना लें. फेसबुक से आपको अच्छा खासा ट्रैफिक मिलने लगेगा।

2. Quara.com

ये एक प्रकार का सवाल जवाब वाला प्लेटफॉर्म है. यहाँ पर आप लोगों से सवाल कर भी सकते हैं और लोगों के सवाल का जवाब भी दे सकते हैं. सबसे अच्छी बात ये है की इसे आप हिंदी में भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

इस वेबसाइट पर आपको अपने आर्टिकल से जुड़े सवालों के जवाब देने है और बिच में आपको अपने वेबसाइट का लिंक देना है. लोगों को आपका जवाब पसंद आता है तो वे आपके ब्लॉग पर भी आएं. बस कोशिस करें की स्पैमिंग ना करें।

3. Pinterest

ये एक प्रकार की इमेज वेबसाइट है जहाँ आप इमेजेस शेयर कर सकते हैं. अपने आर्टिकल से जुड़े इमेजेस बनाएं और इस वेबसाइट पर शेयर करें साथ में अपने आर्टिकल की लिंक भी शेयर करें। जिनको जरुरत होगी वो आपके ब्लॉग पर जरूर आएंगे। इससे आप अच्छा खासा ट्रैफिक ले सकते हैं.

4. YouTube

लोग आजकल पढ़ने से ज्यादा वीडियो देखना पसंद करते हैं इसलिए आप भी अपने ब्लॉग से जुड़े वीडियो बनाएं और उन्हें यूट्यूब पर उपलोड करें। निचे डिस्क्रिप्शन में अपने ब्लॉग का लिंक शेयर करें। यूट्यूब पर अगर आपका चैनल चल जाता है तो आप अच्छा खासा ट्रैफिक ला सकते हैं.

और भी बहोत से प्लेटफॉर्म है जहाँ से आप ट्रैफिक ला सकते है जैसे इंटाग्राम, वाट्स अप्प, ये आपको देखना है की आप कितना टाइम दे सकते हैं.


Step 8 – ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के तरीके

ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के बहोत से तरीके हैं. जब आपका ब्लॉग अच्छे से तैयार हो जाए और जब आपके ब्लॉग पे थोड़ा बहोत ट्रैफिक आना शुरू हो जाए तो आप ब्लॉग्गिंग से पैस कमाना शुरू कर सकते हैं. तो आइये जानते हैं ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के कौन कौन से तरीके हैं –

1. Ad-sense

ये ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने का सबसे पॉपुलर तरीका है. हर ब्लॉगर सबसे पहले इसी से पैसे कमाने के बारे में सोचता है.

इसमें आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट को adsense के लिए अप्लाई करना होता है. जैसे ही adsense अप्रूवल मिल जाता आप अपने ब्लॉग पर advertisement लगाकर इससे पैसे कमाना शुरू कर सकते हैं.

2. Affiliate Marketing

ब्लॉग्गिंग से अगर आप अच्छा खासा पैसा कमाना चाहते हैं तो ये सबसे अच्छा तरीका है. इसमें आपको अपने ब्लॉग से रिलेटेड एफिलिएट प्रोग्राम ज्वाइन करना होता है उसके बाद उनके प्रोडक्ट को अपने ब्लॉग पर प्रमोट करना होता है. अगर कोई आपके दिया गए लिंक से जाकर उनका प्रोडक्ट खरीद लेता है तो तो आपको उसमें कमीशन मिलता है।

उदहारण – amazon affiliate, click bank आदि

3. Sponsor post

जब आपके ब्लॉग पर अच्छे ट्रैफिक आने लगते हैं तो आपको स्पांसर पोस्ट मिलने लगते हैं जिनमे आपको या तो खुद पोस्ट लिखर पोस्ट के बिच में उनका लिंक देना होता है या फिर वे पूरा पोस्ट लिखकर देते हैं जिन्हे आपको अपने ब्लॉग पर पोस्ट करने होते हैं. इसमें आप अपने ब्लॉग पर आ रहे ट्रैफिक को देखते हुए उन्हें पैसे ले सकते हैं.

4. Sponsor Ads

इसमें आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के एक जगह को किराए पर दे देते हैं. मतलब लोग आपको ad code देंगे या कोई इमेज देंगे जिनमें उनके प्रोडक्ट सर्विसेज के बारे में लिखा होगा साथ में आपको लिंक भी होगा जिन्हे अपने ब्लॉग पर किसी एक जगह पर लगाना होगा। इसके बदले में आप उन्हें मंथली फीस ले सकते हैं.

Conclusion

ब्लॉग्गिंग पैसे कमाने का कोई शॉर्टकट तरीका नहीं है, ज्यादातर लोग ब्लॉग्गिंग से पैसे कमाने के चक्कर में फ़ैल हो जाते हैं. अगर आप ब्लॉग्गिंग से सचमें पैसे कमाना चाहते हैं तो आपको लगातार काम करते रहना पड़ेगा।

ब्लॉग्गिंग में पेशेंस की सख्त जरुरत होती है और अगर आप पेशेंस नहीं रखते हैं और इसे बिच में ही छोड़ देते हैं तो आप ब्लॉग्गिंग में कभी भी सक्सेसफुल नहीं हो पाएंगे।

ब्लॉग्गिंग को भी आप बाकी काम की तरह देखिये, इसमें भी आपको उतनी मेहनत करनी पड़ेगी जितनी की आप पढाई में करते हैं या बिजनेस में.

अगर आप ब्लॉग्गिंग में सक्सेसफुल होना चाहते हैं तो ये बात याद रखिये की आपको इसमें काम करते रहना है, हर रोज कुछ नया सीखते रहना है, और इसे कभी भी छोड़ना नहीं है.

अगर छोड़ दिया तो ये आपकी सबसे बड़ी गलती होगी। इसमें कुछ लोग एक महीने में ही पैसे कमाना शुरू कर देते हैं तो कुछ लोगों को 5 साल भी लग जाते हैं.

आशा करता हूँ आपने मेरी बातें समझी होगी और समझ नहीं आयी तो मत करो ब्लॉग्गिंग क्योंकि ये कोई शॉर्टकट नहीं है.

धन्यवाद।


Narendra Sahu

I m from a little village of Chhattisgarh India. A blogger, youtuber and affliate marketer.

1 Comment

ब्लॉग्गिंग के लिए niche कैसे सेलेक्ट करें ? · March 19, 2021 at 1:49 pm

[…] How to start blogging in Hindi, step by step guide […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *